राहुल गांधी को भारतीय राजनीति में यूं तो कोई सीरियसली नहीं लेता है और जबसे उन्होंने अर्नब गोस्वामी को यूथ एम्पावरमेंट और वीमेन एम्पावरमेंट के बारे में डिटेल में समझाया है, तबसे राहुल गाँधी के इंटरव्यू की तो कोई पत्रकार सोच भी नहीं सकता.
पर अपने बच्चा भैय्या आशावान हैं और जब राहुल गाँधी ने गीता और उपनिषद पढ़कर संघी राजनीति समझने वाला बयान दिया, ठीक तभी से बच्चा भैय्या को उम्मीद जग गयी कि ‘बन्दे में है दम’… आखिर, गीता से जब अर्जुन अपना गांडीव उठा सकते हैं तो फिर राहुल गाँधी क्या चीज हैं.साक्षात्कार के लिए बच्चा भैय्या ने निवेदन भेजा तो तत्काल स्वीकृत हो गया, पर जब वह इंटरव्यू लेने पहुंचे तो पता चला राहुल बाबा ‘मंदसौर’ गए हैं, जहाँ किसानों पर सरकारी गोलियां चली हैं. इंटरव्यू अगले हफ्ते के लिए पोस्टपोन हो गया. खैर, अगले हफ्ते बच्चा भैय्या पहुंचे तो राहुल गांधी की आँखें गीली थीं. बच्चा भैय्या को लगा, मध्य प्रदेश के किसानों का दर्द देख आये हैं तो दुःख होना लाजमी है. पर इंटरव्यू तो करना ही था… तो शुरू किया पहले प्रश्न से:

बच्चा भैय्या: आप की आँखें गीली हैं. वैसे शिवराज सरकार ने किसानों पर बड़ा अत्याचार किया…
राहुल बाबा (बात काटते हुए): अरे नहीं, मम्मी किचेन में प्याज काटना बता रही थीं, उसी से आँखों में आंसू आ गए हैं. वो किसानों की बात तो पुरानी हो गयी… चलता है यह सब. क्या तुम्हारा था, क्या हमारा है, सब मोहमाया है. गीता में लिखा है बच्चा भैय्या. पढ़ो कभी, बढ़िया किताब है.

बच्चा भैय्या: अरे हाँ, गीता में तो वाकई यही है. और आप तो पढ़ भी रहे हैं आजकल?
राहुल बाबा: हाँ, पढ़ना पड़ा. वैसे तो पढ़ाई-लिखाई से मेरा दूर-दूर का नाता है. (फुसफुसाते हुए) वो सुब्रमण्यम स्वामी पकड़ लेगा तो कहेगा कि मुझे चपरासी की नौकरी भी नहीं मिलेगी. खैर, उसे ही कौन वित्तमंत्री बना रहा है. गीता तो मुझे इसलिए पढ़ना पड़ा, क्योंकि नफरत की भाजपाई राजनीति का जवाब देना है मुझे. देखा आपने, कैसे मध्य प्रदेश में किसानों की छातियाँ सरकारी गोलियों ने चीर डाली. गीता-उपनिषद पढ़कर ही नफरत की राजनीति का जवाब दूंगा मैं! हाँ.

बच्चा भैय्या: पर मध्यप्रदेश में तो आपकी पार्टी के ही बड़े नेता थाना फूंकने को कहते हुए पकड़े गए हैं? ये कौन सी प्यार वाली राजनीति है?
राहुल बाबा: किसानों के साथ हैं हम. पुलिस किसानों पर गोलियां चला रही है. अब बताइये, यहाँ थाना फूंकने की बात करना क्या गलत है? किसानों, जवानों को मारा जाता रहेगा और हम चुपचाप गांधीगिरी कैसे कर सकते हैं. म..मतलब हम आधुनिक गांधीगिरी करेंगे. गांधीजी के सिद्धांतों पर चलेंगे हम.

बच्चा भैय्या: गांधीजी के सिद्धांतों पर? पर वह तो अहिंसा के पक्षधर थे. थाना जलाने पर तो उन्होंने अपना आंदोलन तक वापस ले लिया था?
राहुल बाबा: हम भी तो वही कर रहे हैं. कांग्रेस पार्टी सत्ताधारी पार्टी से मात्र 44 सीटों पर आ गयी, पर हमने कभी कुछ कहा तो नहीं. अब कई लोग बोल रहे हैं कि 44 से 4 सीटों पर हम पहुँच जायेंगे. मैं, यानि राहुल गांधी प्रतिज्ञा करता हूँ कि तब भी किसी को कुछ नहीं कहेंगे. कांग्रेस ख़त्म हो जाएगी, तब भी हम कुछ नहीं कहेंगे. पर मैं भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से बहुत नाराज हूँ.

बच्चा भैय्या: अमित शाह से आप बहुत नाराज क्यों हैं?
राहुल बाबा: राजनीति में दशक भर से ज्यादा समय हो गया मुझे आये, पर किसी कार्य को करने का श्रेय नहीं मिला मुझे. बापू की बताई राह पर चलकर कांग्रेस को ख़त्म करने का कार्य मैं कर ही रहा था कि अमित शाह ने ‘चतुर बनिया’ कह कर गांधीजी को उसका श्रेय देने की कोशिश की. आखिर इस कार्य का श्रेय तो मुझे मिलना ही चाहिए. मिलना चाहिए कि नहीं… आप ही बताइये (इतना कहकर राहुल सुबकने लगते हैं).

