अापने दुनिया के कई कामयाब लोगों के बारे में सुना होगा जिन्होंने अपनी गरीबी से लड़ते हुए बड़ी मुश्किलों से अपनी मंजिल पाई. ऐसे ही दूसरी कठिनाइयों से पार पाने वाले तमाम लोगों की सक्सेस स्टोरीज आपने सुनी होगी.

हालांकि किसी अंधे व्यक्ति की सक्सेस स्टोरी ‘रेयर’ ही है… वह भी आसमान छू लेने की!

ब्लाइंड(अंधा) व्यक्ति के लिए अपनी लाइफ को जीना कितना मुश्किल होता है यह सिर्फ हम सोच ही सकते हैं. उनके हालात से जब तक कोई जूझे नहीं वह उसे नहीं समझ सकता.

तो चलिए आज हम आपको बताते हैं कि आखिर कौन हैं दुनिया के वह ब्लाइंड लोग जिन्होंने ऊंचे मुकाम पाए हैं–

स्टीव वंडर

स्टीव वंडर एक संगीत कलाकार हैं. बेशक वह अंधे हैं मगर अपनी आवाज के जादू से उन्होंने दुनिया भर को अपना दीवाना बनाया हुआ है.

उन्होंने अपने अभी तक के करियर में 22 खिताब हासिल किए हैं और कई रिकॉर्ड तोड़े हैं.

उन्होंने करीब 30 एल्बम बनाई हैं जिनमें से अधिकतर बड़ी हिट साबित हुई.

स्टीव वंडर बचपन से ही संगीत की दुनिया से जुड़ गए थे. जब वह 13 साल के थे तब उन्होंने अपनी एल्बम फिंगर टिप्स को निकला था जो हिट सबित हुई थी.

छोटी सी उम्र में ही स्टीव वंडर एक स्टार बन गए थे.

जैसे-जैसे वक़्त बीतता गया स्टीव का जादू हर किसी पर असर करने लगा. हर कोई उनकी आवाज का दीवाना बन गया. लोगों को हैरानी तो तब होती थी जब उन्हें पता चलता था कि स्टीव देख नहीं सकते हैं.

स्टीव ने बचपन में ही समझ लिया था कि उनकी अँधेरी दुनिया में संगीत ही रोशनी की किरण बनकर आएगा.

Stevie Wonder (Pic: iheart)

एंड्रिया बोसेली

एंड्रिया बोसेली एक गायक हैं जो पॉप और क्लासिकल संगीत दोनों शैलियों में बहुत अच्छे से संगीत जानते हैं. उन्होंने जितनी भी एल्बम निकाली वह सभी हिट रही.

एंड्रिया बोसेली का जन्म 22 सिंतबर 1958 को हुआ था. एंड्रिया बोसेली की संगीत में रुचि तब से दिखाई दी जब वह 6 साल के थे. उनके माता पिता ने उनकी इस खूबी को पहचाना और उनको प्रोत्साहित किया.

यही नहीं संगीत के साथ-साथ वह बांसुरी, सैक्सोफोन, गिटार और ड्रम भी बजा लेते हैं.

12 साल की उम्र में फुटबॉल खेलते समय उन्होंने एक हादसे में अपनी आँखों की रोशनी खो दी थी.

हालांकि इसके बाद भी उन्होंने अपने अंदर का हौंसला नहीं खोया और संगीत की राह पर आगे बढ़ते रहे. इस राह पर वह इतना आगे बढ़े कि आज वह महान संगीतकारों में गिने जाते हैं.

Andrea Bocelli (Pic: ppcorn)

रे चार्ल्स

रे चार्ल्स अमेरिका के सबसे प्रसिद्ध संगीतकारों में से एक थे. संगीत उनकी रग-रग में बसा हुआ था. सिर्फ गाना ही नहीं बल्कि उनके बोल तक चार्ल्स खुद लिखा करते थे

रे चार्ल्स का जन्म 30 सिंतबर 1930 एक गरीब परिवार में हुआ था. वह अपनी दृष्टि को बचपन में ही खो चुके थे.

