विश्व के इतिहास में एक से बढ़कर एक नायक हुए, किन्तु क्या आप किसी ऐसे नायक को जानते हैं, जिसे देवता माना गया?

हरक्यूलिस एक ऐसा ही नाम है!

कुछ लोगों की माने तो वह एक मिथक चरित्र भर है. वहीं अन्य धारणाओं की मानें तो हरक्यूलिस एक दैवीय शक्ति वाला नायक था, जिसे प्राचीन ग्रीस में एक देवता की तरह पूजा जाता था.

सच क्या है आईये जानने की कोशिश करते हैं–

देवता ज्यूस का नजायज पुत्र था ‘हरक्यूलिस’!

हरक्यूलिस के जीवन की कहानी मान्यताओं पर आधारित है. वह किस समय धरती पर आया, इसके कहीं मजबूत साक्ष्य नहीं मिलते.

हालांकि, आम धारणाओं की मानें तो वह प्राचीन ग्रीस में देवता की तरह पूजे जाने वाले ज़िउस की नाजायज संतान था. असल में हरक्यूलिस की मां ऐल्केमेन, टिरॉन्स के राजा एम्फीट्रियन की पत्नी थीं. इत्तेफाक से एक बार ज्यूस उनके राज्य से होकर गुजरा और उसकी नज़र ऐल्केमेन पर पड़ी.

चूंकि, वह बहुत आकर्षक थीं, इसलिए ज्यूस अपना दिल उन पर हार बैठा.

वह उन्हें किसी भी कीमत पर पाना चाहता था, किन्तु जब उसको पता चला कि वह शादीशुदा हैं, तो वह पागल सा हो गया. उसने उन्हें हासिल करने की दूसरी योजना बनाई. इसके तहत उसने अपनी शक्तियों का प्रयोग करते हुए उनके पति एम्फीट्रियन का रुप धारण कर लिया. ऐसा करने से वह आसानी से रानी तक पहुंचने में सफल रहा.

अपने पति के प्रति प्रेम का फायदा उठाते हुए उसने ऐल्केमेन के साथ संबंध बनाए और उन्हें गर्भवती कर दिया. उसी रात असली राजा एम्फीट्रियन भी रानी के पास आया और उन्होंने भी रानी के साथ संभोग किया. इस बात को सोचकर रानी हैरान थी कि राजा इतने कम समय में दो बार उसके करीब क्यों आए?

वहीं ज्यूस की पत्नी हेरा को अपने पति की इस धोखेबाजी बारे में पता चला, तो वह ऐलक्मेने की गोद से पैदा हुए हरक्यूलिस से घृणा करने लगी.

Greek God Hercules life Saga (Representative Pic: Greekboston)

हेरा ने छीना हरक्यूलिस का राजगद्दी का अधिकार

ज्यूस के बेटे हरक्यूलिस और राजा एम्फीट्रियन के बेटे इफीक्ल्स के जन्म से कुछ समय पहले ही हेरा ने ज्यूस से कसम ली कि पर्शियंस का अगला वंशज ही वहां का राजा बनेगा. ज्यूस सोच रहा था कि वह बच्चा हरेक्लेज़ यानि हरक्यूलिस ही होगा, इसलिए वह बिना किसी तर्क के सहमत हो गया.

मगर जाहिर था कि हेरा के शातिर दिमाग में पहले से ही कोई साजिश पनप चुकी थी!

उसने सोच लिया था कि वह हरक्यूलिस से उसके राजा बनने के जन्मसिद्ध अधिकार को छीन लेगी. इसके लिए हेरा ने प्रसव की देवी इल्थियिया की मदद ली. उसके कहने पर ऐलक्मेने ने हरक्यूलिस की मां की प्रसव प्रक्रिया को धीमा कर दिया और दूसरी ओर पर्शिया के दूसरे राजा स्थिलिन्यस की पत्नी की प्रसव प्रक्रिया को तेज कर दिया.

इस दौरान राजा एम्फीट्रियन के दोस्त गैलान्थिस ने इल्थियिया को बेवकूफ बनाकर उसका ध्यान बांटा. इसके चलते हरक्यूलिस और उसके भाई इफीक्ल्स का जन्म हुआ. चूंकि, हरक्यूलिस का जन्म पहले हुआ था, इस लिहाज से सही मायने में वह पर्शियंस की राजगद्दी का असली हकदार था.

किन्तु, हेरा को यह स्वीकार नहीं था. एक नई चाल चलते हुए वह स्थिलिन्यस के बेटे यूरीस्टियस को राजगद्दी दिलाने में सफल रही. यही नहीं वह हरक्यूलिस के पिता को भी अपने पाले में करने में सफल रही. उसके प्रभाव के कारण उन्होंने अपने बेटे हरक्यूलिस को त्याग दिया.

इस वजह से था हरक्यूलिस ‘महाशक्तिशाली’

इस बात की जानकारी जब ज्यूस की बेटी एथिना को लगी तो वह हरक्यूलिस की मदद के लिए आगे आई. वह बड़ी चलाकी से हरक्यूलिस को उठाकर हेरा के पास ही ले गई और हेरा से बच्चे को स्तनपान करवाने के लिए कहने लगी. इस बात से अनजान कि यह बच्चा हरक्यूलिस है, हेरा ने उसे स्तनपान करवाया.

कहते हैं कि हरक्यूलिस की असीमित ताकत हेरा के दूध के कारण ही थी.

