नीली आंखें, छोटे बाल और मनमोहक मुस्कान. ये पहचान उस शख्सियत की है, जिनकी ज़िंदगी महज़ 36 वर्ष की ही रही थी.

हालांकि उन्होंने लोकप्रियता इतनी पाई कि मरने के 20 साल बाद भी लोग उनके जीवन से जुड़ी हर बात को जानने के लिए उत्सुक रहते हैं. उनके जीवन की कई बातें आज भी एक अनकही कहानी है, तो उनकी मृत्यु आज भी एक रहस्य है.

वह शख्सियत कोई और नहीं बल्कि ब्रिटेन के शाही परिवार की सबसे मशहूर प्रिंसेस ऑफ वेल्स ‘डायना’ रही हैं.

वैसे तो, ब्रिटेन के शाही परिवार का लगभग हर सदस्य लोकप्रिय है, पर डायना की लोकप्रियता का कोई मुकाबला नहीं था.

मीडिया के कैमरे साये की तरह उनका पीछा करते थे. चाहे दिन हो या रात वो हमेशा कैमरे की नज़रों में ही रहती थीं.

उनकी लोकप्रियता ब्रिटेन में ही नहीं बल्कि पूरे विश्व में थी. बावजूद इसके उनके जीवन की सच्चाई शायद केवल वो खुद ही जानती थीं.

आख़िर क्या था डायना की उलझी कहानी का सच. चलिये आज जानने का प्रयास करते हैं–

पढ़ाई में अच्छी नहीं थीं ‘डायना’

डायना फ्रांसेस स्पेंसर का जन्म 1 जुलाई 1961 को नॉरफोक के सेनड्रिंघम में हुआ था. वो अपने माता-पिता की सबसे छोटी संतान थीं.

जब डायना छोटी थीं, तभी उनके माता-पिता का तलाक हो गया. अपने माता-पिता के तलाक के बाद डायना को अक्सर अपने नार्थएंपटन शायर और स्कॉटलैंड के घरों के बीच सफर करना पड़ता था.

डायना ने अपनी शुरुआती शिक्षा घर पर ही प्राप्त की और बाद में वे स्कूल में पढ़ने गईं. डायना पढ़ाई में कुछ ख़ास नहीं थी. वो कई बार फेल भी हुईं. हालांकि उन्हें नाचने और गाने का बेहद शौक था.

वैसे तो डायना एक अमीर परिवार से थीं, लेकिन उन्होंने अपने परिवार का कभी सहारा नहीं लिया और अपनी राह उन्होंने खुद ही बनाई.

उन्होंने लंदन में काम करना शुरु किया. उस दौरान उन्होंने अलग-अलग काम किए. उन्होंने कभी दाई के रूप में, कभी एक कुक के रूप में और फिर नाइब्रिज स्थित यंग इंग्लैंड किंडरगार्टन में सहायक के रूप में काम किया.

डायना एक बेहद ही साधारण-सी लड़की थीं, जो आम लड़कियों की तरह घूमती और काम करती. माना जाता है की उन्हें शाही जिंदगी बहुत ज्यादा नहीं भाती थी.

उनके जीवन का बड़ा बदलाव तब आया जब वे प्रिंस ऑफ वेल्स, चार्ल्स से मिलीं. धीरे-धीरे दोनों की नज़दीकियां बढ़ने लगी. प्यार का परवान कुछ इस कदर चढ़ा कि बात शादी तक आ गई.

24 फरवरी 1981 को डायना और प्रिंस ऑफ़ वेल्स की सगाई की पुष्टि कर दी गई. डायना की अंगूठी की क़ीमत लगभग 28,000 पाउंड आंकी गई थी.

इसमें एक नीलम और 14 हीरे जड़े थे. आज यह अंगूठी कैम्ब्रिज की डचेस यानि राजकुमार विलियम की पत्नी केट मिडलटन के पास है.

Princess Diana (Pic: vanityfair)

लेडी डायना से प्रिंसेस डायना तक का सफ़र

चार्ल्स से सगाई के बाद डायना तुरंत ही लाइमलाइट में आ गयीं.

29 जुलाई, 1981 में प्रिंस चार्ल्स और डायना की शादी सेंट पॉल्स कैथेड्रल में हुई. वो अपने पिता अर्ल स्पेन्सर का हाथ पकड़े चर्च में आईं.

उनकी शादी की ड्रेस को डेविड और एलिज़ाबेथ इमैनुएल ने डिज़ाइन किया था. इसमें 24 फ़ीट की चुनरी थी जिसे हाथीदांत से बने टाफेटा और एंटीक लेस से सजाया गया था.

उस दिन वे ‘लेडी डायना’ से ‘प्रिंसेस डायना’ बन गई. उस समय डायना की उम्र केवल 20 वर्ष थी. ये शादी दुनिया के लिए किसी परियों की कहानी से कम नहीं थी.

इस शादी का प्रसारण टीवी पर भी हुआ जिसे लगभग 750 मिलियन लोगों ने देखा. डायना और चार्ल्स की शादी को ‘वेडिंग ऑफ दा सेंचुरी’ कहा गया.

सन 1982 में राजकुमार विलियम ने डायना और चार्ल्स के जीवन में कदम रखा. डायना विलियम को राजकुमार के बजाय एक साधारण बच्चे की तरह पालना चाहती थीं. इसलिए डायना ने शाही नियमों को तोड़ते हुए प्रिंस विलियम के लिए निजी टीचर रखने की जगह स्कूल भेजा.

इसके बाद 15 सितंबर 1984 को उन्होंने प्रिंस हैरी को जन्म दिया. डायना अपने दोनों बच्चों से बेहद प्यार करती थीं.

