जब कोई किसी तानाशाह के बारे में बात करता है तो क्रूरता की तस्वीरें हमारी आंखो के सामने घूमने लगती हैं. गजब की बात तो यह है कि आज के आधुनिक दौर में जब लोग प्रगतिशीलता की ओर अग्रसर हैं, तब भी किम जोंग उन जैसे तानाशाह की खबरें सुनने को मिलती हैं. हालाँकि, यहाँ हम बात करेंगे उन तानाशाहों की, जो अब इस दुनिया में नहीं हैं. तानाशाहों के बारे में मशहूर है कि अपने वर्चस्व के लिए वह न सिर्फ नियम बदलते रहे हैं, बल्कि मानवता के लिए एक बड़ा संकट भी खड़ा करते रहे हैं.  आइये बात करते हैं, जुल्म और सितम ढाने वाले ‘क्रूरतम तानाशाहों की:

किम जोंग-इल

किम जोंग-इल उत्तर कोरिया का सबसे क्रूर तानाशाह माना जाता था. अपने सनकीपन और क्रूरता के लिए प्रसिद्ध इस तानाशाह के राज में पूरे देश के नागरिक दिन रात दहशत में जीते थे. इसने उत्तर कोरिया में कई लोगों की हत्याएं करवाई थी. इस सनकी तानाशाह ने दुश्मन देशों के ऊपर अपना प्रभाव बनाने के लिए कई मिसाइलों का परीक्षण भी करवाया था. इसकी मौत रेल यात्रा के दौरान दिल का दौर पड़ने के वजह से हुई थी. हालांकि इसके मर जाने के बाद भी उत्तर कोरिया के नागरिकों को तानाशाही से मुक्ति नहीं मिली है. अब इसकी विरासत को इसका बेटा किम जोंग उन संभाल रहा है. इनके शासनकाल के दौरान तकरीबन 20 लाख लोगों को भिन्न वजहों से मरने का अंदेशा है. इन्होंने अपने अत्याचार से तकरीबन 2 लाख लोगों को बंदी भी बनाया था.

Ruthless Dictators of the World, Kim Jong-il-(Pic:youtube)

इदी अमीन

इदी अमीन की गिनती दुनिया के क्रूर तानाशाहों में की जाती है.  युगाण्डा के सेना प्रमुख रहे इदी अमीन ने 1971 में मिल्टन ओबोटे को जबरन सत्ता से हटाकर युगांडा की सत्ता अपने हाथ में कर ली थी. आठ साल सत्ता में रहे अमीन ने देश के नागरिकों पर बड़ी बेहरमी और क्रूरता दिखाई थी. बता दें कि इस तानाशाह ने करीब 50 हजार लोगों को मौत के घाट उतारा था. उसके सजा देना का तरीका बड़ा ही क्रूर हुआ करता था. लोगों को जमीन में जिन्दा दफ़न करवा देना और भूखे मगरमच्छों के सामने डाल देना उसके लिए मजाक होता था. 1979 में तंजानिया की सेना ने जब युगांडा पर हमला बोला तो यह तानाशाह देश छोड़कर भाग निकला और सऊदी अरब में जाकर बस गया. कहा जाता है कि 16 अगस्त 2003 में  इसकी दर्दनाक तरीके से मृत्यु हुई.

Ruthless Dictators of the World, Idi-Amin (Pic:travisherche)

मुअम्मर अल-गद्दाफी

लीबिया पर तक़रीबन 42 साल तक राज करने वाला यह तानाशाह कर्नल गद्दाफी के नाम से जाना जाता था. कहा जाता है कि इस तानाशाह ने लीबिया को आर्थिक रूप से पूरी तरह बर्बाद कर दिया. इसकी क्रूरता से पूरी लीबिया की जनता भय खाती थी. इस तानाशाह के अय्याशी के चर्चे सुर्खियों में रहे हैं. कहा जाता है कि गद्दाफी को स्कूलों में जाने का बड़ा शौक था, कोई न कोई बहाना निकाल वह स्कूल पहुंच जाता था. खबरों की माने तो

गद्दाफी के किसी लड़की के सिर पर हाथ रखने का मतलब यह होता था कि वह लड़की उसे पसंद है, जिसके बाद में गद्दाफी के सामने परोसा जाता था.

गद्दाफी के इस तानाशाही रवैये से परेशान होकर लीबिया की जनता विद्रोह पर उत्तर आई और विद्रोहियों ने उसे पीट-पीट कर अक्टूबर 2011 में मार डाला.

Ruthless Dictators of The World, Muammar AlGaddafi (Pic:atlanticsentinel)

फ्रेंसिको फ्रांको

फ्रेंसिको फ्रांको की गिनती स्पेन के सबसे क्रूर तानाशाहों में की जाती है. अपने क्रूर और सनकी मिजाज के लिए प्रसिद्ध फ्रांको अपने राजनैतिक दुश्मनों के लिए सबसे खतरनाक माना जाता था. दोषी पाए जाने पर सरेआम फांसी पर लटका देना उसके लिए आम सजा थी. फांको के बारे में कहा जाता है कि उसे अपने लोगों को गला घोंटकर मारने में बहुत ही आनंद मिलता था. इसकी क्रूरता से पूरे स्पेन के लोग दहशत में जीते थे. इस सनकी तानाशाही का ही नतीजा था कि पूरे स्पेन की अर्थ व्यवस्था बिगड़ गई थी. इस क्रूर तानाशाह की मौत 1975 में हुई थी.

