अगर आपसे पूछा जाए कि ज्वालामुखी क्या होता है, तो आप कहेंगे कि ज्वालामुखी एक पहाड़ होता है, जिसके नीचे पिघले लावा का तालाब होता है. जब पृथ्वी के नीचे ऊर्जा से पत्थर पिघलते हैं तब जमीन के नीचे से ऊपर की ओर दबाव बढ़ता है और पहाड़ ऊपर से फटता है, जो ज्वालामुखी कहलाता है. अगर फिर पूछा जाए कि कभी आपने ज्वालामुखी को फटते देखा है तो शायद आपका जवाब होगा नहीं. तो आइये हम आपको कुछ ऐसे ज्वालामुखियों के बारे में बताते हैं, जिनके नाम भर सुनने से लोगों के रोंगटे खड़े हो जाते हैं:

माउंट मेयन

माउंट मेयन ज्वालामुखी फिलीपींस का सबसे सक्रिय ज्वालामुखी माना जाता है, यह फिलीपींस की राजधानी मनीला से 450 किलोमीटर दक्षिण पूर्व में स्थित है. 2014 में इस ज्वालामुखी के फटने से हजारों लोगों ने इस द्वीप को छोड़ दिया था. यह ज्वालामुखी एक कोन के भांति दिखता है जिसमें कई ओर से ज्वालामुखी का लावा निकलता रहता है. इस ज्वालामुखी को देखने के लिए दुनिया भर से पर्यटक आते हैं. 1814 के विस्फोट में नष्ट हुआ सेंट फ्रांसिस का चर्च जिसका स्टोन टावर कहते हैं, दर्शकों के आकर्षण का केंद्र होता है.

Famous Volcano of India and World, Mount Mayon Phillipines (Pic: wikipedia)

सैंटोरिनी

वास्तव में सैंटोरिनी एक खूबसूरत द्वीप है, जो ग्रीस के काल्डेरा का बचा हुआ अवशेष माना जाता है. इस ज्वालामुखी के आस-पास अब सफ़ेद इमारतों का ही नजारा दिखाई देता है. कहा जाता है कि 1600 ईसा पूर्व इस ज्वालामुखी के फटने से पूरा का पूरा द्वीप साफ़ हो गया था. इन दिनों सैंटोरिनी उन पर्यटकों को लुभा रहा है जो इस ज्वालामुखी के इतिहास को जानने में रूचि रखते हैं. यहां के आस-पास के द्वीपों का सब कुछ तबाह होने के बावजूद भी इसकी खूबसूरती को देखने के लिए पर्यटक बड़ी संख्या में आते रहते हैं.

माउंट किलिमानजारो

तंजानिया में स्थित यह ज्वालामुखी अफ्रीका का सबसे ऊंचा पर्वत माना जाता है. बता दें कि इसके अतिरिक्त यहां पर तीन और ज्वालामुखी मावेनजी, शीरा और किबो हैं, जिसमें मावेनजी और शीरा निष्क्रिय हो गए हैं, जबकि किबो अब भी सक्रिय माना जाता है. यह ज्वालामुखी पृथ्वी पर सबसे लंबी दूरी तक फैला है. इस ज्वालामुखी को देखने के लिए पूरे विश्व से लोग आते हैं. इस ज्वालामुखी के आस-पास स्थानीय जीव-जंतु भी अधिक संख्या में पाए जाते हैं.

Famous Volcano of India and World, Mount Kilmanjaro (Pic: alpineascents)

माउंट केलिमुटु

फ्लोरेस द्वीप में मोनी शहर के करीब में स्थित यह ज्वालामुखी इंडोनेशिया का सबसे प्रसिद्ध ज्वालामुखी माना जाता है. इस ज्वालामुखी के साथ यहां तीन और रहस्यमयी ज्वालामुखी भी हैं, जिसका रहस्य आज भी बरकरार है. कहा जाता है कि एक हरा दिखता है तो दूसरा गहरा लाल और तीसरा काला दिखाई देता है. इसके विषय में वैज्ञानिकों का मानना है कि ज्वालामुखी के ठीक सामने बनी एक झील के रासायनिक प्रतिक्रियाओं के चलते ऐसा होता है.

