बॉर्डर किसी भी देश के अंतिम छोर को दर्शाता है. इन बॉर्डर्स की अनेकों सुनी अनसुनी कहानियां हैं. अच्छी जिंदगी की आस में लोग बरसो से सीमा रेखाओं को पार कर दुसरे देश में आते-जाते रहे  हैं. आज के समय में जब इंसान अपने आपको महान समझता है तो दुनिया भर में खिंची सीमा रेखाएं उन पर हँसते हुए इंसान और पक्षी का अंतर बताती हैं. क्यूंकि महान समझने वाले इंसान को भी किसी दुसरे देश की सीमा रेखाओं को पार करने का अधिकार नही हैं जबकि पक्षी खुले आसमान में कहीं भी बेझिझक उड़ सकते हैं.

अगर कोई इंसान किसी दुसरे देश की यात्रा करना चाहता है तो उसे वीजा  या पासपोर्ट की जरूरत होती है. यह सच है कि दुनिया की हर सीमा रेखा अपने आप में बहुत महत्वपूर्ण है. बड़े बड़े तानाशाहों का दूसरे देशों पर कब्ज़ा करने की मंशा का इतिहास गवाह रहा है. जिसके कारण दुनिया भर में अशांति और युद्ध होते रहे हैं. तनाव से बचने के लिए सीमा की रक्षा में लगे सैनिक हमेशा अलर्ट रहते हैं.

बहुत से लोग अच्छी नौकरी की तलाश में भी दुसरे देश जाना चाहते हैं, मगर सख्त नियमों के कारण नहीं जा पाते. तो आज हम आपको दुनिया के ऐसे  10 बोर्डर्स के बारे में बताएँगे जिसे दुनिया में सबसे खतरनाक बॉर्डर्स माना जाता है.

चीन-उत्तर कोरिया बॉर्डर

द पिन्ग्तु माउंटेन्स, तुमन और यलू नदी चीन और उत्तर कोरिया को विभाजित करती है. कुछ समय पहले जब बॉर्डर सिक्यूरिटी उतनी बेहतर नहीं थी तब कुछ लोगों ने अच्छी ज़िन्दगी की उम्मीद में सीमा पार कर चीन में दाखिल होने की कोशिश की थी. मगर कोरिया के दूसरे राजा  किम के सत्ता में आते ही, चीन से आने वाले प्रवासियों के कारण दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ गया था. इसके अलावा, उत्तर कोरिया सीमा पर तैनात सेना पैसे और खाने के सामान के लिए चीन से आने वाले लोगों के साथ बदसुलूकी और मारपीट करते थे. जिसका परिणाम यह हुआ है की आज चीन एक नुकीली दीवार वाला बॉर्डर बनाने की तैयारी में है. इसी के साथ चीन ने अपने 200 सैनिकों को सीमा क्षेत्र में तैनात कर दिया, वहीं उत्तर कोरिया परमाणु टेस्ट की तैयारी में जुटा है. वर्तमान समय में दोनों देशों की सीमा रेखा पर काफी तनाव है.

China and North Korea’s Border

अमेरिका-मेक्सिको

डोनाल्ड ट्रम्प के चुनाव प्रचार में हमने आपने काफी कुछ इस दिवार के बारे में सुना है. वस्तुतः ड्रग्स माफिया के लिए सीमा रेखा किसी जन्नत से कम नहीं होता. बहुत से मेक्सिकन्स नौकरी और अच्छी ज़िन्दगी के लिए अमेरिका में सीमा पार घुसने का प्रयास करते रहते हैं. पासपोर्ट और वीसा ना होने के कारण कई लोग अपनी जान गँवा बैठते हैं. अंतरराष्ट्रीय अप्रवास संस्था के रिपोर्ट के मुताबिक पिछले 14 वर्षों में 6000 से भी ज्यादा लोग सीमा पार करने की जद्दोजहद में अपनी जान गँवा बैठे हैं.

US-Mexico Border

मेक्सिकन बॉर्डर् से अधिक मात्रा में नशीली ड्रग्स (नारकोटिक्स) का लेन देन होता था, जिसे देख मेक्सिकन प्रेसिडेंट फिलिप कालडेरों ने ड्रग माफिया को ख़त्म करने की ठान ली थी. जिसके बाद एक एक कर सारे नशीली पदार्थों के सौदागर गिरफ्तार होने लगे. ड्रग्स जैसे दोनों सीमा पार देशों के खून में शामिल हो गया था. पिछले 4 वर्षों में अब तक मेक्सिकों में 44,000 लोग नशीली पदार्थ का सेवन करने से मारे जा चुके हैं. और 45% लोग केलिफ्रोनिया, सोनोरो, तामौलिपस जैसे अन्य जगह से आये हुए थे.