Ruthless Dictators of The World, Francisco Franco (Pic:biography)

पोल पॉट

पोल पॉट मार्क्सवादी विचारधारा से प्रभावित तानाशाह था. 1975 में कंबोडिया की सत्ता संभालने के बाद से उसने अपनी तानाशाही शुरू कर दी थी. इसकी क्रूर तानाशाही से कंबोडिया की जनता घुट-घुट के जीने पर मजबूर थी. वह अपने राज्य में खुद को बुद्धजीवी मानने वाले को मौत के घाट उतरवा देता था. यहां तक कि चश्मा पहनने और विदेशी भाषा बोलने पर भी पाबन्दी थी. ऐसा करने वाले को उसकी सेना बुरी तरह प्रताड़ित करती थी. उसने अपने चार साल के शासनकाल में हजारों महिलाओं, पुरुषों और बच्चों को क़ैद करके रखा था. पोल पॉट की मौत 1998 में एक गुट द्वारा नजरबंदी करके रखे जाने के दौरान हुई थी.

Ruthless Dictators of The World, Pol Pot (Pic: youtube)

सद्दाम हुसैन

दुनिया के सबसे बदनाम कातिलों में शामिल सद्दाम हुसैन की गिनती दुनिया के कुख्यात तानाशाहों में होती है. इसने अपने क्रूर तानाशाही से लाखों लोगों को मौत के घाट उतार दिया था. दो दशक तक इराक का राष्ट्रपति रहते हुए उसकी सुन्नी समुदाय में अच्छी पकड़ थी और उसके  हर गलत काम में इस समुदाय के लोग साथ देते थे. बता दें कि दुजैल जनसंहार कांड में सद्दाम हुसैन की अहम् भूमिका थी. सद्दाम हुसैन के बढ़ते अत्यचारों को अमेरिका ने अपने देश के लिए खतरा मानते हुए इराक पर हमला बोल दिया और पूरे इराक पर अमेरिका का कब्ज़ा हो गया. इसी कड़ी में सद्दाम हुसैन को बंदी बना लिया गया और बाद में उसे फांसी की सजा सुना दी गई. हालाँकि, बिना कोई ठोस विकल्प तैयार किये सद्दाम को हटाने की आलोचना भी की जाती है, क्योंकि कहते हैं कि ईराक से सद्दाम के हटते ही इस्लामिक स्टेट नामक आतंकवादी संगठन का उभार हुआ, जिसके चपेटे में कई देश आ गए.

Ruthless Dictators of The World, Saddam Hussein (Pic:australiannationalreview)

बेनिटो मुसोलिनी

दुनिया के सबसे खतरनाक तानाशाहों में शुमार मुसोलिनी इटली की राष्ट्रीय फासिस्ट पार्टी का प्रमुख नेता था. अपने समर्थको में ब्लैक शर्ट के नाम से मशहूर यह तानाशाह अपने विरोधियों को हमेशा निशाना बनाता था. जो भी उसके काम में दखलअंदाजी करता था, वह उसे मौत के घाट उतारने में जरा सी भी देरी नहीं करता था. सत्ता में बने रहने के लिए वह हमेशा ही नई योजनाए सोचता रहता था.  इसके लिए उसने 1935 में इथोपिया पर हमला करके उसे इटली में शामिल कर लिया था. स्पेन के गृह युद्ध में भी इसकी बड़ी भूमिका मानी जाती है. इस युद्ध में इसने फ्रांको की पूरी मदद की थी, जिसके कारण इस युद्ध में लाखों की संख्या में लोग मारे गए थे. बाद में धीरे-धीरे पूरे देश में इसके खिलाफ विरोध प्रदर्शन होने लगे और यह एक दिन यह प्रदर्शनकारियों के हाथों पकड़ा गया. आखिरकार 28 अप्रैल 1945 को इसको मौत दे दी गई.

Ruthless Dictators of The World, Benito Mussolini (Pic: americanblackshirts)

अडोल्फ़ हिटलर

दुनिया में अगर सबसे ज्यादा कोई तानाशाह कुख्यात है, तो वह हिटलर है. कई वर्ष तक जर्मनी का शासक रहने वाला हिटलर अपनी क्रूरता के लिए पूरी दुनिया में जाना जाता है. कहा जाता है कि हिटलर जैसा तानाशाह आज तक नहीं हुआ है. द्वितीय विश्वयुद्ध के लिए भी हिटलर को ही दोषी माना जाता है. उसके आदेश पर ही नाजी सेना ने पोलैंड पर हमला किया था. इसमें लाखों बेकसूर लोगों की जान गई थी. यहूदियों को मौत के घाट उतारने के किस्से सुनने के बाद आज भी लोग कांप उठते हैं. बता दें कि यहूदियों के साथ इतनी क्रूरता और नफरत करने वाला हिटलर एक यहूदी लड़की से प्यार करता था. हिटलर का अंत समय बहुत ही बुरा था.  खुद को पकड़े जाने के डर से हिटलर ने 30 अप्रैल 1945 को आत्महत्या कर ली थी.

