31 दिसंबर की रात पूरी दुनिया जश्न में डूबी रहती है.

हर कोई एक दूसरे को नए साल की बधाईयाँ दे रहा होता है. आतिशबाजी होती है, गाना बजाना होता है. नया साल सब के लिए एक नई उमंग ले कर आता है. पर क्या समूची दुनिया एक ही तरह से नया साल मनाती है?

चलिए आज आपको बताते हैं कि दुनिया के कुछ देश आखिर अपना नया साल कैसे मनाते हैं. इसमें कुछ ऐसी परम्पराएं हैं जिनके बारे में आपने शायद ही सुना होगा–

घर की प्लेट तोड़ना (डेनमार्क)

डेनमार्क के लोगों का न्यू इयर देख कर कोई भी परेशान हो जाएगा!

दूसरी जगहों पर अधिकतर लोग न्यू इयर पर दोस्तों के साथ घूमते हैं, बाहर खाने जाते हैं, परिवार के साथ अच्छा समय व्यतीत करते हैं. वहीं दूसरी ओर डेनमार्क में लोग अपनी प्लेट तोड़ने में लगे होते हैं. जी हाँ, आपने बिलकुल सही सुना है. डेनमार्क में यह एक प्रथा है जिसे वह न्यू इयर के दिन पूरा करते हैं.

माना जाता है कि न्यू इयर की रात को डेनमार्क के लोग पुराने बर्तनों को इकठ्ठा करके फर्श पर फेंक-फेंक कर तोड़ देते हैं. कई लोग तो महँगी क्रोकरी तक को न्यू इयर के नाम पर तोड़ देते हैं. कहते हैं कि यह डेनमार्क में पॉपुलैरिटी का विषय होता है.

People Break Kitchen Items On New Year In Denmark (Pic: houstonchronicle)

बुर्ज खलीफा की आतिशबाजी (दुबई)

दुबई में न्यू इयर का जश्न किसी फेस्टिवल के जैसे मनाया जाता है. 2018 में भी दुबई में एक अलग ही अंदाज में नए साल का स्वागत किया जाएगा. माना जा रहा है कि ‘द दुबई फाउंटेन’ के पास एक खास वाटर-म्यूजिक परफॉरमेंस की जाएगी. दुबई की मशहूर बिल्डिंग बुर्ज खलीफा पर खास आतिशबाजी का नजारा लोगों को देखने को मिलेगा. पूरा बुर्ज खलीफा पटाखों की गूंज और चमक से भर जाएगा. कहते हैं कि बुर्ज खलीफा का यह नजारा बहुत ही दिलकश होता है. हजारों की संख्या में लोग इसे देखने के लिए इकठ्ठा होते हैं.

Dubai Blow Fireworks From Burj Khalifa On New Year (Pic: gypsybulletin)

कब्रिस्तान में रात गुजारना (चिली)

चिली में न्यू इयर मनाने में शायद कुछ लोगों को असहजता महसूस हो!

माना जाता है कि चिली की एक पुरानी प्रथा के अनुसार वहां के लोग न्यू इयर की रात अपने पास के कब्रिस्तान में रह के गुजारते हैं! यह कई लोगों को सुनने में थोड़ा अजीब लगेगा, लेकिन इसके पीछे भी एक वजह है. कहते हैं कि चिली में लोग सिर्फ कब्रिस्तान नहीं जाते बल्कि अपने बिछड़ चुके लोगों की कब्र के पास जाते हैं.

माना जाता है कि वह उनके पास जा के नया साल मनाते हैं. यह उन्हें भी पता होता है कि वह जिंदा नहीं हैं फिर भी वह उनके प्रति अपना प्यार व्यक्त करने वहां जाते हैं. वह कब्र के पास खाना और शराब ले के जाते हैं और उन्हें भेंट करते हैं. अपनी इस प्रथा के जरिए चिली के लोग यह सुनिश्चित करते हैं कि उनके अपने अकेले नया साल न मनाएं.

People Sleep In Cemetery In Chile (Pic: dailymail)

परम्पराओं की राह (इंडिया)

भारत में नए साल का मतलब है कि बड़ों का आशीर्वाद लेना और अपने नए साल की एक सुखद शुरुआत करना. भारत में इसे सब अपने-अपने तरीके से मनाया करते हैं. हर कोई भारत में नया साल अपने हिसाब से मनाता है. कोई अपने परिवार के साथ घूमने जाता है तो कोई अपने दोस्तों के साथ. जगह-जगह पर न्यू इयर के इवेंट होते हैं. कई लोग पटाखे जला के इस दिन का जश्न मनाते हैं.

