दूसरे विश्व युद्ध के ख़त्म होने के बाद 1948 (Link In English) के आसपास इज़राइल ने आगे बढ़ना शुरु किया. कहने के लिए वह आज़ाद था, लेकिन उसके पास कुछ भी नहीं था. जहां एक ओर अरब तेल बेच-बेच कर अमीर हो रहा था, वहीं दूसरी तरफ इज़राइल जैसे-तैसे खड़ा होने की कोशिश कर रहा था. वह अपनी सैन्य ताकत बढ़ाना चाहता था, ताकि उसे कोई भी नज़रंदाज़ न कर सके. इसी कड़ी में उन्होंने नए-नए हथियार बनाने शुरु कर दिए. शुरुआत में इजराइल के इस कदम का उपहास उड़ाया गया, पर वह अपने रास्ते चलता रहा. यही कारण है कि आज इज़राइल हथियारों और सेना के मामले में सबसे बेहतर देशों में गिना जाता है.

तो आईये जानते की कोशिश करते हैं इज़राइली सेना की ताकत को:

आधुनिक तकनीक से लैश

इज़राइल के लिए उसकी सेना सबसे मत्वपूर्ण चीज है. अपनी सेना और उससे जुड़ी टेक्नोलॉजी के कारण ही वह आज दुनिया के सामने अपनी एक अलग पहचान बना चुकी है. माना जाता है कि इज़राइल अपने देश के बजट (Link In English) का एक बड़ा हिस्सा अपनी सेना को देता है. करोड़ों का यह बजट यह सुनिश्चित करने के लिए होता है कि सेना को किसी चीज़ की कमी न हो.

बहुत कम ही देश सेना के लिए इतना बड़ा बजट निर्धारित करते हैं. इस बड़े हिस्से में जिस चीज पर सबसे ज्यादा पैसे खर्च होते हैं वह है नई टेक्नोलॉजी. कोई भी देश आज के समय में सिर्फ अच्छे सैनिकों के भरोसे ही नहीं रह सकता है. आज के युग में टेक्नोलॉजी का एक अहम रोल होता है. इज़राइल इसको समझता है, इसलिए अपने हथियारों में उसका भरपूर प्रयोग भी करता है. बताते चलें कि अपनी तकनीक के कारण इजराइल को कहीं बाहर से हथियार खरीदने की जरुरत ही नहीं पड़ती. वह खुद ही हर तरह के हथियार बनाने में सक्षम है.

Why Israel Military Is Most Advanced (Pic: idfblog.com)

नायाब हथियारों का जखीरा

इज़राइल सेना बहुत ही खतरनाक मानी जाती है. असल में इसके पास कुशल सैनिकों की फौज तो मौजूद ही है. साथ ही इसके पास नायाब हथियारों का एक बड़ा जखीरा मौजूद है. इन हथियारों का खौफ़ इसी से समक्षा जा सकता है कि इनके नाम लेने भर से दुश्मन कांप उठता है. पेश है कुछ इजराइली हथियारों (Link In English) की एक बानगी:

  • एंटी मिसाइल: इसकी खोज के बाद इज़राइल ने पूरी दुनिया भर में हाहाकार मचा दिया था. आज के समय में हर देश मिसाइल बनाने में जुटा हुआ है, ताकि बैठे-बैठे दुश्मन का सफाया किया जा सके. चूंकि इज़राइल चारों तरफ से दुश्मनों से घिरा हुआ है, इसलिए उसको भी दुश्मन देशों की मिसाइल का खतरा था. उसे इस बात का डर था कि कभी भी दुश्मन उसे अपना शिकार बना सकता है. उसे समझ नहीं आ रहा था कि वह क्या करें, तभी उसने विचार किया कि क्यों न कोई एंटी मिसाइल को बनाया जाये. इस सोच के साथ वह आगे बढ़ा और मिसाइल को हवा में ही नष्ट कर देने एंटी मिसाइल को बनाकर इतिहास रच दिया.
  • मेरकावा टैंक: इस टैंक को न सिर्फ इज़राइल बल्कि दुनिया के सबसे घातक और बेहतरीन टैंक में से एक माना जाता है. कहते हैं कि इसमें बाकी टैंकों से काफी अलग टेक्नोलॉजी का प्रयोग किया गया है. कोई  दूसरा देश ऐसा टैंक न बना पाये, इसलिए इजराइल ने इसकी टेक्नोलॉजी को गुप्त रखा हुआ है. यह टैंक थल सेना को बहुत ताकत देता है. कहते हैं कि जब यह मैदान पर उतरता है, तो दुश्मन भागने के लिए मजबूर हो जाता है.
  • जासूसी सैटेलाइट: इज़राइल उन कम देशों में से एक है, जो ऐसे जासूसी सैटेलाइट रखते हैं. इस सैटेलाइट को इज़राइल ने खुद ही बनाया है. यह सैटेलाइट बाकी देशों से छोटी है, पर कमजोर नहीं है. आसमान से इसकी मदद से इज़राइली सेना अपने दुश्मन को देख सकती है. फिर चाहे मौसम साफ़ हो या न हो. मीलों दूर बैठे दुश्मन पर भी इसका कैमरा नज़र रखता है.
  • ड्रोन: ड्रोन बनाना और इसे लड़ाई में इस्तेमाल करना इजराइल ने ही शुरू किया था. इज़राइल की इस क्रांतिकारी सोच ने जंग का तरीका ही बदल दिया. उस दिन के बाद से हर देश अपनी सुरक्षा को बढ़ाने के लिए ड्रोन का सहारा लेने लगा. यह छोटा सा प्लास्टिक का प्लेन कब आपके ऊपर से गुज़र जाएगा, किसी को पता भी नहीं चलता. शांति के साथ अपना काम करके आने में यह माहिर है.

