वाइकिंग नाम सुनने में जिनता बढ़िया लगता है उतना है नहीं. यह एक ऐसे समुदाय का नाम था, जिनके आने की खबर भर से लोगों की रूह कांप जाया करती थी. इतिहास में बहुत से लुटेरे हुए, लेकिन कोई इनके जैसा क्रूर नहीं था. लूट के चक्कर में इन्होंने कितने लोगों को मारा इसका आंकड़ा नहीं मिलता. वह आंधी की तरह आते थे और तूफान की तरह लूट के बाद भाग जाते थे. तो आईये जरा नजदीक से जानने की कोशिश करते हैं इन बेरहम लुटेरों को:

शुरुआत से नहीं थे खूनी!

माना जाता है कि वाइकिंग (Link In English) का उदय डेनमार्क में हुआ था. उनकी आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं थी. वह बहुत गरीब थे. छोटे-छोटे कच्चे घरों में जैसे-तैसे वह अपना जीवन बसर करते थे. खेती ही जीविका का सहारा था. इस सबके बावजूद उनमें एक चीज थी, जो उन्हें सबसे अलग बनाती थी. वह थी उनकी निडरता. दैनिक जीवन की कठिनाईयों ने उनके शरीर और दिल दोनों को काफी कठोर बना दिया था.

शुरुआत में वाइकिंग लोग खून के प्यासे नहीं हुआ करते थे, लेकिन वक़्त ने उन्हें अलग ही मुकाम पर लाकर खड़ा कर दिया. वाइकिंग समंदर के पास रहने वाले लोग थे. इसलिए खेती के अलावा मछलियां पकड़ना उनकी जीविका का दूसरा बड़ा जरिया था. चूंकि, मछलियां पकड़ने के लिए उनको नाव चाहिए होती थी, इसलिए उन्होंंने नाव तैयार करने में भी महारत हासिल कर ली थी.

इसी बीच उनके अंदर तेजी से यह बात घर कर गई की वह ताकतवर हो चुके हैं. साथ ही वह नाव चलाने में भी माहिर हो चुके थे. उनके पास यह दो ऐसे हथियार थे, जिस का प्रयोग करके वह किसी को भी लूट सकते थे. बात मन में आई ही थी कि उन्होंने एक बार कोशिश करने का प्लान बना डाला और निकल पड़े अपनी पहली लूट की ओर…

The Rise And Fall Of Viking (Pic: history.com)

पहली लूट से मचा दिया तहलका

वाइकिंग ने अपनी पहली लूट के लिए इंग्लैंड को चुना. (Link In English) अपनी स्पेशल नाव में सवार होकर वह इंग्लैण्ड की तरफ निकल पड़े. उनके निशाने पर इंग्लैंड का एक ईसाई मठ था. (Link In English) वह मठ अपनी किताबों, कला और खजाने के लिए मशहूर था. उस जगह की सबसे बढ़िया बात थी कि वहां कोई सैनिक नहीं थे, जो उन्हें रोकते. इंग्लैंड की सीमा पर पहुंचते ही वाइकिंग ने अपना खूनी खेल शुरु कर दिया. वह मठ पहुंचने में कामयाब हो गये. वहां एक बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे. यह देखकर वह पागल से हो गये और उन्होंंने मठवासियों को मारना शुरू कर दिया.

मठवासी समझ पाते कि क्या हो रहा है इससे पहले वह लाशें बिछा चुके थे. उन्होंने मठ को पूरी तरह से तहस-नहस कर दिया. कुछ मठवासियों को वाइकिंग ने जिंदा छोड़ दिया था ताकि, वह उनकी ताकत के बारे में लोगों को बता सकें. उन्होंंने जमकर इस मठ को लूटा और जाते-जाते मठ के आस-पास की इमारतें जला दीं. इस लूट के बाद वाइकिंग का उदय हुआ, जिसके बाद उन्होंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा.

बढ़ता गया इनका खूनी खेल

अपनी पहली लूट के बाद वाइकिंग के हौंसले आसमान पर थे. उन्हें यह काम बहुत ही बढ़िया लगने लगा था. उनके हिसाब से इसमें मेहनत कम थी और फायदा ज्यादा. अपनी पहली जीत के बाद तो वाइकिंग का सिलसिला बहुत ही तेजी से बढ़ने लगा. वह किसी पागल हाथी की तरह बस आगे बढ़ते जा रहे थे और जो भी सामने आता उसे कुचलते जा रहे थे. अपनी पहली छोटी लूट के बाद उन्होंने उसे बड़ा करना शुरू कर दिया.

किसी को समझ नहीं आ रहा था कि खेती करने वाले वाइकिंग ने लूट का रास्ता क्योंं चुना? उनकी इस लूट ने उनके जीवन को एकाएक बदल दिया. उनकी नजर अब दूसरे देशों पर थी. इस लिहाज से उनके आसपास के देशों पर उनकी लूट का सबसे ज्यादा खतरा था. अभी तक वाइकिंग छोटी नावोंं का प्रयोग करते थे, लेकिन अपनी ताकत बढ़ाते हुए उन्होंंने पहली लूट के माल से बड़े जहाजोंं को बनाना शुरु कर दिया.

