भारत को महान शासकों का देश कहा जाता है. यहां ढ़ेर सारे राजाओं ने अपने-अपने ढंग से राज किया. उनकी कार्यकुशलता, पराक्रम आदि के कारण प्रसिद्धि भी मिली.

काल-दर काल ऐसा भी देखा गया कि अपने सम्राज्य के विस्तार के लिए इन राजाओं ने दूसरों की सीमाओं को पार कर युद्ध भी लड़े.

इसी क्रम में देश में कुछ ऐसे हिन्दू राजा हुए जिन्होंने अपनी राजकुशलता और जनता के प्रति कल्याण भाव को हमेशा वरीयता दी. साथ ही अपने पराक्रम से कई शौर्य गाथाएं लिखीं. तो आइये बात करते है ऐसे ही कुछ हिन्दू राजाओं की:

सम्राट अशोक

यह वही सम्राट अशोक थे, जिन पर भारतीय सिनेमा ने ‘अशोका द ग्रेट’ नाम से एक हिन्दी फिल्म बनाई थी. इस फिल्म में शाहरुख खान ने सम्राट अशोक का किरदार निभाया था. सम्राट अशोक को प्राचीन भारत में मौर्य राजवंश के राजा के रुप में जाना जाता है. पिता बिंदुसार की मृत्यु के बाद उन्हाेंने राजगद्दी संभाली थी.

अशोक के बारे में कहा जाता है कि उन्होंने अपने पराक्रम से उत्तर में हिन्दुकुश की श्रेणियों से लेकर दक्षिण में गोदावरी नदी के दक्षिण तक के साथ-साथ कई अन्य राज्यों को अपने राज्य में मिला लिया था. बस वह कलिंग को अपने अधीन नहीं कर पाए थे.

जानकारों की मानें तो कलिंग युद्ध के बाद सम्राट अशोक ने बौद्ध धर्म को अपना लिया था. महात्मा बुद्ध की स्मृति में उन्होंने एक स्तम्भ भी बनवाया, जो आशोक स्तम्भ के नाम से प्रसिद्ध है और जिसे भारत गणराज्य का राजचिंह होने का गौरव प्राप्त है.

Great Hindu Kings from India, Ashoka and Buddhism (Pic: historydiscussion.net)

महाराणा प्रताप

महाराणा प्रताप ऐसे राजा थे, जिन्होंने मुगलों का शासन  मरते दम तक मंजूर नहीं किया. उनका मन बचपन से ही मातृभूमि की भक्ति में रम गया था. उनके बारे में कहा जाता है कि उन्होने अपना पूरा जीवन राष्ट्र, कुल और धर्म की रक्षा के लिए अर्पित कर दिया.

वह अकबर जैसे बड़े शासक का मुकाबला करने से भी पीछे नहीं हटे. हालांकि वह अकबर से जीत न सके और जंगलों में भटकने को मजबूर हुए. इसके बावजूद उनका साहस नहीं टूटा और महाराणा प्रताप चित्तौड़गढ़ वापस लेने में कामयाब रहे.

कहते हैं कि महाराणा ने प्रण लिया था कि जब तक वह चित्तौड़गढ़ वापस नहीं लेंगे तब तक चैन की सांस नहीं लेंगे, जिसे उन्होंने पूरा भी किया.

India’s Hindu Kings, Maharana Pratap (Pic: exhibition.blogspot.in)

छत्रपति शिवाजी महाराज

शिवाजी महाराज मराठा शासन के बहुत ही लोकप्रिय और सफल राजा थे. उनकी लोकप्रियता को इससे भी देखा जा सकता है कि आज भी महाराष्ट्र के लोगों की जुबान से उनकी शौर्यता के किस्से सुनने को मिलते हैं.

जानकार बताते हैं कि बहुत कम उम्र से उनमें देशभक्ति की भावना थी. वह एक कुशल शासक होने के साथ-साथ तेज रणनीतिकार थे. उनकी सेना में एक लाख से भी ज्यादा सैनिकों की मौजूदगी इस बात का प्रमाण है.

कहते हैं कि युद्ध के लिए उनके अपने नियम थे, जिन्हें उन्होंने अपनी शिवाजी सूत्र में लिखा था.

India’s Great Hindu Kings, Chhatrapati Shivaji Maharaj (Pic: whoa.in)

पृथ्वीराज चौहान

आपने पृथ्वीराज चौहान का नाम सुना ही होगा, जिन्होंने बचपन में ही शेर का जबड़ा फाड़कर अपनी वीरता को प्रदर्शित किया था. पृथ्वीराज, चौहान वंश के हिंदू क्षत्रिय राजा थे. 12वीं सदी के आसपास उनके पास अजमेर और दिल्ली की कमान थी. यह वही पृथ्वीराज थे, जिन्होंने मोहम्मद गौरी को एक बार नहीं 17 बार परास्त किया और जिन्होंने

अपने प्रेम के लिए दूसरे राज्य की सीमाएं लांघने में भी देरी नहीं की थी. जिसके चलते संयोगिता के पिता उनके दुश्मन बन बैठे थे और अपना सैन्य बल मोहम्मद गोरी को सौंप दिया, जिसके फलस्वरूप युद्ध में पृथ्वीराज चौहान को बंधक बना लिया गया था.

बंधक बनाते ही मोहम्मद गोरी ने पृथ्वीराज चौहान की आंखों को गर्म सलाखों से जला दिया और कई अमानवीय यातनाएं भी दी.