स्तनपान के बाद एथिना उसे वापिस उसकी मां ऐलक्मेने के पास ले गई. इसके बाद ऐलक्मेने ने बिना राजा को पता लगे हरक्यूलिस की परवरिश की. बाद में हेरा को इसकी जानकारी हुई तो उसने हरक्यूलिस को मारने के लिए अलग-अलग चाले चलीं. खतरनाक जीव तक उसे मारने के लिए भेजा, लेकिन हर बार उसे मुंह की खानी पड़ी.

धीरे-धीरे समय बीतता गया और हरक्यूलिस बच्चे से व्यस्क हो गया. वह टिरॉन्स के एक गांव में रहने लगा. हेरा द्वारा भेजे जाने वाले राक्षसों को एक के बाद एक मार कर हरक्यूलिस काफी मशहूर हो गया. इसी बीच उसने थीबेस के राजा करेओ की बेटी मेगारा से शादी कर ली, जिससे उसे 5 बच्चे हुए.

Hercules (Representative Pic: Ronfaure)

जब अपनी ही पत्नी और बच्चों की हत्या की ‘हरक्यूलिस’ ने…

हरक्यूलिस अपने परिवार में बहुत खुश था, मगर हेरा से हरक्यूलिस की खुशी बर्दाश्त नही हुई और उसने अपने जादू से हरक्यूलिस को पागल बना दिया. इसके चलते हरक्यूलिस ने अपनी ही पत्नी और बच्चों की हत्या कर दी.

कुछ समय बाद जब हरक्यूलिस को इस बात का इल्म हुआ कि उसने अपनी पत्नी और बच्चों की हत्या करके बहुत बड़ा पाप किया है, तो वह इसके पाश्चताप कि लिए यहां-वहां घूमने लगा. इसी दौरान उसे किसी ने सलाह दी कि उसे अपना ध्यान किसी और काम में लगाना चाहिए.

चूंकि, वह अपराध की ग्लानि से मुक्ति पाना चाहता था, इसलिए वह संगीत और चिकित्सा के देवता अपोलो के पास गया. अपोलो जानते थे कि हरक्यूलिस ने जो अपराध किया है, उसमें उसकी कोई गलती नहीं है.

मगर उसके बार-बार कहने पर अपोलो ने बताया कि उसे इस अपराध के पश्चताप स्वरुप मिसेनाईन के राजा ईरीथेथियस के लिए कोई 12 परिश्रम करने होंगे. जब वह ये 12 कार्यों को पूरा कर लेगा, तो उसे अपनी आत्म-ग्लानि से छुटकारा मिल जाएगा. वह अमृत को पाकर देवता भी बन जाएगा.

…और निकल पड़ा साहसी परिश्रम की ओर!

हरक्यूलिस किसी भी कीमत पर अपनी आत्म-ग्लानि से छुटकारा पाना चाहता था, इसलिए वह अपोलो के बाताए रास्ते पर निकल पड़ा. अपने साहसी कार्यों की शुरुआत उसने निमिया की पहाड़ियों से की. यहां हरक्यूलिस ने एक खूंखार शेर को मारकर लोगों को आतंकमुक्त किया. साथ ही इस अभियान की याद स्वरुप उस शेर की खाल का लबादा बनाकर पहन लिया.

अपने दूसरे अभियान में उसने लेरना में मौजूद 7 मुंह वाले एक ड्रैगन हायडरा को मारा. हायडरा को मारने के बाद वह एरीमान्थुस के पहाड़ों पर गया और वहां इंसानों को खाने वाले सुअर को काबू किया. इसी तरह उसने आगे घोड़ों का अस्तबल साफ किया, पेड़ों पर रहने वाले मांसाहारी पक्षियों को मारा.

इन कार्यों में सफलता के बाद वह अगले पड़ाव के लिए क्रेते पहुंचा. वहां उसने एक विशाल बैल को खत्म किया. बाद में वह अमेजॉन में ऐसे ही कुछ कार्यों को खत्म करते हुए अफ्रीकी क्षेत्र में पहुंचा और वहां मवेशीयों को चुराने वाले राक्षस गेरोन को मार गिराया.

आगे हरक्यूलिस की चुनौती को बढ़ाते हुए उसे हेरा के बगीचे से सोने का सेब तोड़ कर लाने का आदेश दिया गया. हरक्यूलिस ने देवता एटलस की मदद से इसको भी कर डाला. अपनी अंतिम चुनौती के रुप में हरक्यूलिस ने तीन सिर वाले कुत्ते सिरबेरस को हराया और उसे राजा ईरिथेथियस के पास लाया.

इस प्रकार हरक्यूलिस ने अपोलो द्वारा बताए ऐसे कुल 12 परिश्रमों को पूरा कर अपनी आत्म-ग्लानी से मुक्ति पाई.

Fight with lion (Representative Pic: Eskipaper.com)

इस सब के बाद हरक्यूलिस एक बार फिर से शादी के बंधन में बंधा!

उसने एक सुंदर महिला देइनेरा से विवाह किया. शुरुआत में सबकुछ ठीक रहा, किन्तु कुछ समय बाद हरक्यूलिस का मोह उससे भंग हुआ तो उसने किसी दूसरी महिला सें संबंध बनाने शुरु कर दिए.

जब देइनेरा को इसका पता चला कि हरक्यूलिस के संबंध किसी अन्य महिला से है, तो उसने उसके मौत की साजिश रच दी. अंतत: पत्नी के प्रति धोखे के चलते उसे मौत को गले लगाना पड़ा.

हालांकि, मरने के बाद अपोलो के दिए वचन के मुताबिक हरक्यूलिस देवता बन गया और ज्यूस अपने बेटे को अपने साथ माउंट ऑलिम्पस ले गए.

Web Title: Greek God Hercules life Saga, Hindi Article

Featured Representative Image Credit: Critics Associated