Famous Volcano of India and World, Mount Kelimut (Pic: trover)

माउंट फ़्यूजी

जापान का यह ज्वालामुखी दुनिया का सबसे प्रसिद्ध और सक्रिय ज्वालामुखी माना जाता है, और इसके साथ यह जापान का सबसे ऊंचा पर्वत भी है. इसका जापान की संस्कृति में बड़ा महत्व है. जापान के होन्शु द्वीप पर स्थित यह ज्वाला मुखी अपनी कलात्मक बनावट के कारण बहुत प्रसिद्ध माना जाता है. यह ज्वालामुखी दुनिया के सक्रिय ज्वालामुखी में गिना जरूर जाता है, लेकिन 1707 के बाद कभी इसका विस्फोट नहीं हुआ.

Famous Volcano of India and World, Mount Fuji (Pic: japan)

माउंट विसुवियस

दुनिया के सबसे प्रसिद्ध ज्वालामुखियों में से एक माउंट विसुवियस ज्वालामुखी विसुवियस नेशनल पार्क में स्थित है. इस ज्वालामुखी का गुस्सा अंतिम बार 1944 में फूटा था, जिसमे हजारों लोग मारे गए थे. हादसे की कटु यादों को यहां के लोग आज भी नहीं भूले हैं. वो तो इटली इतना खूबसूरत देश है कि इतने विनाशकारी अतीत के बाद भी लोग यहाँ आने के लिए आतुर रहते हैं.

Famous Volcano of India and World, Mount Vesuvius (Pic: apetcher)

माउंट एटना

माउंट एटना दुनिया के सक्रिय ज्वालामुखियों में एक माना जाता है. अभी हाल ही में यह ज्वालामुखी पिछले दिनों सक्रिय हुआ था, जिसके चपेट में आने से कई लोग झुलस गए थे. यह ज्वालामुखी सिसली द्वीप के पूर्वी तट पर मौजूद है. इस ज्वालामुखी की ऊंचाई तक़रीबन 3329 मीटर है. यूनेस्को ने इसे अपनी विश्व धरोहर की सूची में स्थान दिया है.

Famous Volcano of India and World, Mount Etna (Pic: italia)

माउंट सेंट हेलेन्स

अमेरिका के वाशिंगटन में स्थित यह ज्वालामुखी अमेरिका का सबसे प्रसिद्ध और सक्रिय ज्वालामुखी माना जाता है. यह ज्वालामुखी अंतिम बार 18 मई 1980 को फूटा था, जिसके कारण 57 लोगो की मौत हो गई थी और उसके आस-पास के क्षेत्र में भारी आर्थिक और प्राकृतिक नुकसान हुआ था.

माउंट ब्रोमो

माउंट ब्रोमो ज्वालामुखी इंडोनेशिया के सक्रिय ज्वालामुखियों में से एक माना जाता है. इसकी गिनती एशिया के प्रसिद्ध ज्वालामुखियों में होती है. बता दें कि इंडोनेशिया में लगभग 129 जवालामुखी हैं, जिसमे यह प्रमुख माना जाता है. इसकी ऊंचाई लगभग 3829 मीटर है. यह ज्वालामुखी दिसम्बर 2015 को अंतिम बार फूटा था. प्रचलित बातों के अनुसार इस ज्वालामुखी का नाम भगवान ब्रह्मा के नाम पर रखा गया है.

Famous Volcano of India and World, Mount Bromo (Pic: remotelands)

माउंट क्राकाटोआ

जावा तथा सुमात्रा के बीच में स्थित यह ज्वालामुखी दुनिया के सबसे सक्रिय ज्वालामुखियों में से एक है. कहा जाता है कि इस चोटी पर एक द्वीप का निर्माण हुआ, जिसके बाद से ही इसे करकटो नाम दिया गया था. इस ज्वालामुखी का विचित्र  इतिहास रहा है. यह उस विस्फोट का गवाह है, जो 27 अगस्त 1883 में फूटा था. कहा जाता है कि जब फटा था तो इसकी ताकत हिरोशिमा पर गिराए गये 2000 परमाणु बमों की जितनी थी. ज्वाला मुखी के फटने के बाद इतनी राख निकली थी कि कई दिनों तक आसमान अंधेरे से ढक गया था.