अंतत: मोहम्मद गोरी ने पृथ्वीराज चौहान को मारने का फैसला कर लिया था. पर ‘चार बांस चौबीस गज, अंगुल अष्ट प्रमाण, ता ऊपर सुल्तान है मत चूको चौहान’… मित्र चंदबरदाई की इन पंक्तियों ने अंतिम समय में पृथ्वीराज चौहान में जान फूंकी और वह मुहम्मद गौरी को मारने में कामयाब रहे.

India’s Hindu Kings, Prithviraj Chauhan (Pic: 24indianews.com)

राजा हरिहर

राजा हरिहर को विजयनगर साम्राज्य की स्थापना के लिए जाना जाता है, जिसका खूब विरोध हुआ था. यहां तक कि इस हिन्दू साम्राज्य की स्थापना के बाद से ही इस पर लगातार आक्रमण भी हुए, लेकिन इस साम्राज्य के राजाओं ने इसका कड़ा जवाब दिया.

विजयनगर साम्राज्य की स्थापना राजा हरिहर प्रथम ने 1336 में की थी. हरिहर प्रथम को ‘दो समुद्रों का अधिपति’ कहा जाता था. अनेगुंडी के स्थान पर इस साम्राज्य का प्रसिद्ध नगर विजयनगर बनाया गया था, जो राज्य की राजधानी थी.

बादामी, उदयगिरि एवं गूटी में बेहद शक्तिशाली दुर्ग बनाए गए थे. हरिहर ने होयसल राज्य को अपने राज्य में मिलाकर कदम्ब एवं मदुरा पर विजय प्राप्त की थी.

India’s Hindu Kings, Harihara (Pic: pbs.twimg.com)

महाराजा रणजीत सिंह

सिख शासन शुरुआत करने में महाराजा रणजीत सिंह की महत्वपूर्ण भूमिका रही. उन्होंने उन्नीसवी सदी में अपना शासन शुरू किया, उनका शासन पंजाब प्रान्त में फैला हुआ था और उन्होंने दल खालसा नामक संगठन का नेतृत्व किया था.

रणजीत सिंह ने मिसलदार के रूप में अपना लोहा मनवा लिया था और अन्य मिसलदारों को हरा कर अपना राज्य बढ़ाना शुरू कर दिया था. पंजाब क्षेत्र के सभी इलाकों में उनका कब्ज़ा था.

रणजीत सिंह ने अफगानों के खिलाफ कई लड़ाइयां लड़ीं और पेशावर समेत पश्तून क्षेत्र पर अधिकार कर लिया. ऐसा पहली बार हुआ था कि पश्तूनो पर किसी गैर मुस्लिम ने राज किया हो. उसके बाद वह पेशावर, जम्मू कश्मीर और आनंदपुर पर भी अधिकार करने में सफल रहे.

India’s best Hindu Kings, Maharaja Ranjit Singh (Pic: thefamouspeople.com)

राणा उदय सिंह

राणा उदय सिंह महाराणा प्रताप के पिता थे.  उनके बारे में कहा जाता है कि 1541 में उन्हें मेवाड़ की कमान मिल गई थी, जिसके कुछ ही दिनों के बाद ही अकबर ने मेवाड़ की राजधानी चित्तौड़ पर चढ़ाई की.

इस लड़ाई में मेवाड़ के हजारों लोगों की मृत्यु हो गई और राणा उदय सिंह को लगा कि अब कुछ नहीं हो सकता, तो उन्होंने जयमल और फत्ता आदि वीरों के हाथ में मेवाड़ को छोड़ दिया और उदयसिंह अरावली के घने जंगलों में चले गए.

जहां उन्होंने वहां नदी की बाढ़ रोक उदय सागर नामक सरोवर का निर्माण किया था. कहा जाता है कि यही वह जगह थी जहां उदय सिंह ने अपनी नई राजधानी उदयपुर का निर्माण किया था.

India’s Hindu Kings, Udai Singh (Pic: wikipedia.org)

अजातशत्रु

अजातशत्रु मगध के एक प्रतापी सम्राट थे. कहा जाता है कि अजातशत्रु ने अपने पिता बिम्बिसार को बंदी बना कर सत्ता हासिल की थी. अजातशत्रु के समय में मगध मध्य भारत का एक बहुत की शक्तिशाली राज्य था.

वह मगध का विस्तार पूर्वी राज्यों में लगभग-लगभग कर चुके थे, इसलिए अपना ध्यान उत्तर और पश्चिम पर केंद्रित करते हुए उन्होंने कोसल एवं पश्चिम में काशी तक को अपने राज्य में मिला लिया था.

यह तो महज कुछ एक हिन्दू राजाओं का नाम है, जिन्होंने अपने कौशल से न सिर्फ़ शासन किया, बल्कि अपने कीर्तिमानों के लिए इतिहास में दर्ज भी हुए.

भारत में इनके अलावा कई और हिन्दू राजा हुए जिनके नाम इतिहास के सुनहरे पन्नों में दर्ज हैं. इसी विषय पर महान हिन्दू राजाओं की दूसरी कड़ी अवश्य देखें.

India’s Hindu Kings, Ajatasatru (Pic: thefamouspeople.com)

Web Title: India’s Great Hindu kings, Hindi Article

Featured image credit/ Facebook open graph: youthcorner.in