कॉलेज फ्रेंड, प्रेमी, पति-पत्नी या बिजनेस पार्टनर... अमित और मिशा गुड़ीबंडा की इस कमला की जोड़ी को किस रिश्ते का नाम दें, समझ नहीं आता है. इन दोनों ने हर रिश्ते को बखूबी निभाया है. 

इतना ही नहीं बिजनेस पार्टनर के रूप में शुरू किया गया इनका स्टार्टअप Sky Goodies आज हैंडमेड क्राफ्ट की दुनिया में काफी नाम कमा रहा है. पेशे से अमित और मिशा दोनों ही डिज़ाइनर हैं और आज अपनी इस कला के कारण ही यह लोगों के बीच प्रसिद्ध हुए हैं. 

रंगबिरंगे कागज़ से बने इनके क्राफ्ट आज पांच साल के बच्चे से लेकर 50 साल के बुजुर्ग तक को लुभाते हैं. लोग अपने घर से लेकर ऑफिस तक इन पेपर क्राफ्ट का इस्तेमाल करते हैं. 

स्टार्टअप की दुनिया में अमित और मिशा ने एक बिलकुल ही नई पहल की है. आखिर कैसे उन्होंने अपने एक आईडिया को हकीकत बनाया चलिए जानते हैं–

लाइफ पार्टनर से बिजनेस पार्टनर तक...

अमित और मिशा की कहानी की शुरुआत होती है एक डिज़ाइन कॉलेज से. दोनों ही कला प्रेमी थे और डिज़ाइन कॉलेज में अपने इस कला प्रेम को और भी बेहतर करने गए थे. 

जहां अमित प्रोडक्ट डिज़ाइन सीख रहे थे, वहीं दूसरी ओर मिशा ग्राफ़िक डिज़ाइन की पढ़ाई कर रही थीं. दोनों अलग-अलग चीज की पढ़ाई कर रहे थे मगर उनकी किस्मत में तो एक होना लिखा था. 

जैसे-कैसे अमित और मिशा की कॉलेज में एक दूसरे से मुलाक़ात हो ही गई. यूँ तो ये मुलाक़ात बहुत आम थी मगर दोनों पर ही इसका बहुत गहरा असर हुआ. असर कुछ ऐसा हुआ कि पहले दोस्ती और फिर सिलसिला प्यार तक आया गया. 

प्यार जब परवान चढ़ा तो दोनों ने ही यह तैय किया कि अब उन्हें शादी कर लेनी चाहिए. यह सोचने के कुछ वक्त बाद ही दोनों शादी के बंधन में भी बंध गए. इसके साथ ही दोनों ने एक दूसरे के साथ एक नया रिश्ता भी शुरू किया. 

अमित और मिशा ने अपनी इस जोड़ी को सिर्फ पति-पत्नी की जोड़ी तक ही सीमित नहीं रहने दिया. शादी करने के बाद दोनों ने एक फैसला और लिया. यह फैसला था, खुद की एक कंपनी खोलने का, जिसके जरिए अमित और मिशा बिजनेस पार्टनर के तौर पर एक नई शुरुआत करना चाहते थे. 

दोनों ने ही इस फैसले को गंभीरता से लिया और 2006 में अपनी कंपनी को शुरू किया. इसके बाद दोनों ही अपने-अपने डिज़ाइन के ज्ञान को इस्तेमाल करके क्लाइंट के लिए लाजवाब चीजें बनाने लगे. 

अमित और मिशा को हमेशा से यह विश्वास था कि आने वाले वक्त में डिज़ाइनिंग की दुनिया काफी बड़ी होने वाली है. अपने इस विचार के साथ ही उन्होंने अपना काम भी जारी रखा. 

In 2006 Amit & Misha Started Their Design Firm (Pic: neocha)

शुरू हुआ Sky Goodies का सिलसिला

2006 से 2013 तक अमित और मिशा अपनी ग्राफ़िक डिजाइनिंग की कंपनी चलाते रहे. काम बहुत ही बढ़िया चल रहा था और लगातार ग्रोथ भी हो रही थी. हालांकि, दोनों काम तो कर रहे थे मगर उन्हें उसमें कुछ कमी लग रही थी...

दोनों ही कुछ ऐसा काम करना चाहते थे जिससे उनके दिल को खुशी मिलें. इसलिए उन्होंने 2013 में अपने काम से ब्रेक ले लिया ये सोचने के लिए कि आखिर वह अब किस तरह के डिज़ाइन पर काम करें. 

