अक्सर हम और आप जब कभी कही बाहर घूमने जाने का मन बनाते हैं, तो हमारे मन में एक सवाल आम होता है कि इस बार कहां जाया जाएं. चूंकि यह सवाल हमारे लिए कौतूहल का विषय होता है, इसलिए हम लोगों से इसकी चर्चा कर ही बैठते हैं, जिसका परिणाम यह होता है कि ढ़ेर सारी जगहों के साथ-साथ कुछ लोग राष्ट्रीय उद्यान या फिर अभयारण्य को देखने जाने का सुझाव दे देते हैं. ऐसे में उद्यान या फिर अभयारण्य की चर्चा मात्र से वन्य जीवों को देखने की लालसा हमारे मन में आना स्वभाविक है. तो आइये हम आपको सैर कराते हैं देश के कुछ राष्ट्रीय उद्यान और अभयारण्यों की:

जिम कॉर्बेट राष्ट्रीय पार्क

जिम कॉर्बेट राष्ट्रीय पार्क उत्तरांचल राज्य के नैनीताल जिले में स्थित है. कहा जाता है कि इस पार्क की खोज अंग्रेजों ने 1920 में की थी. देश की आजादी के बाद इस पार्क का नाम रामगंगा नेशनल पार्क रखा गया, लेकिन कुछ सालों बाद ही इसको जिम कॉर्बेट राष्ट्रीय उद्यान का नाम दे दिया गया था. राम गंगा नदी के किनारे बसे होने के कारण यह इसमेंं प्रकृति की अनोखी छटा देखने को मिलती है. इस पार्क में हाथियों के झुण्ड और हिरनों की चहलकदमी लोगों को रोमांचित करती है. इस राष्ट्रीय पार्क में हाथी और हिरन के अलावा शेर, बाघ, गुलदार, सांभर, चीतल, काकड़, जंगली सूअर, भालू, बन्दर, सियार, नीलगाय जैसे कई अन्य पशु-पक्षी देखने को  मिलते हैं.

Jim Corbett National Park (Pic: mapsofindia)

गिर वन्यजीव अभयारण्य

गिर का नाम आते ही शेरों की याद आ जाती है. गुजरात में स्थित यह अभयारण्य पूरे देश में शेरों के लिए बहुत प्रसिद्ध है. 1424 वर्ग किलोमीटर में फैले इस अभयारण्य में शेर, सांभर, तेंदुआ और जंगली सूअर बहुत अधिक संख्या में पाए जाते हैं. बता दें कि दक्षिण अफ्रीका के अलावा यह विश्व का अकेला ऐसा जंगल है, जहां शेरों को खुला घूमते आप देख सकते हैं. इसके अलावा इस अभ्यारण्य में बड़े हिरन, चीतल, नील गाय, चिंकारा, बारहसिंगा आदि को भी देखा जा सकता है. इस पार्क की स्थापना 1961 में की गई थी. नदी के किनारे बसे इस अभयारण्य में हरे भरे पेड़ के आलावा सूखे पत्ते वाले वृक्ष, कांटेदार झाड़िया भी पाईं जाती हैं. इस अभ्यारण्य में हमेशा ही पर्यटकों का जमवाड़ा लगा रहता है.

Gir National Park (Pic: mouthshut.com)

कान्हा राष्ट्रीय उद्यान

दुनिया के प्रसिद्ध उद्यानों में शुमार यह उद्यान मध्य प्रदेश में स्थित है. बाघों के लिए प्रसिद्ध इस अभयारण्य में शुरू से ही सबसे ज्‍यादा संख्‍या में बाघ पाए जाते रहे हैं, इसलिए सन् 1973 में प्रोजेक्ट टाइगर के तहत इस उद्यान का 917.43 वर्ग किलोमीटर का क्षेत्र बाघ संरक्षित क्षेत्र घोषित किया जा चुका है.  2051.74 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैला हुआ यह अभयारण्य भारत का सबसे पुराना अभयारण्य माना जाता है, इसकी स्थापना 1932 में हुई थी. बता दें कि इस अभयारण्य में दुर्लभ बारह सिंगा भी पाया जाता है, जो पूरी दुनिया में और कहीं नहीं पाया जाता है. इसके साथ ही इस अभयारण्य में पक्षियों की 300 से भी अधिक प्रजातियां पाई भी जाती हैं.