Ruthless Dictators of The World, Adolf Hitler (Pic:renegadetribune)

आगा मोहम्मद याहया खां

पाकिस्तान का सैन्य तानाशाह जनरल याहया खां एक सनकी मिजाज का अफसर था. पाकिस्तान की सत्ता संभालते ही उसने पूरे पाकिस्तान में सैन्य कानून को लागू कर दिया था. गौरतलब हो कि इसकी अगुवाई में ही पूर्वी पाकिस्तान (जो आज बंगला देश है) में राजनैतिक सियासत के लिए हिंसा ने जन्म लिया था. इसमें सबसे बड़ा हाथ इसी का माना जाता है. इसके आदेश पर ही सेना ने हमला करके लाखों बेकसूर लोगों को मौत के घाट उतार दिया गया था. साल 1980 में इस तानाशाह की मौत रावल पिंडी में हो गई .

जोसेफ स्टालिन

जोसेफ स्टालिन की गिनती रूस के प्रसिद्ध तानाशाहों में होती है. 1924 में लेनिन के मौत के बाद रूस की सत्ता स्टालिन के कब्जे में आ गई थी. सत्ता संभालत ही स्टालिन ने रूस में लेनिन की नीतियों को आगे ले जाने का काम शुरु कर दिया था. कहा जाता है कि स्टालिन को सबसे ज्यादा अपने विरोधियों से खतरा रहता था, इसलिए इसने अपने विरोधियों को मारने के नाम पर लाखों लोगों का कत्ल करवा दिया था. इस रुसी तानाशाह की मौत 5 मार्च 1953 को हुई थी.

Ruthless Dictators of The World, Joseph Stalin (Pic:youtube )

फ्रांसवा डूवलियर

फ्रांसवा डूवलियर हैती का तानाशाह था. 14 साल के शासन काल में उसने जनता पर बड़े जुल्म ढाये थे. वह बड़ा ही अंध विश्वासी इंसान था. उसका मानना था कि उसके अंदर आत्माओं की ताकत आती है. उसने यह भी दावा किया था कि आत्मीय शक्तियों के कारण ही अमेरिका के राष्ट्रपति जॉन एफ कैनेडी की हत्या हुई थी. इन्हीं अंधविश्वासों के चलते इस तानाशाह ने कई बार लोगों को मौत के घाट भी उतार दिया था.

Ruthless Dictators of The World, Francois Duvalier (Pic:edgardaily)

मोहम्मद जिया उल हक

पाकिस्तान के इस तानाशाह ने सेना प्रमुख के पद पर रहते हुए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री जुल्फिकार अली भुट्टो का तख्ता पलटकर सत्ता अपने हाथ में कर ली थी. और कुछ ही दिनों बाद जुल्फिकार अली भुट्टो को फांसी के तख़्त पर चढ़ा दिया गया था. बाद में उसने खुद को पाकिस्तान का राष्ट्रपति घोषित कर लिया था. इस सैन्य तानाशाह ने पाकिस्तान में हजारों बेकसूर शिया मुसलमानों को मौत के घाट उतरवा दिया था. साल 1988 में इस सैन्य तानाशाह की विमान में विस्फोट हो जाने से मौत हो गई थी.

Ruthless Dictators of The World, Muhammad zia-ul-Haq (Pic:multimedia)

दुनिया में हुए इन तानाशाहों ने भले ही सत्ता सुख आदि के लिए सभी तरह के बुरे और क्रूर रास्तों को अपनाया, लेकिन उन्हें कुछ हासिल नहीं हुआ. बालीवुड के फिल्म के विलेन की तरह इन क्रूर तानाशाहों का अंत बुरा हुआ. किसी को लोगों ने पीट-पीट कर मार डाला, तो किसी को फांसी पर लटका दिया गया और जो बच निकले उन्हें बीमारी ने मार डाला. किसी शायर ने भी कहा है कि-
जैसी करनी वैसी भरनी, न माने तो करके देख,
दोजख भी है, जन्नत भी है, न माने तो मरके देख…

Web Title:  Ruthless Dictators of the World, Hindi Article

Keywords: Dictators, World, Kim Jong-il, Idi Amin, Muammar Al-Gaddafi, Francisco Franco, Pol Pot, Saddam Hussein, Benito Mussolini, Adolf Hitler, Agha Muhammad Yahya Khan, Joseph Stalin, Francois Duvalier, Muhammad zia-ul-Haq, Dangerous, Opponents,World War, Ruler, Attack, Innocent, Death, Policies, Public, Slaughter, Power, Order, Role

Featured Image Credit / Facebook Open Graph: richestcelebritiesedition