Famous Volcano of World, Mount Crakatoa (Pic: thevolcanicringofire)

पोपोकटेपेटल

यह ज्वालामुखी दक्षिण पश्चिम मैक्सिको से करीब 70 किलोमीटर दूर पर मौजूद हैं. इस ज्वालामुखी को इलपोपो के नाम से भी जाना जाता है. बता दें कि 2013 में यह ज्वालामुखी फटा था. कहा जाता है कि यह इजताक्कीहुआत नामक ज्वालामुखी के साथ जुड़वां ज्वालामुखी बनाता है. पोपोकटेपेटल ज्वाला मुखी हमेशा से ही सक्रिय रहा है और आये दिन इसके सक्रिय हो उठने की खबरें आती रहती हैं.

Famous Volcano of India and World, Mount Popocatépetl (Pic: crystalinks)

स्नोफैल ग्लेशियर आइसलैंड

1,446 मीटर ऊंचाई पर मौजूद यह ज्वालामुखी आग और बर्फ के द्वीप के रूप से काफी मशहूर है. यह ज्वाला मुखी सैलनियों के लिए काफी प्रसिद्ध माना जाता है. इसका अद्धभुत नजारा देखते ही बनता है.

पीको देल तेइदे

पीको देल तेइदे ज्वालामुखी स्पेन के कैनरी द्वीप में स्थित है. इसकी गिनती स्पेन के सबसे बड़े ज्वालामुखियों में की जाती है. इसकी ऊंचाई 3718 मीटर है. यह ज्वाला मुखी पिछले एक सदी से सक्रिय नहीं है. कहा जाता है कि इस पर्वत की प्राचीन काल से ही बड़ी मान्यता है. 2007 में इसको विश्व धरोहर में शामिल किया गया.

Famous Volcano of India and World, Pico De Teide (Pic: wikipedia)

बैरन द्वीप

शायद बहुत कम ही लोग जानते हैं कि भारत में भी ज्वालामुखी हैं. जी हां आपको बता दें कि बैरन द्वीप भारत का अकेला सक्रिय ज्वालामुखी है. यह ज्वालामुखी अंडमान निकोबार की राजधनी पोर्टब्लेयर से लगभग 135 कि.मी. की दूरी पर मौजूद है . बैरन द्वीप ज्वालामुखी समुद्र तट से थोड़ी दूर के फासले पर है. यहां पर जाने के लिए पहले आपको भारतीय नौसेना से इजाजत लेनी होती है. उसके बाद बोट द्वारा जाया जा सकता है. इस ज्वालामुखी को पहले मृत माना जाता था, लेकिन 20वीं शताब्दी के अंत में यह ज्वालामुखी सक्रिय हो गया, उसके बाद इसमें कई बार विस्फोट हुए. साल 2005 में हुए विस्फोट के बाद इसमें 2006 तक लगातार लावा निकलता रहा.

पर्यटकों को ऐसे स्थान जरूर रोमांचक लगते हैं, किन्तु ज्वालामुखी फटने की घटना अपने आप में विनाशकारी है. कहीं न कहीं पेड़ों की अंधाधुंध कटाई और प्राकृतिक असंतुलन से ग्लोबल वार्मिंग बढती जा रही है. इसलिए जिन चीजों पर हम नियंत्रण कर सकते हैं, कम से कम उसके माध्यम से संतुलन अवश्य ही बनाना चाहिए.

Famous Volcano of World and India, Barren Iceland (Pic : groupouting)

Web Title: Famous Volcano of India and World, Hindi Article

Keywords: Santorini, Barren Island, Snowfall Glacier Iceland, Popocatépetl, Maxico, Krakatoa,Volcano, Mount Bromo, Mount Cent Helence,America, Mount EtnaVolcano, Mount Vesuvius Volcano, Italy, Mount Fuji Volcano, Japan, Mount Celimat, Mount Kilmanjaro,Mount Meyan, Tanjania, Philipins,World, Blast, Centuray,India,Andmaan Nikbar,Active,Maneela,Ocean Sea,Tourist,Tourisam, Jawa, Sumatara, Washington, Pico De Teide Volcano

Featured Image Credit / Facebook Open Graph: mapio