Top 13 Wild Life Sancturies In India, Kanha National Park (Pic: wikiwand)

कंचनजंगा राष्ट्रीय उद्यान

यह उद्यान पूर्वोत्तर भारत का सबसे प्रसिद्ध उद्यान माना जाता है. यह सिक्किम में स्थित है. बता दें कि इस उद्यान का नाम दुनिया की तीसरी सबसे ऊंची पर्वत कंचनजंगा के नाम पर रखा गया है. इस राष्ट्रीय उद्यान का क्षेत्रफल 1784 वर्ग किलो मीटर है. इस उद्यान में कस्तूरी मृग, हिम तेंदुए और अन्य वन्यजीव पाये जाते हैं. इसके अलावा हिम तेंदुआ, हिमालयी काला भालू, तिब्बती एंटीलोप, जंगली गधा, काकड़, कस्तूरी मृग, फ्लाइंग गिलहरी और लाल पांडा भी पाए जाते हैं.

काज़ीरंगा राष्ट्रीय उद्यान

असम में स्थित काज़ीरंगा राष्ट्रीय उद्यान की गिनती भारत के प्रमुख उद्यानों में होती है. यह उद्यान भारत ही नहीं पूरे विश्‍व में एक सींग वाले गैंडे के लिए प्रसिद्ध है. 430 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्रफल में फैले इस उद्यान में गैंडा, हाथी, भारतीय भैंसा, हिरण, सांभर, भालू, बाघ, चीते, सुअर, जंगली बिल्‍ली, हॉग बैजर, लंगूर, हुलॉक गिब्‍बन, भेडिया, साही, अजगर के साथ अनेक प्रकार की चिडियां, पेलीकन बत्तख, कलहंस, हॉर्नबिल अगरेट, बगुला, काली गर्दन वाले स्‍टॉर्क, लेसर एडजुलेंट, रिंगटेल फिशिंग ईगल आदि बड़ी संख्‍या में पाए जाते हैं. यह उद्यान यूनेस्को द्वारा विश्‍व धरोहर घोषित हो चुका है.

Top 13 Sanctuary In India, Kaziranga National Park (Pic: shikhar)

इंद्रावती राष्ट्रीय उद्यान

यह उद्यान छत्तीसगढ़ में स्थित है. दंतेवाड़ा ज़िले में स्थित यह उद्यान इंद्रावती नदी के किनारे बसा है. इसी कारण इनका नाम इन्द्रावती राष्ट्रीय उद्यान रखा गया. यह उद्यान छत्तीसगढ़ राज्य का अकेला टाइगर रिजर्व उद्यान है. 2799 वर्ग किलोमीटर के दायरे में फैला यह उद्यान बेहद घना है. इस उद्यान में प्रमुख रूप से जंगली भैंसे, बारहसिंगा, बाघ, चीते, नील गाय, सांभर, चार सींग वाला एंटीलॉप, स्‍लॉथ बीयर, जंगली कुत्ते, पट्टीदार हाइना, मुंटजेक, जंगली सुअर, उड़ने वाली गिलहरियाँ आदि जीव जंतु पाये जाते हैं. इस उद्यान में पक्षियों की संख्या भी बहुतायत में है, जिसमे पहाड़ी मैना सबसे अहम है.

