हाल ही में मशहूर वकील जेठमलानी का एक बड़ा बयान सुर्खियां बना. इसमें उन्होंने कहा कि अगर दिल्ली सरकार उनकी फीस नहीं दे पाती है तो वह तब भी केजरीवाल का केस फ्री में लड़ेंगे. ऐसे में सवाल यह है कि जेठमलानी कितनी फीस वसूलते हैं, जो दिल्ली सरकार के मुखिया तक नहीं दे पा रहे हैं? आपको जानकार हैरानी हो सकती है कि जेठमलानी कोर्ट में एक पेशी के लिए 25 लाख रुपये चार्ज करते हैं. इससे भी ज्यादा दिलचस्प बात तो यह है कि वह ऐसे अकेले वकील नहीं हैं, जो एक मोटी रकम वसूलते हैं. तो आइये चर्चा करते हैं ऐसे ही कुछ और नामों की:

राम जेठमलानी

राम जेठमलानी की गिनती भारत के सबसे बड़े औरअनुभवी वकीलों में की जाती है. इनकी फीस की बात करें, तो यह एक हेयरिंग में पेशी के लिए 25 लाख रुपये लेते हैं. इन्होंने कई सारे बड़े केसों की पैरवी की है. फिर चाहे वह राजीव गांधी और इंदिरा गांधी के हत्यारों की पैरवी का केस हो, अंडरवर्ल्ड डॉन हाजी मस्तान के स्मगलिंग का केस हो, बीजेपी नेता लाल कृष्ण आडवाणी का हवाला घोटाले का केस हो या फिर 2जी घोटाले में आरोपी कनिमोझी का केस ही क्यों न हो.

आसाराम की जमानत के लिए राम जेठमलानी ने ही जयपुर कोर्ट में पैरवी की थी. इतना ही नहीं, तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री दिवंगत जे. जयललिता के करप्शन मामले में भी यह पैरवी कर चुके हैं.

India’s Top Lawyers, Ram Jethmalani (Pic: indiatoday)

फली नरीमन

फली नरीमन सुप्रीम कोर्ट में एक पेशी के लिए 8 से 15 लाख रुपये लेते हैं. इन्हें हाल ही में बीसीसीआई प्रमुख का नाम सुझाने वाली समिति का सदस्य बनाया गया था, हालांकि उन्होंने इस समिति में शामिल होने से इनकार कर दिया था. फली नरीमन तमिलनाडु और कर्नाटक के बीच चल रहे कावेरी नदी विवाद में वकील हैं. वह इस पेशे में काफी लंबे समय से सक्रिय हैं और देश के सबसे सफलतम वकीलों में से एक माने जाते हैं.

पी चिदंबरम

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री चिदंबरम सुप्रीम कोर्ट की पेशी के लिए 6-7 लाख रुपये, जबकि हाईकोर्ट की पेशी के लिए 7 से 15 लाख रुपये की फीस लेते हैं. इनके पास कोल ब्लॉक एलोकेशन सबसे चर्चित मामला रहा है.

सलमान खुर्शीद

कांग्रेस के नेता सलमान खुर्शीद सुप्रीम कोर्ट में पेशी के लिए 5 लाख से अधिक रुपये लेते हैं, जबकि हाईकोर्ट के लिए 8 से 11 लाख रुपये लेते हैं. तहलका के एडिटर तरुण तेजपाल रेप केस इनके चर्चित केसों में से एक है.

के.के. वेणुगोपाल

कोर्ट में पेशी के लिए के.के. वेणुगोपाल की फीस 5 से 15 लाख रुपए है. यह आधार को बाध्यकारी करने के मामले में सुप्रीम कोर्ट में चले केस में वकील रहे हैं. इन्होंने सबरीमाला में जेंडर के आधार पर भेदभाव के मामले में पैरवी की थी. लोढ़ा कमिटी की सिफारिशों को लागू करने के मामले में भी यह बीसीसीआई की पैरवी करते दिखे.

India’s Top Lawyers, KK Venugopal (jagruk.in)

गोपाल सुब्रमण्यम

गोपाल सुब्रमण्यम केस में हर पेशी के लिए कम से कम 5 लाख से 16.5 रुपये लेते हैं. यह भारत के पूर्व सॉलिसिटर जनरल और वरिष्ठ अधिवक्ता भी रहे हैं. मुम्बई हमले और कसाब मामले में महाराष्ट्र सरकार की तरफ से पैरवी के लिए यह जाने गए. सांस्कृतिक एवं लोक कलाओं में उनकी रुचि है. इनके चर्चित केसों में ग्राहम स्टेंस मर्डर केस, जेसिका लाल मर्डर केस और पार्लियामेंट पर आतंकी हमला शामिल है.