बच्चा भैय्या: अरे आप ‘भावुक’ मत होइए. अमित शाह तो केवल रुलाना जानते हैं. उधर आडवाणी को रुला रहे हैं, इधर आप को. पर गीता में लिखा है कि…
राहुल बाबा (बात काटते हुए): हाँ, हाँ, गीता में लिखा है कि मनुष्य को ‘स्थितप्रज्ञ’ होना चाहिए. पर इतना भी कोई हर्ट करता है क्या? मैंने अपने मन की कभी नहीं की, बल्कि पार्टी, मम्मी और देश की जरूरत के लिए खुद को समर्पित कर दिया. पर लोग मेरा मजाक ही उड़ाते रहते हैं. मम्मी ने कहा ‘पॉलिटिक्स’ करो, किया… दिग्विजय ने कहा ‘कूटनीति’ करो, उसकी भी कोशिश की… वाड्रा जीजाजी ने कहा ‘किसानों’ से जुड़ो, वहां भी गया और जयराम रमेश ने कहा ‘गीता-उपनिषद’ पढ़ो, वह भी पढ़ रहा हूँ. अब क्या करूँ मैं. तुम ही बताओ बच्चा भैय्या, क्या करूँ मैं… (ज़ोर ज़ोर से रोने लगते हैं).

बच्चा भैय्या: ऐसे मत रोइये प्लीज… मैं भी भावुक हो जाऊंगा. बहुत लोगों की किस्मत शादी के बाद बदलती है, तो आप शादी क्यों नहीं कर लेते?
राहुल बाबा (चेहरे पर लाली लाते हुए): मम्मी मना कर देती हैं. कहती हैं, पहले अपने पैरों पर खड़े हो जाओ, फिर शादी की बात कहना. अब तुम ही बताओ बच्चा, अपने पैरों पर मैं खड़ा नहीं हूँ क्या (खड़े होकर दिखलाते हैं)?

बच्चा भैय्या: बिल्कुल, बिल्कुल… आपको किसी लड़की से प्यार करना चाहिए. अपनी बहन प्रियंका की मदद ले सकते हैं आप?
राहुल बाबा: जीजाजी दीदी को मना कर देते हैं. दीदी तो बहुत अच्छी हैं, पर जीजाजी मेरा घर बसने नहीं देना चाहते हैं. एक दिन मम्मी को भी भड़का रहे थे अभी राहुल की उमर ही क्या हुई है. पर मैं दीदी को बोलूंगा इस बार कि अपनी किसी सहेली से मेरा… ही ही ही 🙂

बच्चा भैय्या: अपनी दीदी से कांग्रेस पार्टी के सुधार में भी मदद ले लीजिये?
राहुल बाबा: मम्मी मना कर देती हैं. कहती हैं मेरा पत्ता कट जायेगा, इसलिए दीदी को ज्यादा चूं चपड़ करना मना है.

बच्चा भैय्या: सब कुछ मम्मी ही करेंगी तो आप क्या करेंगे? अरे कुछ सीखिए, यूपी के लड़के ‘अखिलेश‘ से…
राहुल बाबा: ही ही ही. हाँ, उसी से तो सीखा था और यूपी में योगी जी आ गए. आप चाहते हैं कि हम भी इधर के न रहें न उधर के.

बच्चा भैय्या: पर, नेता तो बन जायेंगे आप? चुनावी जीत हार तो चलती ही रहती है.
राहुल बाबा: नेता बन के क्या उखाड़ेंगे? तुम पत्रकार हो न, राजनीति नहीं समझोगे. देखना, एक दिन यही जनता मजाक उड़ाते उड़ाते मेरा राजतिलक… आ हा हा हा. क्या सपना है.

बच्चा भैय्या: छोड़िये, दिन में सपने देखना. 2019 का क्या प्लान है आपका? देश को आखिर एक मजबूत विपक्ष चाहिए ना?
राहुल बाबा: थानों में… म.. मतलब मोदी सरकार से जनता नाराज होगी और यही प्लान है हमारा. और तुम मेरे इंटरव्यू में मेरा मजाक मत उड़ाना.. मम्मी बहुत डाँटेंगी. यू नो… अर्नब एपिसोड के बाद मुझे कितनी डांट पड़ी थी. तब तक गीता के कुछ और अध्याय ख़त्म करता हूँ, तो कुछ और सॉलिड निकल कर आएगा.  फिर मजबूत विपक्ष के लिए सोचेंगे. पहले गीता-अध्ययन!!

अरे नहीं, आपका मजाक भला दूसरा कौन उड़ा सकता है. म… म… मतलब ये बच्चा भैय्या तो बिल्कुल भी नहीं. कहते हुए, बच्चा भैय्या सोच रहे थे कि वाकई ‘गीता-ज्ञान’ का कुछ असर पड़ा है राहुल बाबा पर कि नहीं? आप क्या सोचते हैं, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं.

Web Title: Rahul Gandhi Exclusive Interview by Bachcha Bhaiyya, Fake Exclusive

Keywords: Indian Democracy, Rahul Gandhi, Congress Party, Sonia Gandhi, Priyanka Gandhi Robert Vadra, Gandhi Family, Mahatma Gandhi, Chatur Baniya, Rahul Gandhi Marriage, 2019 Plan of Rahul Gandhi, Political Jokes, Controversy, Journalist Bachcha Bhaiyya, Sakshatkar, Hindi Satire, Bachcha Bhaiya, Controversial Hindi Articles, Exclusive Interview, Fake Talk in Hindi

Featured image credit / Facebook open graph:  Team Roar / Kajal Kumar