कुदरत ने हमें आइसलैंड के रूप में एक नायाब तोहफा दिया है. वहां बर्फ से ढकी भूमि की सुंदरता हर किसी को अपनी तरफ आकर्षित कर सकती है. गर्मियों के मौसम में आइसलैंड का परिदृश्य सैलानियों के लिए एक अद्भुत परिदृश्य होता है. असल में यहां के ऊपरी सर्कल में जबरदस्त तूफानों के कारण यहां बहुत अधिक सर्दी रहती है.

यहां के झरने, पहाड़, नदियां और हिमपात की सुंदरता का आनंद लेने दुनिया भर के लोग यहां हर साल लाखों की संख्या में आते है. ऐसे में हमारे लिए इन सभी अद्भुत नजारों के साथ ही आइसलैंड के भगौलिक और इतिहास से जुड़े रोचक तथ्यों के बारे में जानना दिलचस्प होगा.

तो देर किस बात की है. आईए जानते हैं-

कुछ ऐसा है यहां का भगौलिक क्षेत्र...

आइसलैंड उत्तरी अटलांटिक में ग्रीनलैंड के पूर्व में, उत्तरी अमेरिका और यूरोप के बीच बसा एक द्वीपीय देश है. यहां की कुल भूमि का क्षेत्रफल 103,000 वर्ग किलोमीटर और तट रेखा लगभग 3 हज़ार मील लंबी है. आइसलैंड यूरोप और ब्रिटेन के बाद दूसरा और विश्व में 18 वा सबसे बड़ा द्वीप है. इसकी राजधानी रेक्जाविक में लगभग इसकी आधी जनसँख्या निवास करती है.   

यहां की आबादी लगभग साढ़े 3 लाख के आसपास है. इसमें अधिकतर आइसलैंडिक लोगों के शामिल होने के साथ ही कुछ पोलिश लोगों की एक छोटी संख्या रहती है. यहां के लोग प्राकृतिक की सुंदरता के प्रेमी होने के साथ ही सच्चे और खुश-मिजाज होते है. 2017 में आई वर्ल्ड हैप्पीनेस रिपोर्ट के अनुसार आइसलैंड को डेनमार्क और स्विट्ज़रलैंड के बाद तीसरा स्थान मिला था.

शायद इन्ही कारणों से यहां पर अपराधों की संख्या बहुत ही कम हैं. बताते चलें कि यहां की पुलिस गन नहीं रखती. इसकी राजभाषा आइसलैंडिक और मुद्रा आइसलैंडिक क्रोना है. इन सबके साथ ही आइसलैंड का एक गौरवशाली इतिहास रहा है.

Map of Island
Map of Island (Pic: ultimatephotoworkshops)

द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान मिली आजादी!

आइसलैंड में सबसे पहले जिन लोगों ने निवास किया, वो एक भिक्षु थे.

माना जाता है कि वे 800 ईस्वी में यहां रहने आए. उसके बाद 9 वीं शताब्दी के आसपास आइसलैंड में पहली बार इसके उत्त्तर को निवास स्थान बनाया गया. जहां आइसलैंड के लोगों के साथ स्कैंडिनेविया के लोग रहने लगे. उस वक्त स्कैंडिनेवियाई देशों में कुछ राजनितिक जैसी समस्याओं ने जन्म ले लिया था, जिसके कारण यहां के लोग आइसलैंड की तरफ आने लगे.

इसी कड़ी में 874 में आइसलैंड में पहला यूरोपीय समझौता हुआ. इसके बाद लोग यहां आकर रहने लगे. इस तरह 930 के आसपास आइसलैंड लगभग 40 हज़ार लोगों का निवास स्थान बन गया. इसी के साथ यहां के शासक ने 930 में सविधान को लिखा. हालांकि, एक समय ऐसा भी आया जब आइसलैंड पूर्ण रूप से डेनमार्क के कब्जे में था.

आगे लोगों ने इनकी त्रासदी से बचने के लिए आज़ादी की मांग उठाई. लेकिन इसी बीच 20 वीं शताब्दी की शुरुआत में ही आइसलैंड के कुछ हिस्सों को एक स्वतंत्र शक्ति हासिल हुई. फिर 1918 में आइसलैंड ने खुद को राजनीतिक रूप से संप्रभु राज्य घोषित कर दिया. हैरान करने वाली बात यह थी कि इस वक़्त भी यह डेनमार्क सम्राज्य का ही हिस्सा था. द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान अंग्रेजों ने आइसलैंड पर अस्थाई रूप से अपना कब्ज़ा कर लिया.

