यूं तो भारतीय क्रिकेट टीम विराट कोहली और महेंद्र सिंह धोनी जैसे सितारों से सजी हुई है, लेकिन एक खिलाड़ी ऐसा है, जो अपनी आक्रामकता और आत्मविश्वास के लिए मशहूर है. छक्के तो वह ऐसे मारता है, मानो यह बहुत आसान होता है. उसके लिए इससे बड़ा कम्पलीमेंट क्या होगा कि अंतिम ओवरों में अगर विराट भी बैटिंग कर रहे हों, तो लोग उनके आउट होने की कामना करने लगते हैं, ताकि उन्हें इस खिलाड़ी के तूफान को देखने का मौका मिल सके. जी हां, यहां बात हो रही है वेरी-वेरी टैलेंटेड ऑलराउंडर हार्दिक पांडया की.

हाल ही में श्रीलंका के खिलाफ गॉल टेस्ट में तीसरा टेस्ट मैच खेलते हुए हुए पांड्या ने नया रिकॉर्ड रच दिया. 93 गेंदों पर 108 (Link in English) रन की इस पारी को क्रिकेट के चाहने वाले लंबे समय तक याद रखेंगे. कोई याद रखे या न रखे कम से कम श्रीलंकाई गेंदबाज़ पुष्पकुमारा तो नहीं ही भूल पायेंगे. हार्दिक ने उनके एक ओवर में 26 रन कूटकर लोगों को अपनी कुर्सियों पर खड़ा होने के लिए मजबूर कर दिया था. बताते चलें कि यह एक रिकॉर्ड है और हार्दिक ऐसा करने वाले पहले भारतीय हैं.

इससे पहले उन्होंने चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में 43 गेंद में 76 रन की पारी खेलकर पाकिस्तान की टीम को सकते में डाल दिया था. दुर्भाग्य से वह रन आउट हुए और भारत वह मैच नहीं जीत पाया था, लेकिन हार्दिक सभी का दिल जीतने में जरुर कामयाब रहे थे. 20-20 फार्मेट में भी उनके बल्ले की हनक कुछ ऐसी ही देखने को मिलती है.

इसमें दो राय नहीं कि हार्दिक ने यहां तक पहुंचने के लिए एक लंबा रास्ता तय किया है. तो आईये आज उनके सफरनामे पर एक नज़र डालने की कोशिश करते हैं:

अभावों में बीता बचपन

पांड्या का जन्म गुजरात के सूरत में एक आम परिवार में हुआ. पिता का एक छोटा-मोटा व्यापार (Link in English) था, जिससे परिवार का खर्च चल जाता था. बड़ा भाई क्रूनाल खेल में अच्छा था, इसलिए वह क्रिकेट के लिए अभ्यास करता था. हार्दिक ने भी भाई के साथ शौकियां तौर पर खेलना शुरु कर दिया. एक दिन दोनों भाई खेल रहे थे, तभी पूर्व भारतीय क्रिकेटर किरण मोरे की नज़र उन पर पड़ी. उन्होंंने उनके कौशल को पहचाना और उनके पिता से कहा कि उनके बेटों में हुनर है, इसके लिए आपको बड़ौदा शिफ्ट हो जाना चाहिए. पिता ने मोरे की बात को संजीदगी से लिया और बड़ौदा शिफ्ट हो गये.

बड़ौदा आते ही हार्दिक एक नई राह पर चल पड़े. मोरे की अकादमी में वह अपने भाई के साथ नियमित रुप से अभ्यास के लिए जाने लगे. आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं थी, इसलिए मोरे ने उनको नि:शुल्क सिखाया. सब कुछ पटरी पर था. वह खुद को पूरी तरह से क्रिकेट लिए सौंप चुके थे. यहां तक कि वह 9वीं की परीक्षा तक नहीं पास कर पाये थे. पढ़ने के लिए उनके पास टाइम जो नहीं बचा था. लगने लगा था कि अब सब बढ़िया हो जायेगा.

तभी अचानक उनके पिता का दिल का दौरा पड़ने की वजह से मौत हो गई. पिता के जाने के बाद उनकी मां भी बीमार रहने लगी थी. ऐसे में हार्दिक और क्रूनाल पर ही सीधे तौर पर परिवार की जिम्मेदारी थी. वह इतने पढ़े-लिखे नहीं थे कि कहीं अच्छी नौकरी मिल पाती, इसलिए उन्होंने क्रिकेट की ही अपनी आमदनी का जरिया बना डाला. वह गुजरात के गांवों में होने वाले स्थानीय टूर्नामेंटों में किसी भी टीम के लिए खेलने के लिए 400 रुपये चार्ज करने लगे. वहीं उनके भाई क्रूनाल 500 रुपये लेते थे. इसका खुलासा उन्होंंने खुद एक साक्षात्कार में किया था. इसी से उनका खर्चा-पानी चल जाता था.

Zero to Hero Hardik Pandya with his Brother Krunal (Pic: quora.com)

‘सैयद मुश्ताक अली’ ट्राफी से चमके

मुश्किलों के बावजूद हार्दिक ने क्रिकेट को नहीं छोड़ा. वह पूरी मेहनत से लगे रहे. यही कारण रहा कि उन्हें जल्द ही बड़ौदा टीम के लिए तैयार किया जाने लगा. वह अपने कोच और चयनकर्ताओंं की उम्मीद पर खरे उतरे. वह बड़ौदा के लिए न सिर्फ खेले बल्कि उसे सैयद मुश्ताक अली ट्राफी का खिताब भी दिलाया. अंतिम मुकाबले में उन्होंने अपने प्रदर्शन से सभी को प्रभावित किया. जल्द ही हार्दिक आईपीएल 2015 के आगामी सीजन के लिए मुंबई इंडियंस के लिए खेलते दिखे.