दुधवा राष्ट्रीय उद्यान

यह राष्ट्रीय भारत सहित पूरे एशिया में प्रसिद्ध है. उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी ज़िले में स्थित यह उद्यान पर्यटन की दृष्टि से खास महत्व रखता है. इस पार्क की सीमाएं नेपाल से लगी हुई हैं. इस उद्यान की स्थापना 1977 में की गई थी. उत्तर प्रदेश के सबसे बड़े इस उद्यान में बाघों और बारहसिंगा के झुण्ड पाए जाते हैं. यहां पर हिरणों की पांच प्रजातीय पाईं जाती हैं, जिसमें बारहसिंगा मुख्य है. इसके अलावा यहां बाघ, तेंदुए, गैण्डा, हाथी, चीतल, पांडा, कांकड़, कृष्ण मृग, चौसिंगा, सांभर, नीलगाय, वाइल्ड डॉग, भेड़िया, लकड़बग्घा, सियार, लोमड़ी आदि जानवर पाए जाते हैं.

Top 13 Wild Life Sanctuaries In India, Dudhwa National Park (Pic: swantour)

बांदीपुर राष्ट्रीय उद्यान

बांदीपुर राष्ट्रीय उद्यान कर्नाटक के चामराजनगर जिले में स्थित है. यह उद्यान दक्षिण भारत के सबसे प्रसिद्ध उद्यानों में एक माना जाता है. यह उद्यान एक समय मैसूर रियासत का शिकारगाह हुआ करता था. 1973 में इस उद्यान को टाइगर प्रोजेक्ट के तहत शामिल किया गया था. इस उद्यान में बाघ, तेंदुआ, हाथी, गौर, भालू, ढोल, सांब आदि जीव-जंतु पाए जाते हैं. इसके अलावा यहां पक्षियों की लगभग 200 से अधिक प्रजातियां पाई जाती हैं.

सुंदरवन राष्ट्रीय अभयारण्य

सुन्दरवन राष्ट्रीय अभ्यारण अपनी खूबसुरती के लिए काफी प्रसिद्ध है. यह अभ्यारण देश में रॉयल बंगाल टाइगर (बाघों की प्रजाति) का सबसे बड़ा ठिकाना है. पश्चिम बंगाल के दक्षिणी भाग में गंगा नदी के किनारे स्थित इस अभ्यारण्य में पक्षियों सहित कई प्राणियों की प्रजातियाँ पाईं जाती हैं. 4 मई 1984 को इस उद्यान को राष्ट्रीय उद्यान का दर्जा दिया गया तथा इस अभयारण्य को विश्व धरोहर घोषित किया जा चुका है.

Top 13 Wild Life Sancturies In India, Sundarban National Park (Pic: paradiseintheworld)

केवलादेव राष्ट्रीय उद्यान

केवलादेव राष्ट्रीय उद्यान भारत का सबसे बड़ा पक्षी अभ्यारण्य है. यह उद्यान राजस्थान में स्थित है. 21 वर्ग किलोमीटर में फैले इस उद्यान को 1982 में राष्ट्रीय उद्यान का दर्जा दिया गया था. यह विदेशी पक्षियों के लिए भी काफी प्रसिद्ध माना जाता है. बता दें कि इस उद्यान में अफगानिस्तान, चीन, मंगोलिया जैसे कई अन्य देशों के पक्षी बड़ी संख्या में हर वर्ष आते हैं, जो पर्यटकों के मुख्य आकर्षण का केन्द्र बनते हैं. इस उद्यान को यूनेस्को विश्व धरोहर घोषित कर चुका है.

रणथंभौर राष्ट्रीय उद्यान

रणथंभौर राष्ट्रीय उद्यान उत्तर भारत के बड़े और प्रसिद्ध उद्यानों में गिना जाता है. देखा जाये तो यह उद्यान भी कान्हा उद्यान की तरह अपनी खूबसूरती और बाघों के लिए पूरी दुनिया में जाना जाता है. बता दें कि इस उद्यान को भारत सरकार ने 1955 में सवाई माधोपुर खेल अभयारण्य के रूप में स्थापित किया था, लेकिन उसके बाद से समूचे देश में बाघों की कम होती संख्या को देखते हुए सरकार ने ‘प्रोजेक्ट टाइगर के तहत चिन्हित किया. इस अभ्यारण्य की एक दिलचस्प बात यह है कि जब बाघिनें बच्चों को जन्म देती हैं तो अभ्यारण्य में मौजूद कर्मचारी बड़ी धूम धाम से उसका स्वागत करते हैं. यूं तो इस अभ्यारण्य को बाघों के लिए जाना जाता है, लेकिन इसके अलावा यहां तेंदुआ, नील गाय, जंगली सूअर, सांभर, हिरण, भालू और चीतल आदि भी बड़ी संख्या में पाए जाते हैं.