वह कुछ ऐसा बनाना चाहते थे कि जिसे देख लोग उनकी पहचान करें. जिसे हर कोई इस्तेमाल कर सके. एक ऐसा डिज़ाइन प्रोडक्ट, जिसे देखकर हर कोई कहें कि यह अमित और मिशा का काम है. 

नए डिज़ाइन का आईडिया सोचते हुए उन्हें ख्याल आया DIY या कहें Do It Yourself क्राफ्ट बनाने का. DIY से मतलब है एक ऐसा क्राफ्ट, जिसे कोई भी अपने हाथों से बना सके और जो दिखने में भी आकर्षक हो. 

भारत में DIY प्रोडक्ट्स का कोई ख़ास मार्किट भी नहीं था. इसलिए उन्होंने फैसला किया कि अब वह इसपर ही काम करेंगे. 

इतना ही नहीं उन्होंने इसे ई-कॉमर्स की दुनिया से भी जोड़ने का भी फैसला किया और DIY प्रोडक्ट को एक गिफ्ट के रूप में भी लोगों के सामने पेश करनी की ठानी.

इसके बाद उन्होंने अपनी कंपनी का नाम रखा Sky Goodies. इस नाम में Sky से मतलब है अमित और मिशा की आजादी. वहीं दूसरी ओर Goodies को उनके उपनाम गुड़ीबंडा से प्रेरित होकर रखा गया है. 

फिर उन्होंने शुरू किया वह बिजनेस, जो आज हैंडमेड क्राफ्ट की दुनिया में शिखर पर है. 

They Started Sky Goodies With The Idea Of DIY Craft (Pic: peppermintpattys-papercraft)

Sky Goodies में सब के लिए है कुछ न कुछ 

अमित और मिशा ने DIY प्रोडक्ट्स बनाने की इसलिए सोची क्योंकि ये हर उम्र के व्यक्ति के काम आता है. छोटा बच्चा हो या कोई बुजुर्ग हर कोई इन हैंडमद क्राफ्ट को इस्तेमाल कर सकता है. यही चीज इनके बिजनेस की असली जान भी बनी. 

जहां मार्किट में सिर्फ बच्चों के लिए पेपर क्राफ्ट बनाए जा रहे थे, वहीं दूसरी ओर Sky Goodies ने बड़े लोगों को ध्यान में रखकर भी प्रोडक्ट बनाए. इतना ही नहीं लोगों ने उनके ये प्रोडक्ट दिल से पसंद भी किए. 

थोड़े ही समय में मुंबई के लोगों के बीच Sky Goodies एक पॉपुलर नाम बन गया. अमित और मिशा ने 'पेपर' को अपना असली हथियार बनाया! 

उन्होंने पेपर से ऐसे क्राफ्ट बनाए, जिन्हें लोग अपने हाथों से बिना किसी और उपकरण की सहायता के बना सकें. इतना ही नहीं, जब वो क्राफ्ट पूरे हो जाते हैं, तो वह एक आकर्षक डिज़ाइन के रूप में सामने आते हैं. उन डिज़ाइन को कहीं भी सजावट के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है. 

इंटरनेट से जुड़ने के बाद तो Sky Goodies पहले से भी ज्यादा प्रसिद्ध हो गया. ज्यादा से ज्यादा लोग इनके प्रोडक्ट इस्तेमाल करने लगे. सिर्फ बिजनेस ही नहीं हैंडमेड क्राफ्ट के कारण अमित और मिशा का नाम भी बढ़ता गया.

लोगों के बीच आज उनकी एक अलग ही पहचान है. आज उन्हें उनके नाम और काम दोनों के कारण जाना जाता है. Sky Goodies आज ऊंचाइयों पर है.

Sky Goodies Product Is For Everyone and Every Age (Pic: skygoodies)

अमित और मिशा के पेपर क्राफ्ट जो भी देखता है वह उनका दीवाना हो जाता है. यह हर किसी का दिल जीत लेते हैं और इन्हें देख सबके चेहरों पर मुस्कान आ जाती है. वाकई में अमित और मिशा अपने हाथों की कला से लोगों के बीच खुशियाँ बाँट रहे हैं.

WebTitle: How Amit & Misha Gudibanda Become Famous Handmade Craft Dealer, Hindi Article

This article is about Amit & Misha Gudibanda who made a breakthrough in the DIY industry with their handmade paper craft products

Feature Image: skygoodies