डायना हमेशा अख़बार की सुर्खियों में बनी रहती थीं. जब डायना, चार्ल्स और दोनों बच्चे कहीं बाहर दिखते तो लोगों को यह एक भरा-पूरा सुखी परिवार नज़र आता.

हालांकि शायद शाही राजमहल की दीवारों के पीछे कोई और ही कहानी चल रही थी.

गुज़रते वक़्त के साथ डायना और चार्ल्स के बीच दूरियां बढ़ रही थीं. डायना को चार्ल्स और उनकी प्रेमिका कैमिला के संबंधों के बारे में पता चला गया था.

यह बात उन्हें अंदर ही अंदर परेशान किए जा रही थी. प्रिंस विलियम के जन्म के बाद डायना काफी दुबली हो गई थीं. ऐसा माना जाता है कि उस दौरान वे डिप्रेसन की शिकार भी थीं.

डायना की मृत्यु के बाद उनके जीवन से संबंधित एक सीक्रेट टेप रिलीज़ हुई थी, जिनमें डायना ने अपने अंदर की व्यथा और भावनाओं को व्यक्त किया था.

इस टेप से खुलासा हुआ था कि वो इतनी तनावग्रस्त थीं कि उन्होंने खुद को जान से मारने की कोशिश भी की थी!

28 अगस्त, 1996 में उनका और प्रिंस चार्ल्स का तलाक हो गया था, पर तलाक के बाद भी डायना ख़बरों का केंद्र बनती रहीं.

Princess Diana And Prince Charles On Their Wedding Day (Pic: eonline)

प्रिंसेस डायना के ‘अनेक रूप’

प्रिंसेस डायना ऐसी शख्सियत थीं जिनके अनेक रूप थे. डायना एक समाज सेविका, फैशन आइकन और ब्रिटेन के लोगों के लिए ‘पीपल्स प्रिंसेस’ (लोगों की राजकुमारी) थीं.

डायना शादी के बाद ही शाही परिवार की अपनी ज़िम्मेदारियों में व्यस्त हो गई. वो नर्सरी, स्कूलों और अस्पतालों में लोगों से मिलने जाती रहीं. वो बड़ी सहजता से लोगों से जुड़ जाती थीं, जिस कारण उन्हें काफी पसंद किया जाने लगा.

राजकुमारी डायना समाजसेवा के अपने कामों के लिए जनता में लोकप्रिय रहीं. एड्स बीमारी से पीड़ित लोगों की दशा को सार्वजनिक चर्चा का विषय बनाने में उन्होंने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई.

इस विषय पर उनके भाषण स्पष्ट थे और उन्होंने इससे जुड़े कई पूर्वाग्रहों को भी दूर किया. उन्होंने एड्स पीड़ितों से सार्वजनिक रूप से हाथ मिलाया ताकि ये संदेश दे सकें कि एड्स छूने से नहीं फैलता.

डायना अपने पति के साथ देश और विदेश के कई दौरों पर गईं.

डायना अपने फैशन सेंस के लिए भी काफी मशहूर थीं. डायना के दीवाने दुनिया भर में थे.

प्रेस के साथ डायना का रिश्ता प्यार और नफरत दोनों का था.

कई बार डायना ने उनका पीछा करने वाले फोटोग्राफरों की शिकायत की, लेकिन उन्होंने खुद भी कई सिरफिरी बातों के बारे में मीडिया को जानबूझ कर जानकारी दी.

राजकुमारी के इर्द गिर्द प्रेस की एक पूरी दुनिया खड़ी हो गयी थी जिसमें खास और अंदरूनी जानकारियों को हासिल करने की एक होड़ थी.

Princess Diana Was Famous For Her Charity Work (Pic: mashable)

मौत पर बरकरार है ‘रहस्य’

राजकुमारी डायना और डोडी पेरिस में एक कार में सवार थे जब उनकी कार पौंट डे अलमा सुरंग में एक पोल से टकरा गई, जिसके कारण उनकी मौत हो गई थी.

डायना और डोडी पेरिस रिट्ज़ होटल से निकले ही थे कि जब कुछ पापाराजी (यानी स्वतंत्र फ़ोटोग्राफ़र जो बड़ी-बड़ी हस्तियों की तस्वीरें खींचते हैं और फिर अख़बार या मैगज़ीन को बेचते हैं) ने मोटरबाइक से उनकी कार का पीछा करना शुरू कर दिया.

उनसे बचने के लिए ड्राइवर ने कार की स्पीड बढ़ा दी थी, लेकिन टनल में कार अनियंत्रित होकर दुर्घटनाग्रस्त हो गई. उस वक्त चर्चा थी कि प्रिंसेस डायना और डोडी का अफेयर चल रहा है!

डोडी के अंगरक्षक इस हादसे में बच गए थे.

मौत की जांच के बाद ज्यूरी ने पाया कि पापाराजी, ड्राइवर का शराब पीकर गाड़ी चलाना और सीटबेल्ट का इस्तेमाल नहीं किया जाना उनकी मौत का कारण बने.

Floral Tributes to Diana Outside the Gates of her London Home (Pic: biography)

डायना के मौत के बाद कई खुलासे किए गए. जैसे मृत्यु के समय डायना प्रेग्नेंट थीं, डायना की मौत के पीछे ब्रिटिश आधिकारियों का हाथ था… आदि.

डायना को लेकर कई किताबें और फिल्में भी बनीं जिनमें डायना के जीवन की गुत्थी को सुलझाने की कोशिश की गई, पर कोई भी उनकी मौत की असली वजह नहीं खोज सका.

शायद आज भी कहीं ना कहीं डायना के जीवन के कई ऐसे पहुल हैं जो उनके साथ ही दफन हो गए थे.

Web Title: Story Of Princess Diana, Hindi Article

Featured Image Credit: ibtimes