Top 13 Wild Life Sancturies In India, Ranthambore National Park (Pic: expedia)

बांधवगढ़ राष्ट्रीय उद्यान

बाघों के लिए प्रसिद्ध बांधवगढ़ राष्ट्रीय उद्यान भारत के प्रमुख उद्यानों में से एक है. यह मध्य प्रदेश में विंध्य पहाड़ी के पूर्व में स्थित है. जानकारों की मानें तो बांधवगढ़ में बाघों की संख्‍या सबसे ज्यादा पाईं जाती है और इस अभ्यारण में लगभग 22 प्रकार के जीव जंतु की प्रजातियां और 250 के करीब पक्षियों की प्रजातीय पाईं जाती हैं. उद्यान में पाए जाने वाले प्रमुख जानवर एशियाई भेडिया, बंगली लोमड़ी, स्‍लॉथ बीयर, रेटल, भूरे मंगूस, पट्टी दार लकड़बग्गा, जंगली बिल्‍ली, चीते और आदि जंगली जीव हैं.

ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क

हिमाचल प्रदेश की शान कहलाने वाले इस राष्ट्रीय पार्क की जितनी तारीफ़ की जाए उतनी कम है. हिमाचल प्रदेश के कुल्लू ज़िले में स्थित यह पार्क लगभग 754.4 वर्ग किलोमीटर तक फैला हुआ है. यह पार्क हिमाचल प्रदेश के कालका शिमला रेलवे लाइन के बाद दूसरी धरोहर है, जिसे विश्व धरोहर का दर्जा मिला है. इस उद्यान में अनेक प्रकार के वन्य प्राणी जैसे-काला भालू, कस्तूरी मृग, तेंदुआ और मुर्ग प्रजाति के अति दुर्लभ पक्षी पाए जाते हैं. बता दें कि इस उद्यान में तेंदुआ सबसे ज्यादा संख्या में पाए जाते हैं.

प्रमुख राष्ट्रीय उद्यान और अभयारण्य की सूची मेंं यह महज कुछ एक नाम है. भारत में ऐसे न जाने कितने और राष्ट्रीय उद्यान और अभयारण्य हैं, जो सौन्दर्य से परिपूर्ण हैं. जिस कारण दूर-सुदूर से एक बड़ी संख्या में पर्यटक यहां घूमने के लिए आते हैं. जीव जंतुओं के वगैर यह सृष्टि अधूरी ही है, किन्तु जिस तरह विकास की दौड़ में कंक्रीट के जंगल बढ़ते जा रहे हैं, उस स्थिति में विभिन्न नेशनल पार्क और सैंक्चुरी का प्रयास सराहनीय है. इन्हें और बड़े स्तर पर फैलाने और बेहतर रखरखाव करने की आवश्यकता है, इस बात में दो राय नहीं.

Great Himalayan National Park (Pic: sterlingholidays.com)

Web Title: Top-13 Wild Sanctuaries In India, Hindi Article

Keywords: Jim Corbett National Park, Gir National Park, Kanha National Park, Kaziranga National Park, Dudhwa National Park, Sundarban National Park, Ranthambore National Park, Bandhavgarh National Park, Keoladeo National Park, Bandipur National Park, Kanchenjunga National Park, Indravati National Park, Great Himalayan National Park, Animal, Birds,Tiger, Royal Bengal, Ram Ganga National Park, Elephant, English, Himachal Pradesh,Assam, Sikkim,Chattisgarh, Utter Pradesh, World, Famous, Unesco, Tiger, Lion, Panther,Karnataka

Featured Image Credit / Facebook Open Graph: groupouting.com / mouthshut.com