सुशील कुमार

सुशील कुमार अपने हर एक केस में हर पेशी के लिए कम से कम 5.5 लाख रुपये लेते हैं. यह वरिष्ठ अधिवक्ता हैं, तो देश के बेहतरीन क्रिमिनल लॉयर भी माने जाते हैं. वे अकेले ऐसे अधिवक्ता हैं जो कोर्ट में शेरवानी पहने नजर आते हैं. वे धार्मिक पुस्तकें पढ़ते हैं, तो खाली वक्त में भी वे कोर्ट केस फाइल पढ़ते नजर आते हैं. वे जे.कृष्णामूर्ति के जीवन और कामों से प्रभावित हैं.

पराग त्रिपाठी

पराग त्रिपाठी कोर्ट में पेशी के लिए 5 से 10 लाख रुपए की फीस लेते हैं. इनके चर्चित केसों में डीएलएफ के खिलाफ एक मामले में सीसीआई की पैरवी करना, आईपीएल के पूर्व चेयरमैन ललित मोदी की कई मामलों में पैरवी करना शामिल है.

सीए सुंदरम

सीए सुंदरम की प्रति हेयरिंग फीस 5.5 से 16.5 लाख रुपए है. इन्होंने कई मामलों में बीसीसीआई की पैरवी की है. सुंदरम ने एस रंगराजन केस में भी पैरवी की, जिसमें फ्रीडम ऑफ स्पीच और एक्सप्रेशन से संबंधित बड़ा फैसला आया.

हरीश साल्वे

हरीश साल्वे देश के सबसे ताकतवर लोगों की सूची में 18वें स्थान पर हैं. वह हर केस की सुनवाई के लिए 6 से 15 लाख रुपए लेते हैं. बॉलीवुड एक्टर सलमान खान का हिट एंड रन केस भी वही लड़ रहे हैं. उनके क्लाइंट में दिग्गज कंपनियां रिलायंस, टाटा, आईटीसी और वोडोफोन तक शामिल हैं. साल्वे 1999 से लेकर 2002 के बीच केंद्र सरकार में सॉलिसिटर जनरल के रूप में काम कर चुके हैं.

India’s Top Lawyers, Harish Salve (Pic: yogeshnaik)

केटीएस तुलसी

तुलसी की कोर्ट में एक पेशी की फीस 5 लाख से 9 लाख रुपये है. तुलसी उपहार पीड़ितों के लिए कोर्ट में पैरवी करते रहे हैं. राज्यसभा सांसद और वरीष्ठ वकील केटीएस तुलसी साइकिल से संसद पहुंचने को लेकर भी सुर्खियों में रहे थे.

कपिल सिब्बल

कोर्ट में एक पेशी के सिब्बल 5 से 16 लाख रुपये चार्ज करते हैं. कपिल सिब्बल सहारा समूह के चीफ सुब्रतो राय के वकील हैं. यह कोलगेट केस में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के भी वकील हैं.

शांति भूषण

वरिष्ठ वकील शांति भूषण कोर्ट में पेशी के लिए 4.5 लाख से 6 लाख रुपये की फीस लेते रहे हैं. शांति भूषण 1977 से 1979 के बीच मोरारजी देसाई के मंत्रालय में भारत के कानून मंत्री रह चुके हैं.

रंजीत कुमार

कोर्ट में एक पेशी के लिए रंजीत 4 से 5 लाख रुपये लेते हैं. रंजीत उच्चतम न्यायालय में कई मामलों में गुजरात सरकार के वकील और न्यायमित्र रह चुके हैं. उन्होंने जिन मामलों की पैरवी की उनमें सोहराबुद्दीन शेख मुठभेड़ का मामला शामिल है.

दुष्यंत दवे

दुष्यंत दवे कोर्ट में पेशी के लिए 5.5 लाख से 10 लाख रुपये की फीस लेते हैं. दुष्यंत तमिलनाडु की दिवंगत मुख्यमंत्री जे जयललिता के आय से अधिक संपत्ति के मामले से जुड़े हुये हैं.

India’s Top Lawyers, Dushyant Dave (Pic: Manthan /youtube.com)

ये थे भारत के वकीलों के कुछ एक नाम, जो अपनी मंहगी फीस के लिए जाने जाते हैं. ऐसे सैकड़ों और नाम हैं जो अपनी मोटी फीस के चर्चा में रहते हैं.

Web Title: India’s Top Lawyers, Hindi Article

Keywords: Ram Jethmalani,Fali Nariman, KK Venugopal, Gopal Subramanium, P Chidambaram, Harish Salve,  AM Singhvi, CA Sundaram, Salman Khurshid, Parag Tripathi, KTS Tulsi, Kapil Sibal, Shanti Bhushan, Dushyant Dave, Arvind Kejriwal, Delhi Government, India

Featured image credit / Facebook open graph: Indianexpress.com