 Second World War time in Island
 Second World War time in Island (Pic: CNN)

'यूल लैड्स' जैसे कांसेप्ट बनाते हैं खास

आइसलैंड अपनी प्राकृतिक सुंदरता के लिए जाना जाता है. इसी के साथ ही आइसलैंड में मई से जुलाई के अंत तक सूरज की किरणें लगातार अपनी रोशनी बिखरे नज़र आती है. आसमान में 24 घंटे सूरज का उदय रहता है.

इसीलिए इन महीनों में आइसलैंड की अद्भुत धरती पर रात होती ही नहीं. यहां के लोग इस दिन का बेसब्री से इंतजार करते हैं. इसी के साथ ही कुदरत के इस अनोखे निज़ाम को देखने के सैलानियों की भीड़ इस महीने में बढ़ जाती है. वहां के लोगों का लोकप्रिय खेलों में से एक गोल्फ भी इसी माह में खूब खेला जाता है.

हालांकि, आइसलैंड का राष्ट्रीय खेल हैंडबाल है. यहां के लोग गोल्फ के साथ ही इस खेल के भी बेहद शौक़ीन होते हैं. यहां की सरकार ने माता-पिता दोनों को अपने बच्चों को डरावनी कहानियां सुनाने पर प्रताबंधित किया है. इसी के साथ ही यहां पर सांता क्लाज की तरह दिखने वाले 'यूल लैड्स' का कांसेप्ट चलन में है. जोकि, घर-घर जाकर बच्चों को खाने पीने वाली चीजों के साथ ही उनका मनोरंजन करता है.

आइसलैंड की एक खासियत यह भी है कि यहां महिलाओं की संख्या पुरुषों की अपेक्षा अधिक है. इस वजह से यहां की सरकार ने सभी स्ट्रिप क्लब और ऑनलाइन पोर्नोग्राफी पर बैन लगा दिया है. आइसलैंड के लोगों की ऐसी भी मान्यता है कि आज भी यहां पर छोटे-छोटे लोग अपनी जादुई शक्ति के साथ रहते हैं. हालांकि, इसमें कितनी सच्चाई है, यह कहा नहीं जा सकता.  

Yule Lads live in Iceland
Yule Lads live in Iceland (Pic: North Iceland)

कुदरती सुंदरता के लिए है मशहूर  

आइसलैंड दुनिया के सबसे विशाल देशों में एक माना जाता है. इसके अलावा यह पहाड़ों, बर्फ बारी, झीलों और वनस्पतियों का एक ऐतिहासिक खूबसूरत जगहों में से एक है. आइसलैंड का थिंगविल्लर नेशनल पार्क को आइसलैंड में सबसे सुंदर स्थान माना जाता है. यहां स्थित अल्मगीय, रॉक स्क्राल का लैगून है. यहां की ज्वालामुखी और हिमस्खलन का अद्भुत नज़ारा लोगों को अपनी तरफ आकर्षित करता है. जहाँ पर दो से तीन महीनों में ही लाखों पर्यटकों का जमवाड़ा लगा होता है.

आइसलैंड में लगभग 80 प्रतिशत भूमि अभी भी निर्वासित है, जहां अधिकांश लोग तटीय इलाकों में रहते हैं. यहां की राजधानी रिक्जेविक खूबसूरत के साथ ही महंगे शहरों में से एक है. आइसलैंड के मध्य स्थित हाइलैंड्स में कई सारे सुंदर परिदृश्यों का अनोखा संगम देखने को मिलता है. यहां की यूजेनिया जलप्रपात की कुदरती खूबसूरती देखने लायक है.

वहाँ पर आप अपने परिवार के साथ छुट्टियों के दिन पिकनिक मना सकते हैं. यही नहीं यहां पर स्थित ऊदबिलाव घाटी, नीला पहाड़, के साथ ही जॉर्जियाई खाड़ी हाईलैंड्स की धड़कन है, जिसकी सुंदरता लाजवाब है. इसी के साथ ही यहां अधिक मात्रा में होने वाली ज्वालामुखी का फायदा सरकार ने उठाया. आइसलैंड की 85% प्रतिशत एनर्जी इन्हीं से ही उत्पन्न की जाती है.

Island
Island (Pic: reachcoach)

तो ये थे आइसलैंड से जुड़े कुछ रोचक तथ्य.

अगर आप भी इस खूबसूरत द्वीप के बारे में कोई जानकारी रखते हैं, तो कृपया कमेंट बॉक्स में ज़रूर बताएं.

Web Title: Iceland, Where the Sun Drowning for a Few Months, Hindi Article

Feature Image Credit: Telemartin