आईपीएल के हर सीजन में दिल्ली डेयरडेविल्स एक मजबूत टीम बनकर उभरी है. विरेन्द्र सहवाग, गौतम गंभीर, एबी डीविलियर्स, महेला जयवर्धने, तिलकरत्ने दिलशान और मॉर्ने मार्कल जैसे खिलाड़ी इस टीम का हिस्सा रह चुके हैं, बावजूद इसके टीम अभी तक एक भी आईपीएल खिताब पर अपना कब्जा नहीं कर पाई है. हालांकि उसका प्रदर्शन संतोषजनक रहा है. पहले दोनों आईपीएल सीजन में दिल्ली की टीम सेमीफाइनल तक पहुंची थी, लेकिन उसके बाद से दिल्ली का प्रदर्शन लगातार गिरा.

इस सीजन की शुरुआत भी टीम ने हार के साथ ही की है. आरसीबी ने इसे 15 रनों से पीटा. इसके बावजूद टीम आईपीएल के खिताब की ओर आगे बढ़ना चाहेगी. तो आइये नज़र डालते हैं, इसके अब तक सफ़र और फेरबदल पर:

कुछ ऐसा रहा अब तक का सफ़र

2008 के सीजन में दिल्ली सहवाग की कप्तानी में मैदान पर उतरी और अपने शानदार प्रदर्शन से सभी का दिल जीतने में कामयाब रही. टीम इस सीजन में सेमीफाइनल में पहुंची, लेकिन आगे नहीं बढ़ सकी. 2009 का सीजन भी टीम के लिए कुछ ऐसा ही रहा. 2010 में टीम आगे बढ़ी तो टीम मैनजमेंट ने बेहतर प्रर्दशन के लिए टीम की कप्तानी सहवाग से छीनकर गौतम गंभीर को दे दी, लेकिन टीम कुछ खास नहीं कर सकी और पांचवे स्थान पर रही. 2011 के सीजन में टीम एक बार फिर से सहवाग की कप्तानी में उतरी.

टीम के लिए यह सीजन तो बहुत बुरा रहा. लगातार हार के साथ टीम के हिस्से में 10वां स्थान आया. 2012 में भी तस्वीर कुछ ऐसी ही रही. इसके बाद सिर्फ टीम में कप्तान बदले, प्रदर्शन नहीं. 2013 में टीम की कप्तानी महेला जयवर्धने के पास रही, तो 2014 में दिनेश कार्तिक, 2015 में जे.पी. ड्यूमिनी के पास.

2016 के सीजन के लिए जब इस टीम की कप्तानी जहीर को दी गई, तो टीम के दर्शकों में एक बार फिर से उम्मीदें जगी कि टीम कुछ अच्छा करेगी. इस सीजन में टीम ने अच्छा प्रदर्शन भी किया, लेकिन छठे स्थान तक ही पहुंच सकी. इस सीजन में भी टीम अपना एक मैच खेल चुकी है, जिसमें उसे हार का सामना करना पड़ा है. आगे इसका प्रदर्शन देखने लायक होगा.

Review of Delhi Daredevils, IPL 2016 (Pic: sportskeeda.com)

धारदार गेंदबाजी टीम की असल मजबूती

इस बार दिल्ली ने आस्ट्रेलियाई पॅट कमिंस और दक्षिण अफ्रीका के कागीसो रबाडा को खदीदकर टीम की गेंदबाजी को मजबूत करने की कोशिश की है. इन दोनों गेंदबाजों को दुनिया में सबसे घातक युवा तेज गेंदबाज माना जाता है. साथ ही भारतीय दिग्गज जहीर खान को नहीं भूला जा सकता, जिनके पास लम्बा अनुभव है. इसके अलावा क्रिस मॉरिस और नाथन कल्टर-नाइल, बेन हिल्फेनहॉस और शामी जैसे गेंदबाजी को अतिरिक्त आयाम प्रदान करने के लिए मौजूद हैं.

अगर स्पिनर्स की बात करें तो यहां भी दिल्ली टीम का पलड़ा भारी है. अमित मिश्रा, जयंत यादव, मुरुगन अश्विन और शाहबाज नदीम के साथ दिल्ली की स्पिन गेंदबाजी पूरी तरह तैयार है. हालांकि इमरान ताहिर के न रहने पर दिल्ली को विदेशी स्पिनर की कमी जरूर खलेगी.

वर्ल्ड क्लास ऑल-राउंडर्स की भरमार

दिल्ली में दो विश्व स्तर के आलराउंडर हैं, जो मैच जिताने के लिए जाने जाते हैं. इसमें पहला नाम है दक्षिण अफ्रीका के क्रिस मॉरिस का, इन्होंने दिल्ली के लिए पिछले तीन सत्रों में 41 विकेट लेकर गेंद से अपनी क्षमताओं को दिखाया है. मॉरिस एक पॉवर हिटर बल्लेबाज भी हैं. इसी कड़ी में दूसरा नाम कीवी स्टार कोरी एंडरसन का है, जिन्होंने एकदिवसीय मैचों में सबसे तेज 36 गेदों में शतक जड़ने का रिकॉर्ड बनाया है. कोरी गेदबाजी में भी अच्छी स्किल रखते हैं.