अफ़ग़ानिस्तान-पाकिस्तान

इन दोनों देशों की सीमा रेखा को ‘दूरंद लाइन’ के नाम से जाना जाता है जो कि तक़रीबन 1.5 किमी. लम्बी है. हालाँकि, अफ़ग़ानिस्तान इस बॉर्डर को नहीं मानता है और अपने आप को खैबर-पख्तूनख्वा साम्राज्य का हिस्सा होने का दावा करता है. दोनों देशों के सैनिकों की तैनाती सीमा पर तनाव का एहसास कराता है और समय समय पर दोनों देशों के बीच संघर्ष भी होता रहता है.

The Border between Afghanistan and Pakistan

ऐसा माना जाता है कि तक़रीबन 17 लाख अफगानी नागरिक युद्ध के डर से और नौकरी की कमी के कारण दुनिया भर में इधर उधर भटक रहे हैं. दोनों देशों के सीमा के लिए बना प्रशासन नाकामयाब साबित हुआ है, जिसके कारण दोनों देशों के बीच बिना रूकावट के हथियार, नशीले पदार्थ जैसे अन्य ग़ैरक़ानूनी वस्तुओं का लेन देन होता है. कई सालों से पाकिस्तान अपनी सीमा पर तार से घेराबंदी करने में जुटा हुआ है.

उत्तर कोरिया – दक्षिण कोरिया

मिलिट्री से सजी उत्तर कोरिया-दक्षिण कोरिया की सीमा 150 km लम्बी है. 1953 में हुई कोरियाई युद्ध के बाद से दोनों देशों की सेना आमने सामने तैनात कर दी गयी ताकि दोनों देशों में शांति स्थापित की जा सके. दोनों देशों के बीच किसी प्रकार की शांति संधि नही होने के कारण, दोनों देशों में तनाव का माहौल हमेशा बना रहता है. कुछ समय पहले ही उत्तर कोरियाई पनडुब्बी ने दक्षिण कोरिया की एक युद्ध-पोत को नस्त कर दिया था. दोनों देशों में कई बार युद्ध का माहौल बना जिसे वैश्विक हलकों में खतरनाक माना गया है.

North and South Korean Border

कोलम्बिया-इक्वाडोर

कोलम्बिया-इक्वाडोर सीमा विवाद इक्वाडोर के क्रांतिकारी सशस्त्र बलों (पीपुल्स आर्मी) के कारण हमेशा से रहा है. कोलोम्बियन सरकार का दावा है सशस्त्र बलों (पीपुल्स आर्मी) ने इक्वाडोर की सीमा पर कई अवैध गतिविधियों को अंजाम दिया था. उनका दावा है कि इक्वाडोर सरकार के हमले से पिछले वर्ष तक़रीबन 2 मिलियन से ज्यादा लोगों ने अपनी जान गंवाई. कोलम्बियाई सरकार अक्सर इक्वाडोरियन सरकार पर ऐसी घटना के खिलाफ करवाई ना करने का आरोप लगाते रहती है.

Colombia-Ecuador Border

इसका परिणाम यही है कि दोनों देशों की सरहदों पर हमेशा तनाव का माहौल रहता है. कोलम्बियाई सरकार ने कई बार पीपुल्स आर्मी के खिलाफ अपनी सेना भेज कार्रवाई की है. इसी कारण हमेशा से ही दोनों देश आमने सामने खड़े दिखते हैं.

यमन-सऊदी अरब

110 किमी. की लम्बी यमन-सऊदी अरब बॉर्डर पर ना जाने कितनी बार भयानक हिंसा हुई है. पिछले 65 वर्षों में दोनों देशों के बीच कई बार टकराव के मामले सामने आये हैं. कई बार हथियारों की सप्लाई के लिए सऊदी अरब में दाखिल होने की कोशिश में अवैध लोग लगे रहते हैं. इससे निपटने के लिए सऊदी सरकार सीमा रेखा को ऊँची दीवारों से घेरने की तैयारी में है. वहीं यमन सरकार ने सऊदी सरकार की इस प्रयास का काफी विरोध किया. उनका यह कहना है की सऊदी सरकार सीमा पर रहने वाले भेड़ पालकों के मानवाधिकार का उल्लंघन कर रही है. 2015 में दोनों देशों के बीच हुए युद्ध में लगभग 6000 आम नागरिक और सैनिक मारे गये थे.