इसके बाद  उन्होंने संगीत की शिक्षा प्राप्त की. रे चार्ल्स 16 की उम्र में एक बैंड में शामिल हुए थे.

उस बैंड से उन्होंने अपनी एक नई शुरुआत की. उसके बाद तो वह संगीत में इस तरह खो गए कि उन्हें उसके अलाव कुछ और पसंद ही नहीं आया. उन्होंने अपना पूरा जीवन संगीत के लिए ही समर्पित कर दिया.

Ray Charles (Pic: notesontheroad)

केसी हैरिस

केसी हैरिस का जन्म 25 मार्च 1981 को कनेक्टिकट में हुआ था. वह बचपन से ही दृष्टिहीन थे.

15 वर्ष की उम्र में उन्होंने अपनी पढ़ाई छोड़ दी और कुछ समय के बाद उन्होंने अपने परिवार को भी छोड़ दिया. तब वह केवल 17 साल के ही थे!

उनके दिल-दिमाग में हर समय बस संगीत ही चलता रहता था. इसके बाद उन्होंने न्यूयॉर्क जाने का फैसला किया ताकि वह अपने संगीत के प्यार को अपना करियर बना सकें.

वहां जाने के बाद तो उन्होंने संगीत की दुनिया में तहलका ही मचा दिया. वक़्त के साथ वह संगीत के महारथी बन गए. पूरी दुनिया उनकी धुन पर झूमने लगी. देखते ही देखते हैरिस संगीत की दुनिया के शिखर पर पहुँच गए.

Casey Harris (Pic: independent)

जेफ हेली

जेफ हेली कनाडा के रॉक स्टार थे.

उनकी आँखों की रोशनी नहीं थी. माना जाता है कि उन्हें कैंसर भी था. कैंसर से लड़ाई करते-करते मात्र 41 वर्ष की उम्र में ही वह इस दुनिया से चले गए थे.

वह एक गायक तो थे ही पर वह इलेक्ट्रिक गिटार बजाने के लिए भी जाने जाते थे. गिटार बजाते समय तो ऐसा लगता था जैसे की उनकी उँगलियों में जादू है.

इस कारण से लोग उनके दीवाने थे. कैंसर के कारण ही उनकी आँख के रेटिना में संक्रमण हुआ और उनकी आँखों की दृष्टि चली गई.

1988 में आई उनकी एल्बम ‘सी द लाइट’ बहुत प्रसिद्ध हुई थी. वह इतनी हिट सबित हुई कि महज अमेरिका में ही उसकी दस लाख प्रतियाँ बेचीं गई थी.

Jeff Healey (Pic: themusicexpress)

जोस फेलिसियानो

जोस फलिसियानो बहुत अच्छे गायक और गिटारवादक माने जाते हैं.

जोस का जन्म 10 सितंबर 1945 में हुआ था. वह दुनिया भर में स्पेनिश भाषा के प्रमुख स्टार माने जाते हैं. उनकी सबसे बड़ी हिट ‘लाइट माई फायर’ मानी जाती है. जोस फलिसियानो बचपन से ही दृष्टिहीन थे.

उन्हें गिटार काफी पसंद था इसलिए उन्होंने गिटार की ध्वनि को रिकॉर्ड करके उन्हें सुनकर गिटार बजाना सीखा.

16 की उम्र में वह एक कॉफीहाउस में गिटार बजाकर अपना जीवन काटने के लिए पैसों का बंदोबस्त किया करते थे.

कॉफ़ीहाउस से ही धीरे-धीरे जोस लोगों की नजर में आए थे. इसके बाद तो धीरे-धीरे उनके दर्शकों की संख्या बढ़ती ही गई. थोड़े वक़्त के बाद जोस कॉफ़ीहाउस से बड़े स्टेडियम में शो करने लगे. हजारों लाखों लोग उनके शो देखने के लिए दीवाने रहते थे.

José Feliciano (Pic: nydailynews)

दाना एलकर

दाना एलकर एक अभिनेता थे जिन्होंने हॉलीवुड की कई बड़ी और प्रसिद्ध फिल्मों में अपना योगदान दिया है. इसके चलते वह दुनिया भर में प्रसिद्ध हुए.