शुरु कर दी मानव तस्करी

धीरे-धीरे वाइकिंग लूटेरों की तरह नहीं, बल्कि एक हत्यारे समूह के तौर पर जाना जाने लगा. उन्होंने अपना लूट का दायरा भी बढ़ा दिया था. (Link In English) पहले तो वह आसपास की जगह पर ही जाया करते थे, लेकिन बाद में वह अनजान देशों तक पहुंचने लगे थे. कहा तो यहां तक जाता है कि कोलंबस से कई सालों पहले वाइकिंग अमेरिका के समुद्री तट तक पहुंच चुके थे. वह किसी भी अनजान रास्ते पर निकलना पसंद करते थे. उन्हें जो भी जगह पसंद आ जाती थी. वह वहां जाकर लोगों को मारते और लूटकर उन्हें कंगाल बना देते थे.

अपनी इस लूट के पीछे उन्होंने कई निर्दोषों को मौत के घाट उतार दिया. वाइकिंग लूट तो करते थे, लेकिन उन्होंने इसके साथ में मानव तस्करी भी शुरू कर दी थी. उनके बारे में कहा जाता है कि वह जहां भी लूट करते थे, वहां के कुछ लोगों को बंदी बना लेते थे. बाद में इन लोगों को वह अमीरों को बेच देते थे. अमीर इन्हें अपना दास बनाते थे. इस काम को करते-करते वाइकिंग के पास पैसों की कमी भी ख़त्म हो गई.

इस खूनी खेल में न तो वह अब किसी धर्म को मानते थे. न ही किसी समुदाय को. इंसानियत तो जैसे उनमें खत्म सी हो गई थी. उनके लिए उनकी ताकत और उनके लोग ही अब सबकुछ था.

The Rise And Fall Of Viking (Pic: imgur.com)

अपने ही तरीके से हुआ अंत

वक़्त के साथ वाइकिंग की दहशत बढ़ने लगी थी. अंग्रेजों को तो उन्होंने बहुत ही ज्यादा परेशान किया हुआ था. एक बार तो वह इंग्लैंड के काफी अंदर तक आ गए थे. वहां उन्होंंने जमकर आतंक मचाया. उनकी क्रूरता के आगे इंग्लैंड के लगभग सभी राजा हार चुके थे. अंग्रेजों और वाइकिंग के बीच जंग तो मानो एक आम अभ्यास हो चला था. सबके हौंसले पस्त पड़ चुके थे.

इसी बीच इंग्लैंड के एक राजा अल्फ्रेड ने वाइकिंग का सामना करने का साहस किया. शुरुआत से ही उन्होंंने वाइकिंग को कड़ी टक्कर दी. उन्होंने वाइकिंग को इंग्लैंड को कब्जाने से काफी लम्बे समय तक रोके रखा. धीरे-धीरे जैसे वक़्त गुजरा वाइकिंग की ताकत कमजोर होने लगी. अल्फ्रेड जान गया था कि वाइकिंग की कमियां क्या हैं. वह अब उन पर भारी पड़ने लगा था. थोड़ा ही वक़्त लगा और वाइकिंग पूरी तरह से उसके सामने पस्त पड़ गए. अल्फ्रेड ने वाइकिंग से इंग्लैंड का अधिकतर हिस्सा वापस ले लिया. वाइकिंग के पास भागने की कोई जगह बाकी नहीं थी. उन्हें अल्फ्रेड के हाथों अपनी हार नजर आने लगी थी. (Link In English)

और खत्म हो गया आतंक का खेल

वाइकिंग का दुश्मन उनसे ताकतवर हो चुका था. वह इस बात को मानने के लिए तैयार नहीं थे. वह बार-बार अल्फ्रेड से हारने के बाद भी लड़ने आ जाते थे. इसी कारण उनके लोग मरते रहे और वह कमजोर होते गये. अंत में जब उनके पास कोई चारा नहीं बचा तो उन्होंने जंग का ऐलान कर दिया. यह एक आखिरी जंग थी. इसमें हार के बाद वाइकिंग का नामोनिशान मिट जाने वाला था. वाइकिंग ने अल्फ्रेड के खिलाफ जंग शुरू की. वाइकिंग ने कोशिश तो बहुत की मगर वह अल्फ्रेड का कुछ नहीं कर पाए. जंग ख़त्म करने के लिए अल्फ्रेड ने वाइकिंग के राजा एरिक को जंग में मार डाला. माना जाता है उस दिन से वाइकिंग का खूनी राज ख़त्म हो गया था. लोगों के दिल में खूनी लुटेरों का डर खत्म हो गया और वाइकिंग गायब हो गए.

आज भी इतिहास में वाइकिंग को किसी अच्छे काम के लिए नहीं, बल्कि अपनी क्रूरता के लिए ही जाना जाता है.  जिस खूनी खेल को उन्होंने शुरु किया था, अंतत: उसका ही उसे शिकार होना पड़ा.

Web Title: The Rise And Fall Of Viking, Hindi Article

Keywords: Viking, Vikings, Pirate, Thief, Robbers, History, History TV, Fighter, England, Historic, Cruel Warrior, Denmark, Thor, Loki, England, British, Britain, War, Power, Fishing, Traders, Farmers, Blood Thirsty, Stole, Treasure, Monk, Monastery, Christian, Vikings Battle, King Alfred, Rise Of Power, Hindi Article, The Rise And Fall Of Viking

Featured image credit / Facebook open graph: rebrn.com