सड़कें एक ऐसा जरिया है, जिनके सहारे हम एक स्थान से दूसरे स्थान तक पहुंचते हैं. वैसे तो आमतौर पर हम शहरी लोगों का सामना सुविधाजनक सड़कों से ही होता है. पर जब कभी हमारा वास्ता कुछ खस्ताहाल सड़कों से हो जाता तो हम सोच में पड़ जाते हैं कि हम क्या करें? निश्चित रुप से ऐसी सड़कों पर गाड़ी चलाना किसी मौत के खेल से कम नहीं हैं. आपको जानकर हैरानी होगी कि हमारे देश में एक नहीं बल्कि कई ऐसी सड़के हैं, जहां लोग अपनी जान हथेली पर लेकर चलते हैं. तो आईये चर्चा करते हैं कुछ ऐसी ही सड़कों के बारे में:

रोहतांग पास

रोहतांग पास भारत के उन रास्तों में से है, जिस पर मौत हर कदम पर रहती है. यहां एक छोटी सी गलती का मतलब होता है खेल ख़त्म! यह भारत में सबसे ऊँचाई पर बनी सड़कों में से एक है. हिमालय की वादियों से घिरा रोहतांग पास जितना देखने में सुन्दर लगता है उतना ही ये खतरनाक भी है. जमीन से 13000 फीट ऊपर रोहतांग पास पर अनचाही बारिश, भूस्खलन, बर्फ़बारी का आना-जाना लगा रहता है. यही कारण है कि यहां की सड़क साल-दर-साल जानलेवा होती जा रही है. आये दिन यहां से हादसों की खबरें आती रहती हैं. इस सड़क पर चलने का हुनर कुछ एक अनुभवी चालकों को ही आता है.

India’s Deadliest Roads, Rohtang Pass (Pic: mouthshut.com)

नेशनल हाईवे-22

शिमला का नेशनल हाईवे-22 शिमला से रेकोंग पीओ तक जाता है. यहां पर अधिकतर वही गाड़ी चालक दिखते हैं, जो यहीं के मूल निवासी हैं. असल में इस एनएच के सिर चकरा देने वाले घुमावदार मोड़ और कच्चे रास्ते किसी नौसिखिए चालक के लिए नहीं हैं. यहां पर छोटी-छोटी दूरी को पार करने में कभी-कभी घंटो लग जाता है. ख़राब मौसम में तो यहां आना जोखिम भरा होता है. जिस समय यहां बर्फ़बारी होती है, उस समय तो यहां की सड़कों में और ज्यादा फिसलन हो जाती है. इस कारण लोग दुर्घटना का शिकार होते रहते हैं.

थ्री लेवल जिग जैग रोड

सिक्किम में स्थित इस रोड को ‘थ्री लेवल जिग जैग’ रोड के नाम से जाना जाता है. जमीन से 11000 फीट ऊंचाई पर बनी यह सड़क उन लोगों के लिए बिलकुल नहीं जो ऊंचाई से डरते हैं. जिग ज़ैग रोड की सड़कें इतनी घुमावदार है कि कई बार हादसों का सबब बन जाती हैं. यहां घुमाव इतना ज्यादा होता कि रोड सामने से नाम के लिए ही दिखती है. सालों से गाड़ी चलने वाले लोगों के हाथ-पैर फूल जाते हैं इस पर चलने से.

India’s Deadliest Roads, Zig Zig Road (Pic: pinterest.com)

लेह मनाली हाईवे

मनाली से लेह तक जाने के लिए यह सड़क एक मात्र रास्ता है. गगन चूमती पहाड़ियों पर बनी यह रोड़ सुन्दर नज़रों और पल-पल के खतरे से भरपूर है.

‘इस सड़क पर दुर्घटनाग्रस्त हुए वाहन अक्सर दिख ही जाते हैं. जाड़े के मौसम में तो यह आधे समय बंद ही रहती है. ऊपर से होने वाली भारी बर्फ़बारी इस रास्ते को इतना जटिल बना देती है कि कोई भी इसे पार करने से पहले एक बार सोचता जरुर है.

ऊपर से हाईवे की सड़क कहीं-कहीं पर इतनी ज्यादा सकरी है कि दो गाड़ी भी एक साथ नही निकल पाती हैं. इस सड़क को पार करने के लिए एक गाड़ी को रुक कर दूसरे के निकल जाने का इंतज़ार करना पड़ता है.

