तस्करी, स्मगलिंग यह शब्द सुनकर दिमाग में पुरानी बॉलीवुड फिल्मों के सीन याद आते हैं. उनमें दिखाया जाता था कि कैसे रात के अंधेरे में मुजरिम नाव के सहारे तस्करी किया करते हैं.

यह तो थी रील लाइफ अब आइए आपको बताते हैं रियल लाइफ के बारे में.

रियल लाइफ में पाब्लो एस्कोबार एक ऐसा नाम है जो कभी ड्रग्स की दुनिया का मालिक हुआ करता था. उसने जब से इस धंधे में कदम रखा था तब से ही अपने तस्करी के तरीकों से पुलिस और प्रशासन की नाक में दम किया हुआ था.

तो चलिए देर न करते हुए आपको बताते हैं कि आखिर कैसे पाब्लो रियल लाइफ में ड्रग्स की तस्करी किया करता था–

शुरूआती दिनों में स्मग्लिंग

ड्रग्स का धंधा अगर अवैध न होता तो पाब्लो जैसे ड्रग तस्कर आज एक सफल बिज़नेसमैन के रूप में जाने जाते. दुनिया इनसे सीख रही होती कि आखिर कैसे ड्रग्स को एक जगह से दूसरी जगह तक ले जाया जाता है.

पाब्लो को तस्करी के अलग-अलग तरीकों का आविष्कारक भी कहा जाता है. उसने ही ड्रग्स तस्करों को ऐसे नए और अनोखे तरीके बताए कि ड्रग्स तस्करों की जिंदगी ही बदल गई.

पाब्लो के आने से पहले तस्कर केवल रेफ्रिजरेटर के इन्सुलेशन को बदल कर उसमें कोकेन भर देने या तो टीवी सेट के अंदर कोकेन भरने तक ही सीमित थे. तस्करों की इन छोटी-छोटी चालों का पता पुलिस को भी था. वह जानते थे कि उन्होंने ड्रग्स कहाँ छिपाए हुए हैं.

पाब्लो के आते ही यह सब बदल गया. पाब्लो ने बच्चों के खिलौनों से खाने-पीने की चीजों में ड्रग्स छिपा के बेचे. कोई अंदाजा भी नहीं लगा सकता था कि पाब्लो ने कहाँ पर ड्रग्स छिपाए हैं. यही कारण है कि उसने अमेरिका जैसे देश में ड्रग्स लाके बेचे और कोई भी उसे पकड़ नहीं पाता था.

सामान के अंदर ड्रग्स छिपाने का पाब्लो को यह फायदा होता था कि वह एक बार में बहुत ज्यादा ड्रग्स तस्करी कर पाता था.

Pablo Escobar (Pic: people)

जब इंसान के पेट में ड्रग्स छुपाकर हुई तस्करी…

पाब्लो ने 1970 के दश्क में जब कोकेन की दुनिया में कदम रखा था तब तक कोलंबिया और अमेरिका की सरकार ड्रग्स की बढ़ती तस्करी के बारे में जान चुकी थी. ड्रग्स तस्करी के पुराने तरीकों के बारे में सबको ज्ञात था इसलिए पाब्लो को नए तरीकों के साथ आना पड़ा.

पाब्लो कोलंबिया में ऐसे लोगों की तलाश करता था जिनके पास अमेरिका का वीजा हो, क्योंकि कोलंबिया में अधिकतर लोग गरीबी से जूझते हैं इसलिए पैसों का लालच देकर पाब्लो उन्हें तस्करी के लिए मनवा लेता था. इन लोगों का इस्तेमाल करके ही पाब्लो तस्करी को एक अलग लेवल पर लेके गया.

पाब्लो के साथी कंडोम के अंदर ड्रग्स भरा करते थे. जब एक बार कंडोम में ड्रग्स भर दिए जाते थे तो भाड़े के लोगों को उन कंडोम को निगलने के लिए कहा जाता था. कंडोम के कारण ड्रग्स जब लोगों के पेट में जाते थे तो वह ख़राब नहीं होते थे.

करीब 2-3 किलो ड्रग्स हर एक व्यक्ति ले जा सकता था. इसके बाद वह सब एअरपोर्ट जाते और बिना पकड़े अमेरिका तक चले जाते. एक बार जैसे ही वह अमेरिका पहुंचे पाब्लो के लोग उन्हें अपने साथ ले जाते. बाद में कुछ खास तरीकों से उनके पेट से वह ड्रग्स निकाल लिए जाते थे. और उन्हें पैसे देकर वापस भेज देते थे.

काफी समय तक पाब्लो ने इसके जरिए ही ड्रग्स का धंधा किया मगर वक़्त के साथ उसे यह तरीका भी बदलना पड़ा. ड्रग्स की मांग बढ़ने के कारण उसे 2-3 किलो से ज्यादा ड्रग्स की तस्करी करनी पड़ी. ऊपर से अमेरिकी पुलिस भी पाब्लो की इस चाल के बारे में जानने लगी थी.