Why Israel Military Is Most Advanced (Pic: nationalinterest.org)

रोबोट सिपाही बनाकर बनाई नई लीक

ज़माना डिजिटल हो चुका है. रोबोट कभी एक मशीन हुआ करता था, लेकिन आज उसका स्वरुप बदल चुका है. पूरी दुनिया अपने-अपने तरीके से रोबोट का इस्तेमाल कर रही है. इस कड़ी में इज़राइल ने रोबोट (Link In English) को दूसरे कामों से हटा कर सेना का एक हिस्सा बना दिया है. सेना में वह एक असली सिपाही की तरह काम करता है. इज़राइल ने एक ऐसा रोबोट बनाया है, जिसमें कई सारे कैमरे और बंदूक लगी हुई हैं.

यह देखने में जरुर छोटा सा रोबोट है, मगर पल भल में किसी की भी जान लेने में माहिर है. दूर बैठे हुए इज़राइली सिपाही अपने दुश्मन की सारी खबर इसके जरिए ले सकते हैं. इतना ही नहीं इसमें एक उपकरण ऐसा भी लगा है, जिससे यह सामने खड़े दुश्मन को थोड़ी देर के लिए अंधा कर सकता है.

Why Israel Military Is Most Advanced (Pic: defensenews.com)

मोसाद के बारे में तो क्या कहने…

मोसाद इज़राइल की ख़ुफ़िया एजेंसी है. यह दुनिया भर से जानकारी इक्कठा करती है. साथ ही सेना को भी नियंत्रण में रखती है. यह हरदम सेना के साथ मिलकर काम करती है. कई बार इसने सेना के साथ मिलकर ऐसे कामों को अंजाम दिया है, जो बहुत ही खतरनाक थे. इसे एक तरह से सेना की रीढ़ की हड्डी भी कहा जाता है. यह और सेना एकजुट होकर देश की ताकत को बढ़ाते है. मोसाद को भी सेना की ही तरह सारी लेटेस्ट टेक्नोलॉजी से लैश रखा जाता है.

Why Israel Military Is Most Advanced (Representative Pic: endem…)

इंटरनेट में प्रभावी सक्रियता

आतंकवाद के तरीके अब बदल चुके हैं. कभी आतंकवाद सिर्फ बंदूकों से होता था, पर आज ऐसा नहीं रहा. दिन-ब-दिन इंटरनेट का प्रभाव बढ़ता जा रहा है. आज वह लोगोंं की दिनचर्या में अपनी जगह बना चुका है. इसी का फायदा उठाकर आतंकी संगठन अपने नापाक इरादों को पूरा करने में इसको अपना हथियार बना लेते हैं. ऐसे में इस मंच पर इजराइल की सक्रियता उसे आतंकवाद पर लगाम लगाने में मददगार बनता है. हालांकि, बावजूद इसके कई बार आतंकवादी अपने मिशन में कामयाब हो जाते हैं.

‘वॉन क्राई’ वायरस इसका हालिया उदाहरण है. इसे आतंकवाद के ही एक स्वरुप के रुप में देखा गया था. इस वायरस ने दुनिया भर में कई लोगों, अस्पताल व कई सरकारी दफ्तरों के कंप्यूटर हैक कर लिए थे. ऐसी घटनाओं ने इज़राइल को चौकन्ना होने पर मजबूर कर दिया है. जमीन के साथ-साथ अब इज़राइल इंटरनेट (Link In English) पर भी खुद को ताकतवर बना रहा है. इज़राइल ने अपने इंटरनेट सुरक्षा विभाग में हैकरों को नौकरी दी है. इन हैकरों का काम है दुनिया के बाकी हैकरों को इज़राइल पर इंटरनेट हमला करने से रोकना है.

इस काम में भी इजराइल इतनी तेजी से उन्नति कर रहा है कि आज दुनिया के सबसे बेहतर ‘साइबर सिक्यूरिटी’ में उसका नाम आता है. इतना ही नहीं, जिन हैकर के साथ यह काम करते हैं उनके साथ मिलकर इन्होंने एक हथियार भी बनाया हुआ है. यह हथियार बुरे हैकर को रोकता है. इज़राइल सेना ने ‘साइबर स्पाई’ भी रखे हैं. साइबर स्पाई मतलब इंटरनेट के जासूस जो इंटरनेट पर बैठे-बैठे सारी गुप्त जानकारी हासिल करते हैं और सेना को सौंपते हैं.

Why Israel Military Is Most Advanced (Representative Pic: csuniv.edu)

इज़राइल ने जिन हालातों में अपनी शुरुआत की थी, आज वह उससे बहुत आगे बढ़ चुका है. निश्चित रुप से यह सफर आसान नहीं था. यहां तक पहुंचने के लिए उसे कई सारी विफलताओं का सामना करना पड़ा होगा. बावजूद इसके अपनी अटूट इच्छाशक्ति के बलबूते पर वह अपनी राह पर चलते रहे. परिणाम दुनिया के सामने है. हथियारों के मामले में सारी दुनिया उसका लोहा मानती है.

Web Title: Why Israel Military Is Most Advanced, Hindi Article

Keywords: Israel, Military, Power, Weapons, Arms, Assault Rifle, Missile, Anti Missile, Tank, Guns, Drones, Army, Air Force, Air Craft, Mossad, America, China, India, Killing, Terrorist, Cyber Security, Hacker, Why Israel Military Is Most Advanced, Hindi Article

Featured image credit / Facebook open graph: telegraph.co