ऐतिहासिक इमारतों की बात की जाए तो भारत में इसके ढ़ेरों उदाहरण देखने को मिल जाते हैं. इसी कड़ी में अगर बात की जाए यहां की फेमस मस्जिदों की तो आप पायेंगे कि यह अपनी खूबसूरत वास्‍तुकला, कलाकारी और शिल्‍पकला के लिए हमेशा से लोगों के आकर्षण का केंद्र रही हैं. तो आईये बात करते हैं, देश की ऐसी ही कुछ मस्जिदों की:

1. ज़ियारत शरीफ़

ज़ियारत शरीफ़ मस्जिद उत्तर प्रदेश के ककराला जिले में है. यह प्रदेश की सबसे पुरानी मस्जिद है. इस मस्जिद की डिजाइनिंग हज़रात शाह सक़लैन मियां ने की थी. पूरी दुनिया से लोग जियारत शरीफ़ में अपनी मन्नत ले कर आते हैं. इसमें मदरसे की सुविधा भी है, जिसका उद्देश्य गरीब लोगों को शिक्षा प्रदान करना है.

Ziarat Shareef in Kakrala, UP (Pic: beautifulmosque.com)

2. जामा मस्जिद, दिल्ली

मस्जिद जहान नुमा को लोग जामा मस्जिद के नाम से जानते हैं, जो भारत की राजधानी दिल्ली में स्थित है. जामा मस्जिद भारत की सबसे बड़ी मस्जिदों में से एक मानी जाती है. इस मस्जिद में तक़रीबन 25000 लोग एक साथ नमाज़ पढ़ सकते हैं. सन 1644 से 1656 के बीच में शाहजहां ने इस अदभुत मस्जिद का निर्माण कराया था. जामा मस्जिद की लम्बाई लगभग 261 फ़ीट और चौराई 90 फीट है.

3. चारमीनार

इसका निर्माण 1591 ई. में सुल्तान मुहम्मद कुली कुतुब शाह ने हैदराबाद में किया था. इसके चारों तरफ बनी मीनारें इसकी खूबसूरती में चार चांद लगाती हैं. ऐसा माना जाता है कि इस्लाम के चारों ख़लीफ़ाओं के सम्मान में मस्जिद के चारों तरफ मीनार का निर्माण किया गया था. प्रत्येक मीनार की ऊंचाई लगभग 48.7 मीटर है. मान्यता के अनुसार मीनार के नीचे एक ख़ुफ़िया रास्ता है, जो चारमीनार से होते हुए गोलकोंडा किले तक जाता है. इस खुफिया रास्ते का निर्माण किसी विशेष स्थिति के लिए किया गया था. हालांकि, अब तक इस ख़ुफ़िया रास्ते का कोई ठोस प्रमाण नही मिला है.

4. आदिना मस्जिद

आदिना मस्जिद पश्चिम बंगाल के मालदा जिले में स्थित है. आदिना मस्जिद का निर्माण सन 1373 AD में बंगाल के दुसरे सल्तनत शिकंदर शाह के समय में किया गया था. इस मस्जिद का निर्माण डेल्ही सल्तनत के खिलाफ शानदार जीत की खुशी में बनाया गया था. यह मस्जिद भारत – बांग्लादेश सीमा के पास स्थित है. ब्रिटिश साम्राज्य से लड़ाई और तत्कालीन समय में आये भूकंप के कारण यह मस्जिद महज खंडहर बन कर रह गया है.

5.मक्का मस्जिद

मक्का मस्जिद हैदराबाद (तेलंगाना) की सबसे पुरानी मस्जिदों में से एक है. हैदराबाद के 6वें मुहम्मद क़ुली क़ुतुब शाह ने 1617 में इसका निर्माण शुरू कराया था. इस मास्जिद का हॉल इतना बड़ा है कि एक साथ 1000 लोग इसमें नमाज पढ़ सकते हैं. मक्का मस्जिद दुनिया की प्राचीन विरासतों में शामिल है, मगर बढ़ते प्रदूषण के कारण मस्जिद के दीवारों में दरारें आने लगी है.

6. क़ुव्वत-उल-इस्लाम मस्जिद

क़ुव्वत-उल-इस्लाम मस्जिद का निर्माण क़ुतुबुद्दीन ऐबक ने 1192 में तराइन के युद्ध में पृथ्वीराज चौहान की पराजय के बाद करवाया था. यह भारत में निर्मित पहली तुर्क मस्जिद मानी जाती है. यह मस्जिद 121 फिट लम्बी तथा 150 फुट चौड़ी, समकोणनुमा चबूतरे पर बनाई गयी है. ऐसा माना जाता है कि इस मस्जिद में 5 समय नवाज़ करने से उनके दुःख-दर्द को अल्लाह कम करता है और उन्हें शांति देता है.

