यूँ तो आप आए दिन ख़बरों में किम जोंग उन के बारे में सुनते ही होंगे, लेकिन क्या कभी आपने सुना है किम जोंग उन की बहन ‘किम यो जोंग’ के बारे में?

किम यो जोंग ने अभी हाल ही में पूरे मीडिया जगत का ध्यान अपनी ओर आकर्षित कर लिया जब, किम जोंग उन ने उसे नार्थ कोरिया ‘पोलित ब्यूरो‘ में पद दे दिया.

पोलित ब्यूरो उत्तर कोरिया की वह इकाई है, जो किम जोंग को फैसले लेने में मदद करता है.

तो चलिए क्यों न किम यो जोंग को थोड़ा और करीब से जानें…

पहली बार आई दुनिया के सामने

किम जोंग उन ने हमेशा से ही अपनी निजी जिंदगी को मीडिया और दुनिया से दूर रखा है. उदाहरण के तौर पर किम की पत्नी ‘सिओल‘ को ही ले लीजिए.

अभी तक नार्थ कोरिया वाले भी खुद पूरी तरह से सिओल के बारे में नहीं जानते. जाहिर है, अपनी बहन किम यो जोंग को भी किम जोंग उन ने बखूबी पूरी दुनिया से छिपाए रखा.

किम यो जोंग के बारे में नार्थ कोरिया की मीडिया को भी कुछ ख़ास पता नहीं था. हमेशा से ही किम यो जोंग एक राज़ थी.

दुनिया के सामने यो जोंग पहली बार तब आई जब 2010 में एक दिन किम यो जोंग अपने पिता किम जोंग इल की ‘कोरियन वर्कर्स पार्टी’ की एक कॉन्फ्रेंस में शामिल हुई.

नार्थ कोरिया में बहुत ही कम लोगों को यह हक है कि वह ऐसे अपने लीडर के इतने करीब आ सकें. उस कॉन्फ्रेंस के दौरान ही पहली बार किम यो जोंग पर मीडिया की नज़र पड़ी.

उसे देख हर किसी के जहन में बस एक ही सवाल था, ‘यह लड़की कौन है’?

उस दिन के बाद से वह लड़की हर जगह मीडिया को दिखने लगी. किम जोंग इल के साथ हर जगह वह आती तो थी लेकिन कोई भी नहीं जान पाया था कि वह कौन थी.

उस अनजान लड़की की असलियत सामने आई 2011 में, जब किम जोंग इल का निधन हुआ. किम जोंग उन के साथ वह लड़की भी फूट-फूट कर रो रही थी. उस दिन मीडिया जान गई कि यह जरूर ही किम परिवार की कोई बहुत ख़ास है.

थोड़े समय बाद मीडिया जान गई कि वह लड़की किम जोंग इल की बेटी और किम जोंग उन की बहन है. जैसे ही यह बात बाहर आई… यह जंगल में लगी आग की तरह हर जगह फैलने लगी.

Kim Yo Jong (Pic: businessinsider)

किम जोंग उन के लिए ‘खास’ है बहन

कहते हैं कि किम जोंग उन और उनकी बहन किम यो जोंग दोनों एक दूसरे के काफी करीब हैं. दोनों के बीच एक अच्छा भाई-बहन का रिश्ता है इसलिए किम जोंग उन अपने हर काम में लेते हैं अपनी बहन की राय.

माना जाता है कि किम यो जोंग अभी उम्र में अपने भाई से काफी छोटी है. उसकी उम्र अभी 20 से 30 साल के बीच मानी जा रही है.

कम उम्र में ही पिता की पार्टी से जुड़ने के कारण किम यो जोंग ‘नार्थ कोरिया वर्कर्स पार्टी’ की सबसे जवान कर्मचारी बन गई है. किम परिवार में किम जोंग उन के बाद किम यो जोंग ही है जिसे परिवार का असली हिस्सा माना जाता है.

दोनों भाई बहन के बीच में प्यार का कारण यह भी माना जाता है कि दोनों एक ही माँ से जन्मे थे. यूँ तो किम जोंग उन के और भी भाई बहन थे लेकिन वह उसके पिता की दूसरी पत्नियों से थे. इसलिए सिर्फ यो जोंग को ही किम मानता है अपनी बहन.