वह देख नहीं सकते थे… मगर फिर भी उनका अभिनय इतना दमदार था कि उसके आगे उनकी यह कमी छिप जाया करती थी. अपने वास्तविक जीवन में उन्होंने मोतियाबिंद और फिर अंधेपन का सामना किया था.

यह बहुत बड़ी बात है कि दिखाई न देने के बाद भी उन्होंने फिल्मी पर्दे पर काम किया. दाना एलकर ने अपने पूरे फ़िल्मी करियर में करीब 40 फिल्मों में काम किया है. उनके हर एक रोल को दर्शकों ने खूब सराहा है.

Dana Elcar (Pic: imdb)

डेविड पैटरसन

डेविड पैटरसन का करियर राजनीति से जुड़ा रहा है. डेविड पैटरसन का जन्म 20 मई 1954 को न्यूयॉर्क में हुआ था. उनके पिता एक वकील थे.

वह राष्ट्रीय डेमोक्रेटिक पार्टी में अफ्रीकी-अमेरिकी लोगों के उपाध्यक्ष थे. 1985 में डेविड पैटरसन ने सीनेट राज्य में अपना एक अभियान जीता था. इसके बाद वह वहां के पहले अफ़्रीकी अमेरिकी गवर्नर बने थे.

डेविड की आँखों की रोशनी नहीं थी मगर उसके बाद भी उन्होंने अपने तेज दिमाग से राजनीति में अपनी जगह बनाई. राजनीति के मामले में उनका नाम काफी प्रसिद्ध रहा. न देखते हुए भी उन्होंने लोगों का मार्गदर्शन किया.

David Paterson (Pic: hallofgovernors)

जॉन ब्रैंब लिट

जॉन ब्रैंब लिट एक मशूहर ब्लाइंड पेंटर हैं. 2001 में उन्होंने 30 साल की उम्र में अपनी दृष्टि को खो दिया था.

आँखों की रोशनी चली जाने के बाद तो मानों जॉन की जिंदगी ही अँधेरे से घिर गई. उन्हें कुछ भी अच्छा नहीं लगता था और उन्होंने जीवन से सारी उम्मीदें खो दी थी. हालांकि थोड़े ही समय बाद जॉन ने होश संभाला और खुद के जीवन को एक नई राह पर लाने की ठानी.

जॉन ने इस दौरान अपने अंदर एक अनोखी प्रक्रिया को विकसित किया. उन्होंने बिना रंगों को देखे ही पेंटिंग बनाना शुरू कर दिया.

वह किसी भी रंग को नहीं देख सकते थे. वह स्पर्श के मध्याम से पेंट किया करते थे. उनके द्वारा बनाई गई पेंटिंग कई अलग-अलग देशों में बेची जा चुकी है. दृष्टिहीन होने के बाद भी इस तरह की पेंटिंग बना पाना बहुत बड़ी बात कही जा सकती है.

हैरत की बात तो यह है कि उनकी पेंटिंग किसी प्रोफेशनल पेंटर की पेंटिंग से कम नहीं होती. आज जॉन की आँखें भले ही उनकी बनाई पेंटिंग नहीं देख पाती मगर लाखों लोग उनकी पेंटिंग को देखते हैं. जॉन इसी में खुश हैं.

John Bramblitt (Pic: dentonrc)

कहते हैं कि अगर मन में हौंसला हो तो हर मुश्किल आसान हो जाती है…. इन लोगों को देख कर तो यही लगता है. इन सभी ने अपने अंधेपन को पीछे छोड़ कर जीवन में एक अलग मुकाम प्राप्त किया.

आज पूरी दुनिया इनकी सराहना करती है. जीवन के इतने मुश्किल समय में भी इन सभी ने कभी हार नहीं मानी और आज यह सातवें आसमान पर हैं. इन सभी से यकीनन हमें सीख लेने की जरूरत है कि आखिर कैसे जीवन के कठिन समय में भी सकारात्मक रह कर प्रगति की जा सकती है.

क्या कहेंगे आप?

Web Title: Most Famous Blind People In The World, Hindi Article

Featured Image Credit: billboard/concerteurope