यही कारण था कि पाब्लो ने अपना यह तरीका भी बदला और फिर एक नए तरीके की खोज में लग गया.

Pablo Escobar and his son (Pic: wsj)

रिमोट से चलने वाली पनडुब्बियों से 2 टन कोकेन की भारी स्मग्लिंग!

कोकेन की अमेरिका में मांग दिन प्रतिदिन बढ़ने लगी थी. इसका नतीजा यह निकला कि, कोलंबिया की कोकेन को स्मगल करने के लिए फ्लोरिडा के एअरपोर्ट कम पड़ गए थे. इसलिए तस्करों ने बहामास में एक निजी द्वीप खरीद लिया.

बहामास के उस द्वीप पर से तो पाब्लो ने न जाने कितने ही टन ड्रग्स अमेरिका भेजे होंगे. उन्होंने उस द्वीप पर अपना एक पर्सनल हवाई अड्डा तक बना लिया था.

कोकेन कोलंबिया से बहामास तक जाती थी. फिर बहामास से स्पीड बोट्स के जरिए ड्रग्स को कैरेबियन समंदर से होते हुए फ्लोरिडा के नजदीक भेजा जाता था. इस के बाद कोकेन को छोटी-छोटी रिमोट से चलने वाली पनडुब्बियों में उन्हें भरके फ्लोरिडा में घुसाया जाता था.

पाब्लो का यह तरीका भी बहुत कारगर निकला. इसके जरिए पाब्लो हर हफ्ते करीब 2 तन कोकेन अमेरिका में पहुंचा देता था. इसके कारण ही उसने करोड़ों डॉलर की कमाई की.

Pablo Escobar Airport (Pic: touratech-usa)

कोकेन की स्मगलिंग के लिए खरीदे 13 हवाई जहाज

थोड़े समय चलने के बाद ही पाब्लो का समुद्री रस्ते ड्रग्स तस्करी का प्लान फेल होने लगा था, लेकिन उसने जल्द ही नया रास्ता खोज निकाला. अब पाब्लो समंदर नहीं बल्कि आसमान के जरिए ड्रग्स तस्करी की सोच रहा था.

अपने इस काम को भी उसने अपने बहामास वाले द्वीप से ही अंजाम दिया. पाब्लो ने इसके लिए करीब 13 हवाई जहाज खरीदे. इतना ही नहीं इस काम में उसका साथ अमेरिका और कोलंबिया के कई सारे पायलटों ने भी दिया.

रोजाना पाब्लो के जहाज बहामास के द्वीप पर आते थे और अपने टायरों में और बाकी कई जगहों में ड्रग्स छिपा के लिए जाते. यह तरीका भी बहुत कारगर था.

पायलटों पर किसी को कोई शक नहीं होता था. प्लेन ठीक करने के काम के बहाने पाब्लो के लोग प्लेन से ड्रग्स ले जाया करते थे. कहते हैं कि इसके जरिए भी वह कई टन ड्रग्स की तस्करी करते थे. पाब्लो के जितने भी तरीके पुलिस पकड़ती वह उतने ही नए तरीके और ले आता था.

हर बार वह पुलिस से एक कदम आगे रहता था.

पाब्लो ने कई सालों तक अपने अलग-अलग तस्करी के तरीकों से पुलिस को हैरान किया रहा. इस कारण से ही वह ड्रग्स और जुर्म की दुनिया का बेताज बादशाह बन गया था.

वह इतने घमंड में आ गया था कि उसे लगता था कि उसे कोई भी नहीं पकड़ सकता मगर यही उसकी सबसे बड़ी गलती साबित हुई. वह पुलिस से एक कदम आगे तो था मगर इतना भी नहीं कि हर बार कानून के शिकंजे से बच जाए. आखिर में जाके पुलिस ने पाब्लो को अपनी गिरफ्त में ले ही लिया था. फिर तो पुलिस मुठभेड़ में उसकी मौत हो ही गई और शातिर पाब्लो हमेशा के लिए शांत हो गया.

Death Of Pablo Escobar (Pic: dailybraille)

तो देखा आपने पाब्लो एस्कोबार ने किन-किन तरीकों का इस्तेमाल किया अपनी ड्रग्स की तस्करी के लिए. पाब्लो भले ड्रग्स बेच का असीमित दौलत कमाता रहा मगर उस पैसे की ख़ुशी उसे कभी नहीं मिली. हर दम वह पुलिस से दूर ही भागता रहा. इससे यही पता चलता है कि गलत काम से कमाए पैसे का गलत नतीजा ही होता है.

आपकी क्या राय है?

Web Title: Pablo Escobar Shocking Ways Drug Smuggling , Hindi Article

Featured Image Credit: medium