इस सीजन में उनके आलराउंडर के रूप में अपने कौशल को दिखाना शुरू किया. इस सीजन मे चेन्नई सुपरकिंग्स के खिलाफ 8 गेंदों पर 21 रन ठोककर बता दिया कि वह किसी से कम नहीं हैं. इसी सीजन में उन्होंने केकेआर के खिलाफ 31 गेंदों पर 61 रन बनाकर मुंबई को जीत दिलाने का काम किया.

इंटरनेशनल 20-20 से टीम में इंट्री

माना जाता है कि इसी मैच के बाद सचिन ने उनसे कहा था कि आप एक बेहतर खिलाड़ी हैं. उम्मीद है कि आने वाले दिनों में आप भारतीय टीम के लिए खेलेंगे. सचिन की भविष्यवाणी सच हुई और हार्दिक भारतीय क्रिकेट टीम का हिस्सा बनने में कामयाब रहे. 2016 में जब भारतीय टीम इंटरनेशनल 20-20 श्रृंखला (Link in English) के लिए ऑस्ट्रेलिया गई, तो वह टीम के साथ गये. वहां उन्होंने अपने पहले मुकाबले में क्रिस लिन जैसे दिग्गज को अपना पहला शिकार बनाया. आगे श्रीलंका के खिलाफ उन्होंने अपने बल्ले का दम भी दिखाया.

हार्दिक का शानदार प्रदर्शन जारी रहा. इसी कड़ी में भारतीय टीम बांग्लादेश के खिलाफ अपना मुकाबला खेल रही थी. यह मैच जीतना टीम के लिए बहुत महत्वपूर्ण था, लेकिन भारत की स्थिति अच्छी नहीं थी. कप्तान ने इस युवा पर भरोसा जिताया और गेंद सौपी. हार्दिक इस अग्नि परीक्षा में भी सफल रहे. उन्होंने अपने ओवर में दो विकेट लेकर मैच भारत के नाम कर दिया. भारत ने यह मुकाबला महज 1 रन से जीता था.

Hardik Pandya in IPL (Pic: firstpost.com)

पहले वन-डे, फिर टेस्ट में रहे हिट

हार्दिक के शानदार प्रदर्शन को चयनकर्ता नजऱअंदान नहीं कर सके. उन्हें 2016 में वन-डे टीम (Link in English) के लिए चुन लिया गया. उन्होंने अपना जलवा यहां भी कायम रखा. यहां न्यूजीलैंड के खिलाफ 3 विकेट लेकर उन्होंने खुद को साबित किया. अपने पहले ही एक दिवसीय मैच में वह ‘मैन ऑफ द मैच’ का खिताब पाने में सफल रहे. बताते चलें कि वह किसी भी चैंपियंस ट्रॉफी के खेल में सबसे तेज अर्धशतक बनाने वाले बल्लेबाज हैं. उन्होंने सिर्फ 32 गेंद में अपना पचासा चड़ दिया था.

गॉल टेस्ट में भारत और श्रीलंका के बीच खेल जा रहे पहले टेस्ट में हार्दिक पांड्या पर कप्तान कोहिला ने भरोसा जताया तो उन्होंने बता दिया कि वह इस फार्मेट में खेल सकते हैं. उन्होंने अपने डेब्यू मैच की पहली ही पारी में पचासा ठोक कर दुनिया को अपना दीवाना बना दिया. हार्दिक ने अपनी इस 50 रन (Link in English) की पारी में तीन छक्के लगाए थे. आपको जानकर खुशी होगी कि ऐसा कारनामा करने वाले वह भारत के पहले बल्लेबाज बन गए हैं.

Hardik Pandya Champions Trophy (Pic: espncricinfo.com)

बतौर आलराउंडर हार्दिक का अभी तक का सफर शानदार रहा है. यही कारण है कि उनके खेल का हैंगओवर लोगों के सिर पर चढ़कर बोल रहा है. उम्मीद है उनका यह प्रदर्शन आगे भी ऐसे ही जारी रहेगा. वह अपनी गेंदबाजी और लंबे-लंबे छक्कों से सभी का मनोरंजन करते रहेंगे. साथ ही टीम इंडिया को हर फारमेट में क्रिकेट के नए शिखर पर ले जाने के लिए अपना योगदान देते रहेंगे.

Web Title: People Want to Enjoy Hardik Pandya’s Batting in Last Overs , Hindi Article

Keywords: Hardik Pandya, Hardik Pandya Debut, Hardik Pandya Sixes, India Vs Sri Lanka Test Series, Team India, Hardik Profile in Hindi, Hardik Biography in Hindi, Cricket Player Hardik Pandya Sharma, Indian cricket Team, Indian Premier League, Mumbai Indians,  Hardik Pandya on Indian Test Team, Middle-Order Player  Hardik Pandya, Sixes of  Hardik Pandya

Featured image credit / Facebook open graph: youtubecrickettrolls