Quwwat-ul-Islam, Delhi (Pic: bobcatravel.com)

7. हजरतबल मस्जिद

हजरतबल मस्जिद श्रीनगर के डल झील के पास में बनी है. लोगों के अनुसार हजरतबल मस्जिद कश्मीर में सबसे पाक मानी जाती है. ऐसी मान्यता है कि इस मस्जिद में इस्लाम के पैगम्बर मुहम्मद की निशानी रखी गयी है. बताते चलें कि 26 दिसम्बर 1963 को पैगम्बर की निशानी चोरी हो गयी थी, जिसके बाद जमकर हंगामा हुआ था. बाद में जवाहरलाल नेहरु ने 4 जनवरी 1964 में मुहम्मद की निशानी वापस मिलने की खबर दी थी.

8. नगीना मस्जिद

नगीना मस्जिद, जिसे लोग जेम मस्जिद के नाम से भी जानते हैं. इसको शाहजहां ने बनवाया था, जोकि आगरा में स्थित है. इस मस्जिद का निर्माण सफ़ेद संगमरमर से किया गया है. इस मस्जिद को राज घराने की महिलाओं के प्रयोग को ध्यान में रखकर कराया गया था. इसके पास मीणा बाज़ार हुआ करता था, जहां महिलाएं खरीदारी किया करती थीं.

9. जमाली कमाली मस्जिद

16वीं शताब्दी में बनी यह मस्जिद क़ुतुब मीनार के पास में स्थित है. इसको बड़े से बगीचे के अन्दर लाल पत्थर से बनाया गया था. मुग़ल साम्राज्य में बनी इसकी खूबसूरती को देखने के लिए पर्यटक काफी दूर से आते हैं. इस मस्जिद में संध्या के बाद प्रवेश मना है, क्योंकि वहां के स्थानीय निवासी ऐसा मानते हैं कि रात के समय में वहां असाधारण गतिविधि होती है.

10. टीपू सुल्तान मस्जिद

टीपू सुल्तान का शाही मस्जिद कलकत्ता की सबसे नामी मस्जिद है. इस मस्जिद का निर्माण सन 1832 में टीपू सुल्तान के छोटे बेटे गुलाम मोहम्मद ने किया था. कलकत्ता की शाही मस्जिद मुग़ल इतिहास में बनी अनेकों खुबसूरत विरासतों में शामिल है. सबसे अच्छी बात यह है कि इस मस्जिद में हर किस्सी को अन्दर घूमने और फोटोग्राफी करने तक की इजाजत है, जिससे आम लोग और पर्यटक यहां आने के लिए उत्साहित रहते हैं.

11. ताज-उल-मस्जिद

ताज-उल-मस्जिद भारत की सबसे विशाल मस्जिदों में एक है. इस मस्जिद का निर्माण भोपाल के आठवें शासक शाहजहां बेगम के शासन काल में प्रारंभ हुआ था, जिसे 1971 में भारत सरकार के सहयोग पूरा कराया गया. गुलाबी रंग की इस विशाल मस्जिद की दो सफेद गगनचुम्बी मीनारें हैं, जिन्‍हें मदरसे के तौर पर इस्‍तेमाल किया जाता है. इसकी खूबसूरती ताजमहल से कम नहीं मानी जाती है.

12. जामा मस्जिद, आगरा

आगरा स्थित जामा मस्जिद देश की प्रसिद्ध मस्जिदों में से एक है. इस मस्जिद का निर्माण शाहजहां ने अपनी बेटी जहांआरा के लिए 1648 में करवाया था. आकार में बेहद विशाल मस्जिदों में से एक इस मस्जिद का बरामदा बहुत ही बड़ा है. यह मस्जिद बहुत खूबसूरत भी है.

13. अढ़ाई दिन का झोपड़ा

यह मस्जिद अजमेर में स्थित है. इसके नाम को लेकर कई तरह की मान्‍यताएं प्रचलित हैं. कुछ लोगों का मानना है कि इसको बनने में लगभग ढाई दिन का वक्त लगा, इसलिए इसे अढ़ाई दिन का झोपड़ा कहा जाने लगा. वहीं दूसरे लोग यह मानते हैं कि यहां चूंकि ढाई दिन का मेला लगता है कि इसलिए इसे अढ़ाई दिन का झोपड़ा कहा गया. इस मस्जिद को मोहम्‍मद गौरी ने 1198 में बनवाया था.

 Adhai Din ka Jhopra (Pic: wikimedia.org)

भारत सहित दुनिया में न जाने ऐसी कितनी और मस्जिदें हैं, जो अपनी खूबसूरती के साथ शिल्पकला के लिए प्रसिद्ध हैं. आज जिस तरह से लोग इन मस्जिदों को देखने के लिए आते हैं, उससे यह पता चलता है कि इनकी लोकप्रियता काफी है. पर्यटन के अलावा धार्मिक रुप से भी इनका खासा महत्व है.

Web Title: Top Mosque of India, Hindi Article

Keywords: Jama Masjid, Makka Masjid, Jamali Kamali, Tipu Sultan Mosque, Malik Dinar Mosque, Nakhoda Mosque, Babri Masjid, Hyderabad, Kolkata Travel, Religious, Delhi, Agra, Jaipur, India

Featured Image Credit / Facebook Open Graph: odintours.com