दिल्ली की बल्लेबाजी में भी है दम

दिल्ली की टीम में बल्लेबाजी क्रम को देखें, तो हम पायेंगे कि इसमें भारतीय और विदेशी खिलाड़ियों का सही मिश्रण है. जहां कार्लोस ब्रैथवेट और सैम बिलिआंग जैसे विस्फोटक विदेशी खिलाड़ी टी 20 प्रारूप के लिए अनुकूल हैं, वहीं भारतीय युवा खिलाड़ी ऋषभ पंत, संजू सैमसन और करुण नायर टीम को अतिरिक्त ताकत प्रदान करते हैं. हालांकि इस सीजन के पहले मैच में ऋषभ पंत का बल्ला नहीं चला और टीम को हार का मुंह देखना पड़ा.

जहीर और द्रविड़ असल ताकत

कप्तान जहीर इस सीजन में भी दिल्ली टीम का नेतृत्व करते नजर आएंगे. देखा जाए तो जहीर इस टीम की सबसे बड़ी ताकत हैं. उनके पास विश्व की सबसे बेहतरीन टीमों और बल्लेबाजों के खिलाफ खेलने का अनुभव है जो आईपीएल में दिल्ली टीम के काम आ सकता है. पहला सीजन उनके लिए भी नया था लेकिन अब हालात बदल चुके हैं और जहीर अपने नए अनुभव के साथ इस सीजन में उतरेंगे और उम्मीद है कि नतीजे भी जरूर बदलेंगे. इस बार जहीर का साथ देने के लिए राहुल द्रविड़ भी बतौर मेंटॉर दिल्ली टीम में मौजूद हैं. ये दोनों दिग्गज लंबे समय तक एक साथ खेल चुके हैं. भारतीय टीम के ये दो सदस्य दिल्ली की किस्मत पलट सकते हैं.

Review of Delhi Daredevils, Dravid and Zaheer (Pic: cricbuzz.com)

स्टार खिलाड़ियों की चोट से नुकसान

जेपी डुमिनी और कुनटन डी कॉक जैसे टीम के स्टार खिलाड़ी चोट के कारण टूर्नामेंट से बाहर हैं. यह टीम के लिए बड़ा संकट हो सकता है. इसके साथ ही भारतीय युवा खिलाड़ी श्रेयस अय्यर और श्रीलंका के आलराउंडर एंजेलो मैथ्यूज भी चोटिल हैं. टीम को इनकी अनुपस्थिति में बड़ा नुकसान उठाना पड़ सकता है.

प्रायोजक और पार्टनर्स

साल दर साल इस टीम के प्रायोजक और पार्टनर्स बदलते रहे. 2008 में इस फ्रैंचाइज़ी को जेटकिंग, 2010 में आइडिया, 2011 से 13 में मुथूट समूह, 2015 में डेकिन, लक्स कोजी, 2016 और 17 शिव नरेश, मैनफोर्स का साथ मिला. इस फ्रैंचाइज़ी का मालिकाना हक जीएमआर समूह के पास है.

दिल्ली डेयरडेविल्स की टीम

जहीर खान (कप्तान), जेपी ड्यूमिनी, मोहम्मद शमी, शाहबाज नदीम, मयंक अग्रवाल, जयंत यादव, अमित मिश्रा, श्रेयस अय्यर, सैम बिलिंग्स, संजू सैमसन, क्रिस मॉरिस, कार्लोस ब्रैथवेट, करुण नायर, ऋषभ पंत, चामा मिलिंद, सैयद खलील अहमद, प्रतिभू सिंह, आदित्य तरे, अंकित बावने, पैट कमिंस, कागीसो रबाडा , एंजेलो मैथ्यूज , नवदीप सैनी, मुरुगन अश्विन, शशांक सिंह, कोरी एंडरसन.

कई बार कप्तान बदलने के बाद भी दिल्ली की किस्मत नहीं चमकी. हालांकि पिछले सीजन में भारत के सफल तेज गेंदबाज जहीर खान को कप्तानी सौंपने के बाद दिल्ली ने धमाकेदार शुरुआत की लेकिन शुरुआती मैच जीतने के बाद दिल्ली को लगातार हार का सामना पड़ा और वह ग्रुप टेबल में छठे नंबर पर पहुंच गई थी. इस बार टीम से इससे बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद है, किन्तु… फैसला तो मैदान में ही होने वाला है. जंग शुरू भी हो चुकी है, तो दिल्ली के प्रशंसक इन्तेजार में हैं इस बार कि… !!

Review of Delhi Daredevils, Shreyas Iyer (cricketcountry.com)

Web Title: Review of Delhi Daredevils, Hindi Article

Keywords: Angelo Matthews, Delhi Daredevils, IPL 2017, JP Duminy, Kagiso Rabada, Pat Cummins, Rahul Dravid, Rishab Pant, Shreyas Iyer, Zaheer khan

Featured image credit / Facebook open graph: sportsblog.com