Kim Yo Jong Sister Of Kim Jong Un (Pic: nbcnews/aljazeera/yonhapnews)

हर कदम पर दिया भाई का साथ

किम यो जोंग ने जीवन के हर कदम पर अपने बड़े भाई किम जोंग उन को ही फॉलो किया है. जो चीज़ बड़े भाई ने की उसमें छोटी बहन भी हिस्सा लेती रही. किम यो जोंग अपने भाई की सारी बातें मानती है, इसलिए ही शायद किम जोंग उन अपनी बहन पर बहुत भरोसा करता है.

बचपन से ही दोनों हर जगह साथ रहे. कहते हैं कि दोनों एक साथ ही स्विट्ज़रलैंड के स्कूल जाया करते थे.

स्कूल ख़त्म होने तक दोनों एक साथ रहे, उसके बाद दोनों साथ में ही वापस नार्थ कोरिया भी आए. नार्थ कोरिया वापस आने के बाद किम जोंग उन तो राजनीति की ओर बढ़ने लगा था लेकिन उसकी बहन ने पढ़ाई जारी रखी.

किम यो जोंग ने कोरिया की ही यूनिवर्सिटी से कंप्यूटर इंजीनियरिंग की. यो जोंग पढ़ाई तो कर ही रही थी लेकिन साथ ही साथ वह नार्थ कोरिया की राजनीति को भी अच्छे से परखती रही.

माना जाता है कि किम जोंग उन के शासक बनने के बाद से किम की बहन उसकी पर्सनल सलाहकार बन गई. वह किम जोंग उन को बताने लगी कि कैसे एक अच्छे लीडर की इमेज बनाई जाती है. किम को कहाँ क्या करना चाहिए, किस तरह लोगों से मिलना चाहिए व कैसे सबके सामने खुद को अच्छा साबित करना है… यह सब उसकी बहन ही उसे बताया करती है.

कहते हैं कि यही कारण है कि किम जोंग उन स्कूल, गरीबों के घर व बाकी जगहों पर जाया करता है. राजनीति में भी किम यो जोंग काफी समय से सक्रिय है. धारणाएं हैं कि वह अपनी पार्टी में भी निरंतर बनी रहती है और कई अहम फैसलों में उसका भी योगदान रहा.

Kim Yo Jong Sister Of Kim Jong Un (Pic: nbcnews)

अमेरिका ने लगाया प्रतिबंध

अमेरिका और नार्थ कोरिया के बीच जो मनमुटाव है उससे कोई भी अनजान नहीं है. अपने भाई की तरह किम यो जोंग का राजनीति का हिस्सा बनना अमेरिका को रास नहीं आया.

उनका मानना है कि वह पार्टी से जुड़कर नार्थ कोरिया में हो रही अमानवीय हरकतों को बढ़ावा दे रही है. इस वजह से अमेरिका ने किम यो जोंग के साथ छह और नार्थ कोरियाई लोगों को ब्लैकलिस्ट कर दिया.

Kim Yo Jong Sister Of Kim Jong Un (Pic: cnn)

किम जोंग उन का अपनी बहन पर इतना भरोसा देख अब यह अटकलें लगाई जा रही है कि किम के तख़्त छोड़ने के बाद उसकी बहन ही है कुर्सी की अगली वारिस.

हालाँकि, तानाशाह अपनी कुर्सी के आगे अपनों को मौत के घाट उतारने में ज़रा भी संकोच नहीं करते हैं. हाल-फिलहाल उसकी बहन से तानाशाह को कोई खतरा नहीं है. वैसे यह तो आने वाला वक़्त ही बताएगा कि नार्थ कोरिया की किस्मत में क्या लिखा है.

आप क्या सोचते हैं?

क्या तानाशाह, जिन्होंने मानवता के तमाम रिश्तों को कुचल दिया होता है, उन्हें भाई-बहन के रिश्तों में दिलचस्पी होगी या फिर यह बस वक्त की नजाकत भर है.

कमेन्ट सेक्शन में अपनी राय से हमें अवगत करायें!

Web Title: Kim Yo Jong Sister Of Kim Jong Un, Hindi Article

Featured image credit (Representative)/ Facebook open graph: japantimes/cnbc