Yemen and Saudi Arabia Border

पलेस्टाइन-इजराइल

सैकरों पलेस्टाइन नागरिकों के नरसंहार की खबर ने पूरी दुनिया की मीडिया को झकझोर कर रख दिया है. अब 25 किमी. वाली सीमा रेखा पर दोनों देशों ने बेहद ठोस सिक्यूरिटी का बंदोबस्त किया है. पलेस्टाइन और इजराइल के बीच हमेशा से तनाव का माहौल रहा है.

Israel and Palestine border surrounded by Israel wall

सूडान- दक्षिणी सूडान

दोनों देशों के बीच 22 साल से होने वाले खूनी युद्ध को 2005 में आपसी रजामंदी से समाप्त किया गया. बी.बी.सी में छपे रिपोर्ट के अनुसार लगभग 1.5 मिलियन लोग इस युद्ध में मारे गये थे. 9 जुलाई 2011 को दक्षिणी सूडान अपनी सीमा रेखा के साथ आज़ाद देश बना. फिर अचानक सूडान के राष्ट्रपति उमर हसन अल बशीर ने यह दावा किया कि दक्षिण सूडान का गठन अमान्य है. नए सूडान को न मानते हुए उनसे ABEI क्षेत्र पर अपना कब्ज़ा होने का दावा किया. इस अफरातफरी में तक़रीबन 1,13,000 लोग जान जाने के डरसे अपने अपने घर को छोड़ इधर उधर जाने लगे थे. मगर यूनाइटेड नेशन और अफ्रीकन यूनियन की मदद से वर्तमान समय में दोनों देशों ने अपने अपने हालातों पर नियंत्रण रखे हुए हैं.

Sudan and South Sudan Border

भारत- पाकिस्तान

दोनों देशों में लगातार लड़ाई के बाद माहौल तनावपूर्ण रहता है. अब तक दोनों देशों के बीच 4 युद्ध हो चुके हैं, जिसमें हर बार पाकिस्तान को मुंह की खानी पड़ी. कई बार युद्ध में पराजित होने के बाद भी पाकिस्तान हमेशा से सीमा पर शांति संधि का उलंघन करते रहता है, जिसका मुंहतोड़ जवाब भारतीय सेना देती है. भारत-पाकिस्तान की सीमा दुनिया की सबसे खतरनाक सीमा रेखाओं में जानी जाती है. भारत सरकार के मुताबिक पाकिस्तान से सटे सभी सीमाओं पर ऊँची दीवार से घेराव करने की तैयारी में है. जून 2011 में फॉरेन पालिसी मैगज़ीन में प्रकाशित लेख के मुताबिक अब तक 1800 km की सीमा पर लगभग 1,15,000 लोग मारे जा चुके हैं.

India-Pakistan Border

बांग्लादेश-भारत बॉर्डर

हालाँकि, भारत की मदद से ही बांग्लादेश आजाद देश बना था, मगर आजादी के बाद दोनों देशों के बिच हुई घटनाओं से काफी नुकान हुआ है. ये दुर्भाग्य की बात है कि जिस देश को आजाद करवाने में भारत का इतना बड़ा योगदान रहा, वहीं इन सीमाओं पर घुसपैठ करने वाले 95% बंगलादेशी रहें हैं, जिसके कारण तनाव बढ़ जाता है. हालाँकि, अब दोनों देश काफी हद तक करीब हैं और समस्याएं सुलझ रही हैं.

Bangladesh-India Border

हमारी यह प्रस्तुति आपको कैसी लगी, कमेन्ट बॉक्स में बताना नहीं भूलियेगा…

Original Article Source / Writer: Roar BanglaPapiya Devi Ashru

Translated by: Nitesh Kumar

Web Title: The World’s Most Dangerous Borders, Hindi Article

Keywords: World’s Most Dangerous Borders, China-North Korea Border , US-Mexico  Border, Afghanistan-Pakistan Border, North Korea-South Korea Border, Colombia – Ecuador Border, Yemen-Saudi Arabia, Palestine-Israel Border, Sudan-South Sudan Border, India-Pakistan Border, Bangladesh-India border Border, List Of Dangerous Borders.

Featured image credit / Facebook open graph: roarbangla.com