यूँ तो पूरी दुनिया की तरह भारत में भी कई लोग 31 की रात को न्यू इयर मनाते हैं, लेकिन इसके अलावा भी भारत में कई और तरह के नए साल मनाए जाते हैं. जैसे पंजाब में बैसाखी के दिन नया साल मनाया जाता है. बंगाल में अप्रैल के महीने में पोइला बैसाख मनाया जाता है नए साल के रूप में. ऐसे ही कई और तरह से भारत में नए साल को मनाया जाता है.

In India People Take Blessing From God & Elders On New Year (Pic: thoughtco)

नूडल खाओ,घंटी बजाओ (जापान)

जी हाँ! जापान में लोग न्यू इयर को कुछ इसी तरह मनाते हैं. 31 दिसंबर की रात को पहले तो हर कोई अपने घर में ‘बकवीट नूडल‘ बनाता है. यह एक पारंपरिक जापानी नूडल है. यह काफी लंबी बनाई जाती है. कहते हैं कि लोग इसे अक्सर शाम के नाश्ते या फिर रात के खाने के तौर पर खाते हैं. इसे खाते समय वह दुआ मांगते हैं कि नूडल की लंबाई की तरह ही उनकी जिंदगी भी लंबी हो.

इसके बाद रात को जापान में एक और परंपरा पूरी की जाती है. देर रात को मंदिर की घंटी बजाई जाती है वह भी 108 बारी. इसके साथ ही जापान के लोग पिछले साल को अलविदा कहते हैं और सुबह नए साल का स्वागत करते हैं.

Japan Ring Bell 108 Times On New Year For Good Luck (Pic: cruisetotravel)

जमीन पर आइसक्रीम गिराना (स्विट्जरलैंड)

आइसक्रीम भला किसे पसंद नहीं होती!

लोग आइसक्रीम के इतने दीवाने होते हैं कि सर्दियों में भी उसे खाने से नहीं हिचकिचाते. वैसे, स्विट्जरलैंड में आइसक्रीम के प्रति लोगों का अलग ख्याल है. यहाँ पर लोगों को आइसक्रीम खाने से ज्यादा उसे गिराना पसंद है.

कहते हैं कि हर नए साल पर स्विट्जरलैंड के लोग आइसक्रीम को जमीन पर गिराने का अपना रिवाज पूरा करते हैं. माना जाता है कि इसके ऐसा करने से नया साल बहुत अच्छा बीतता है. नए साल के दिन सब आइसक्रीम खरीद के उसे जमीन पर गिरा के अपना रिवाज पूरा करते हैं. फिर चाहे वह आइसक्रीम आपकी कितनी ही फेवरेट क्यों न रही हो आपको उसे जमीन पर गिराना ही पड़ता है.

People Drop Their Ice Cream On Floor In Switzerland For New Year Good Luck (Pic: foodandwine)

घर की सजावट करना (चीन)

चीन में भी भारत की तरह अलग समय पर नया साल मनाया जाता है.

हालाँकि, बाकी देशों की तरह चीन भी 31 दिसंबर को नया साल मनाता है, लेकिन उनके लिए ज्यादा खास अपना नया साल होता है जो फरवरी मध्य में आता है. उस दिन चीन काफी जश्न और उल्लास से अपने नए साल का स्वागत करता है.

कहते हैं कि दिन की शुरुआत सब अपने घर की संपूर्ण सफाई से करते हैं. घर के बाहर वाले दरवाजे पर चीन के पारम्परिक लाल पोस्टर लगाए जाते हैं जिन पर कोई सुविचार लिखा गया होता है. लाल लैंप घर के अंदर रखे जाते हैं. जैसे ही अँधेरा होता है पूरे चीन में पटाखों का शोर गूंजने लगता है. चीनी धारणाओं के मुताबिक पटाखों के जरिए लोग अपनी बुरी किस्मत को दूर भगाते हैं और अच्छी किस्मत का स्वागत करते हैं.

Chinese Decorate Their Home With Red Lanterns On Their Chinese New Year (Pic: 123newyear)

तो देखा आपने कैसे दुनिया भर में नया साल मनाया जाता है!

कई जगह परंपरा का वास है तो कहीं कुछ ऐसी प्रथाएं हैं जो बहुत अजीब लगती हैं. जो भी हो हर उत्सव का एक ही उद्देश्य है कि हमारा नया साल खुशियों के साथ आए. हम भी कामना करते हैं कि आपका आने वाला साल मंगलमय हो.

Web Title: How Different Countries Celebrates New Year, Hindi Article

Featured Image Credit: timeout