India’s Deadliest Roads, Leh Manali Highway (Pic: worldfortravel.com)

नेरल माठेरण रोड

महाराष्ट्र में स्थित नेरल माठेरण रोड़ का सफ़र वैसे तो 10 किलोमीटर से थोड़ा कम है. पर इसकी इतनी कम दूरी भी कई बार बहुत घातक साबित होती है. नेरल से मठेरण जाने का यह एकमात्र ही रास्ता है, वो भी जोखिम से भरा. पूरा का पूरा रास्ता टूटा फूटा है. यहां अपनी गाड़ी के पहियों को संभालना एक बहुत बड़ी चुनौती माना जाता है. हालांकि कुछ एक जगह रोड अच्छी भी मिलती है. पर यह सिर्फ नाम के लिए है. सकरा होना इस रोड को खतरनाक बनाता है, जिसके कारण इसे कई बार हादसों की रोड कहकर बुलाया जाता है.

India’s Deadliest Roads, Neral Marethan Road (Pic: imonholidays.com)

जोजी ला रोड

श्रीनगर से कश्मीर तक होकर जाने वाली यह रोड भारत की सबसे खतरनाक सड़कों की सूची में शामिल है. समुद्र तल से 11000 फ़ीट की ऊंचाई पर है. हिमालय की ऊंची चोटियों पर बनी बाकी सड़कों की तरह जोजी ला को भी शीत ऋतु में बंद रखा जाता है. यह पतली होने के साथ-साथ बहुत व्यस्त रहती है. इस कारण इस रोड पर हादसे का खतरा बढ़ जाता है.

India’s Deadliest Roads, Zojila (Pic: imgur.com)

नाथू ला पास

समुद्र तल से 14000 फीट की ऊंचाई पर स्थित नाथू ला पास की रोड भी खतरनाक सड़कों में शुमार है. नाथू ला पास सिक्किम से तिब्बत को होते हुए जाता है. यह रास्ता अक्सर भारी बर्फ से घिरा रहता है. भूस्खलन तो यहां पर एक आम बात है. इस सड़क पर जगह-जगह आपको पत्थर गिरे दिख जायेंगे. कई बार तो यही पत्थर हादसों को जन्म देते हैं.

किश्तवर रोड

खतरों से खेलने का शौक फरमाने वालों के लिए जम्मू के किश्तवर का सफ़र किसी सपने के पूरे होने जैसा है. सकरी सड़कों से होता हुआ 250 किलोमीटर का लम्बा सफ़र बिना किसी सुरक्षा के तय करना पड़ता है. आधे रस्ते तो आपको पता भी नहीं चलेगा कि सड़क जैसी कोई चीज़ यहां थी भी की नहीं. ऊपर से नीचे देखने पर हजारों फीट की गहराई किसी मौत के कुएं से कम नहीं होती. रास्ता इतना फिसलन भरा हो जाता है कि नये ड्राइवर आधे रास्ते से ही वापस आने का मन बना लेते हैं. यहां रात में सफ़र करने का मतलब होता है अपनी मौत को दावत देना.

India’s Deadliest Roads, Kistwar (Pic: thetripriders)

कर्दुन्गला पास

लेह से कर्दुन्गला जाने का रास्ता बहुत ही चुनौतियों से भरा है. तीन घंटे के इस सफ़र में रास्ते में कभी तेज़ बहती हवाओं का समना करना पड़ता है, तो कभी पिघलती बर्फ से चिकनी हुई सड़क का. और तो और कभी-कभी तो भूस्खलन का नज़ारा भी देखने को मिल जाता है. यहां पर बनी अच्छी-अच्छी सड़कें महज़ एक छलावा है. असल में यहां की सड़कों पर चलने का मतलब अंगारों पर चलने जैसा है.

किन्नौर रोड

किन्नौर रोड हिमाचल में स्थित है, जो तिब्बत से जाके जुडती है. किन्नौर की खास बात यह है कि इसका रास्ता किसी चट्टान को काटकर बनाया गया है. शीत ऋतु के मौसम में भारी बर्फ़बारी के करण इसे छह महीने के लिए बंद भी रखा जाता है, ताकि कोई दुर्घटना ना हो. बावजूद इसके यहां पर दुर्घटनाएं होती रहती हैं.

India’s Deadliest Roads, Kinnaur (Pic: lonelyplanet.in)

भारत की खूबसूरत वादियों में छुपे यह थे कुछ खतरनाक रास्ते. गजब की बात तो यह है कि इतने खतरनाक होने के बावजूद युवा इन रास्तों पर सफ़र के लिए रोमांचित रहते हैं. यहां तक कि विदेशों से आने वाले सैलानी भी इन खतरनाक सड़कों पर सफ़र करते नज़र आते हैं. इनके लिए यह रोमांचकारी होती है.

Web Title: India’s Deadliest Roads, Hindi Article

Keywords: India,Deadliest, Roads, Roads, Accident, Manali, Leh, Sikkim, Maharashtra, Driving, Driver, Highway, National Highway, Travel, Destination

Featured image credit / Facebook open graph: redtiger.com / digidunia